नगालैंड सरकार ने अन्य राज्यों में फंसे लोगों से कहा- 10 हजार रुपये देंगे, जहां हैं वहीं रहिए

नगालैंड सरकार ने अन्य राज्यों में फंसे लोगों से कहा- 10 हजार रुपये देंगे, जहां हैं वहीं रहिए
नागालैंड सररकार अन्य राज्यों में फंसे हुए लोगों को फिलहाल वापस नहीं आने पर 10,000 रुपये देगी (प्रतीकात्मक तस्वीर)

नगालैंड (Nagaland) के मुख्य सचिव तेमजेन तॉय ने कहा, ‘सरकार ने बाहर रह रहे राज्य के उन नागरिकों को 10,000 रुपये देने का फैसला किया है, जो अभी जहां हैं, वहीं रहने का विकल्प चुनते हैं.’

  • Share this:
कोहिमा. नगालैंड (Nagaland) में अपर्याप्त क्वारंटाइन सेंटर सुविधाएं और एक भी कोविड-19 (Covid-19) जांच केंद्र न होने जैसी समस्याओं से जूझ रही राज्य सरकार ने यह फैसला किया है कि अन्य राज्यों में फंसे प्रवासी अगर इस समय वापस नहीं आते हैं, तो उन्हें 10,000 रुपये की सहायता राशि दी जाएगी. एक वरिष्ठ अधिकारी ने बुधवार को यह जानकारी दी.

राज्य के मुख्य सचिव तेमजेन तॉय ने कहा कि देशव्यापी बंद के दौरान देश के विभिन्न हिस्सों से फंसे हुए लोगों को वापस लाने वाले राज्यों में कोविड-19 मामलों में वृद्धि देखी गई है. दूसरे राज्यों में फंसे हुए नागालैंड के 18,000 से अधिक लोगों ने अपने घर वापस लौटने के लिए राज्य सरकार के पोर्टल पर अपना पंजीकरण कराया है.

सरकार ने कहा- जहां हैं अभी वहीं रहें, 10 हजार देंगे



तॉय ने कहा, ‘सरकार ने बाहर रह रहे राज्य के उन नागरिकों को 10,000 रुपये देने का फैसला किया है, जो अभी जहां हैं, वहीं रहने का विकल्प चुनते हैं.’ मुख्य सचिव ने मंगलवार को कहा था कि राज्य सरकार ने अपर्याप्त पृथक-वास सुविधाओं और अन्य संसाधनों की कमी के कारण प्रवासियों की चरणबद्ध वापसी के लिए विस्तृत योजना बनाई थी, लेकिन केंद्र सरकार ने फंसे हुए लोगों को उनके मूल स्थानों तक पहुंचाने के लिए विशेष ट्रेन सेवाएं शुरू कर दी, जिससे योजना गड़बड़ा गई.
कोविड-19 जांच प्रयोगशाला के लिए ICMR की मंजूरी का इंतजार

उन्होंने कहा कि परिस्थितियों को देखते हुए, राज्य सरकार ने फंसे हुए बुजुर्गों और इलाज के लिए राज्य से बाहर गए रोगियों की वापसी को प्राथमिकता देने का फैसला किया है. राज्य के स्वास्थ्य विभाग ने मंगलवार को कहा कि नगा अस्पताल प्राधिकरण ने कोहिमा में राज्य की पहली कोविड-19 जांच प्रयोगशाला स्थापित करने के लिए प्रोटोकॉल पूरा कर लिया गया है और इसके लिए आईसीएमआर की मंजूरी का इंतजार है. नगालैंड में अब तक कोविड-19 का कोई भी मामला सामने नहीं आया है और नमूने जांच के लिए असम और मणिपुर के जांच केंद्रों में भेजे गए हैं.

ये भी पढ़ें- 

PM मोदी के संबोधन में मजदूर-गरीब को निरर्थक निबंध सुनने को मिला: अखिलेश यादव

चार दशक में पहली बार भारत में कम हुआ है कार्बन उत्सर्जन
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading