नगालैंड में अब नहीं बिकेगा कुत्ते का मांस, राज्य सरकार ने लगाया प्रतिबंध

नगालैंड में अब नहीं बिकेगा कुत्ते का मांस, राज्य सरकार ने लगाया प्रतिबंध
नगालैंड सरकार ने कुत्‍तों की बिक्री पर लगाया प्रतिबंध.

Nagaland Government ban dog meat: नगालैंड के मुख्‍य सचिव कहा क‍ि राज्‍य कैबिनेट द्वारा लिए गए इस फैसले की सराहना करनी चाहिए. कानूनी रूप से अब नागालैंड में कुत्‍ते को मारना और उसका मांस खाना अवैध है.

  • Share this:
कोहिमा. नगालैंड 3167629सरकार (Nagaland Government) ने शुक्रवार को कुत्‍तों की खरीद-फरोख्‍त और आयात पर प्रतिबंध लगा दिया है. राज्‍य के मुख्‍य सचिव तेमजेन तॉय (Temjen Toy) ने कहा कि डॉग मीट (कच्‍चा या पके हुए) की बिक्री पर भी प्रतिबंध लगा दिया गया है. मुख्‍य सचिव ने कहा क‍ि राज्‍य कैबिनेट द्वारा लिए गए इस फैसले की सराहना करनी चाहिए. कानूनी रूप से अब नगालैंड में कुत्‍ते को मारना और उसका मांस खाना अवैध है.

बता दें कि पूर्वोत्‍तर के राज्‍यों में कुत्‍ते का मीट खाया जाता है. यहां के लोग कुत्‍ते के मीट को उच्‍च पोषण मानते हैं. वैसे तो कानूनी रूप से कुत्‍ते की हत्‍या और उसका मांस खाना अवैध है, लेकिन नगालैंड समेत पूर्वोत्‍तर के राज्‍यों में लोग कुत्‍ते का मांस खाते हैं. अभी हाल ही में कुत्‍ते से बर्बारता का एक वीडियो भी वायरल हुआ था. इस वीडियो के वायरल होने के बाद सोशल मीडिया पर काफी बवाल मचा था. प्रतिबंध लगाने की एक वजह ये भी बताई जा रही है जबकि कुछ लोग इसे कोरोना के बढ़ते मामलों से जोड़कर भी देख रहे हैं. खैर जो भी हो, लेकिन मुख्‍यमंत्री नेफ्यू रियो के इस आदेश की हर जगह प्रशंसा हो रही है.


नगालैंड में कोरोना वायरस के 34 नए मरीज, कुल मामले 535 हुए
नगालैंड में कोरोना वायरस के 34 नए मरीजों की पुष्टि हुई है. इसके बाद पूर्वोत्तर के इस राज्य में कोविड-19 के मामले गुरुवार को बढ़कर 535 हो गए. अधिकारियों ने बताया कि 535 में से 197 मरीज़ बीमारी से ठीक हो गए हैं जबकि 338 संक्रमितों का इलाज चल रहा है. स्वास्थ्य मंत्री एस पी फोम ने बताया कि गुरुवार को 226 नमूनों की जांच की गई थी जिनमें से 34 लोग कोरोना वायरस से संक्रमित पाए गए. उन्होंने बताया कि नए मामलों में 32 पेरेन पृथक केंद्र के हैं जबकि कोहिमा और दीमापुर पृथक केंद्रों का एक-एक मामला है.



स्वास्थ्य अधिकारियों ने बताया कि 15 और मरीज संक्रमण से ठीक हो गए हैं और उनकी जांच रिपोर्ट नेगेटिव आई है. संक्रमण से उबर चुके लोगों की संख्या 197 हो गई है. इस बीच, नागालैंड में विपक्ष के नेता टीआर जिलिआंग ने पेरेन जिले में कोरोना वायरस के बढ़ते मामलों की ओर मुख्यमंत्री नेफ्यू रियो का ध्यान दिलाने की कोशिश की. रियो को लिखे पत्र में जिलिआंग ने कहा कि पेरेन जिले में 146 सक्रिय मामले हैं और यह राज्य का सबसे बुरी तरह से प्रभावित जिला बन गया है. नेता प्रतिपक्ष ने कहा कि हरियाणा से लौटे 96 लोगों को 14 दिन का पृथकवास पूरा किए बिना या कोविड की जांच किए बिना ही उनके गांव भेज दिया गया जिसके बाद पेरेन जिले में बड़ी संख्या में कोरोना वायरस के मामले सामने आए.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading