नगालैंड चुनाव 2018: CEC ओ पी रावत ने की चुनावी तैयारियों की समीक्षा

सीईसी ओ पी रावत ने 27 फरवरी को होने वाले नगालैंड विधानसभा चुनाव की तैयारियों की समीक्षा के लिए एक शीर्ष स्तर की टीम का नेतृत्व किया.

भाषा
Updated: February 15, 2018, 5:38 PM IST
नगालैंड चुनाव 2018: CEC ओ पी रावत ने की चुनावी तैयारियों की समीक्षा
सांकेतिक तस्वीर
भाषा
Updated: February 15, 2018, 5:38 PM IST
मुख्य चुनाव आयुक्त (सीईसी) ओ पी रावत ने नगालैंड में चुनाव तैयारियों की गुरुवार को समीक्षा की. इसके अलावा उन्होंने आगामी विधानसभा चुनाव ‘भयरहित और निष्पक्ष’ ढंग से संपन्न कराना सुनिश्चित करने के लिए राज्य और जिला स्तर के अधिकारियों को निर्देश दिये.

रावत ने 27 फरवरी को होने वाले विधानसभा चुनाव की तैयारियों की समीक्षा के लिए एक शीर्ष स्तर की टीम का नेतृत्व किया. सीईसी ने कहा कि पिछले साल नवम्बर में उनके पहले दौरे के बाद से चीजों में सुधार हुआ है. हालांकि चुनाव से पहले उग्रवाद मुद्दे का समाधान निकाले जाने के नगा आदिवासी संगठनों के आह्वान के कारण कुछ बाधाएं आयीं थी.

रावत ने पत्रकारों से कहा कि लेकिन सभी जिला चुनाव अधिकारियों के साथ चुनाव की तैयारियों की समीक्षा के बाद आयोग संतुष्ट है कि काफी प्रगति हुई है. समीक्षा बैठक में रावत के साथ दो चुनाव आयुक्तों सुनील अरोड़ा और अशोक लवासा, निर्वाचन उपायुक्त सुदीप जैन, दो महानिदेशकों दिलीप शर्मा एवं धीरेन्द्र ओझा और प्रधान सचिव नरेन्द्र एन बुटोलिया थे.

60 सीटों में से 59 सीटों पर मतदान होगा क्योंकि एनडीपीपी प्रमुख नेफ्यू रियो को 11-उत्तरी अंगामी-द्वितीय विधानसभा सीट से निर्विरोध निर्वाचित घोषित किया गया है. रावत ने बताया कि अपनी यात्रा के दौरान उन्होंने स्वतंत्र एवं शांतिपूर्ण ढंग से चुनाव संपन्न कराने के लिए मुद्दों और चिंताओं को समझने के लिए विभिन्न राजनीतिक पार्टियों के प्रतिनिधियों से मुलाकात की.

उन्होंने बताया कि राजनीतिक दलों ने राज्य में चुनाव कराये जाने के आयोग के निर्णय का स्वागत किया और चुनाव तैयारियों पर संतोष व्यक्त किया. कानून एवं व्यवस्था की स्थिति पर उन्होंने बताया कि चुनाव निष्पक्ष ढंग से संपन्न कराने के लिए राज्य प्रशासन और पुलिस को सुरक्षा के व्यापक प्रबंध करने के लिए कहा गया हैं.

उन्होंने बताया कि कुल 11,91,513 मतदाताओं में से 6,01,707 (50.50 प्रतिशत) पुरूष मतदाता हैं और 5,89,806 (49.50 प्रतिशत) महिलाएं है.

ये भी पढ़ें-
Loading...
नगालैंड: पा‍र्टियों ने किया विधानसभा चुनावों का बहिष्‍कार, रखी ये मांग
राष्ट्रपति का सुझाव लोकसभा-विधानसभा चुनाव एक साथ हो


 
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर