होम /न्यूज /राष्ट्र /नागालैंड किलिंग के दोषियों को मिलेगी सजा? आर्मी चीफ नरवणे बोले- जांच जारी, उचित कार्रवाई करेंगे

नागालैंड किलिंग के दोषियों को मिलेगी सजा? आर्मी चीफ नरवणे बोले- जांच जारी, उचित कार्रवाई करेंगे

नागालैंड में सैन्य बल. (File pic)

नागालैंड में सैन्य बल. (File pic)

Army Chief M M Naravane says on Nagaland Killing: नागालैंड में सैन्य कार्रवाई के दौरान 14 निर्दोष नागरिकों की हत्या पर ...अधिक पढ़ें

दिल्ली: नागालैंड में सैन्य ऑपरेशन (Nagaland Military Operation) के दौरान हुई 14 निर्दोष नागरिकों की हत्या के मुद्दे पर सेना प्रमुख जरनल एमएम नरवणे (Army Chief MM Naravane) ने कठोर कार्रवाई की जाने की बात कही है. उन्होंने कहा कि इस ऑपरेशन में शामिल सैनिकों के खिलाफ उचित कार्रवाई की जाएगी. जनरल नरवणे ने अपनी वार्षिक प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान बताया कि, इस मामले में सेना की आंतरिक जांच जारी है और जांच के नतीजों के आधार पर उचित कार्रवाई की जाएगी.

सेना प्रमुख नरवणे ने नागालैंड के मोन जिले में पिछले महीने हुई इस घटना पर खेद जताया. जिसमें 14 निर्दोष नागरिकों के अलावा सेना के एक जवान की भी मौत हो गई थी. उन्होंने कहा कि इस मामले में मेजर जनरल के नेतृत्व में आंतरिक जांच चल रही है.

इस जांच दल ने 29 दिसंबर को ओटिंग गांव का दौरा किया, जहां 14 से 12 लोग मारे गए थे. इन्वेस्टिगेशन टीम ने घात लगाकर हमला करने वाली जगह का भी निरीक्षण किया. हालांकि जिले की सिविल सोसाइटी ग्रुप्स ने इस जांच की विश्वसनियता पर सवाल उठाए हैं. कोनयाक यूनियन ने कहा कि प्रत्यक्षदर्शियों से पूछे जाने वाले कुछ सवालों से वे नाखुश हैं.

यह भी पढ़ें: स्वामी के बाद भाजपा को एक और बड़ा झटका, अब मंत्री दारा सिंह चौहान ने योगी कैबिनेट से दिया इस्तीफा

नागरिकों की हत्या की इस घटना के बाद सेना और पूर्वोत्तर में लागू आर्म्ड फोर्सेज स्पेशल पॉवर एक्ट के खिलाफ तीखी प्रतिक्रिया देखने को मिल रही है. इस मामले में नागालैंड पुलिस ने सेना के 21 पैरा एसएफ के जवानों के खिलाफ एफआईआर दर्ज की थी. जिसमें यह कहा गया है जवानों ने कथित तौर पर इरादतन निर्दोष नागरिकों की हत्या की.

2 सप्ताह पहले सेना ने इस घटना में शामिल जवानों के बयान लेने के लिए पुलिस को अनुमति प्रदान की. इस घटना के बाद सेना सशस्त्र विशेषाधिकार कानून को लेकर पूर्वोत्तर में प्रदर्शन तेज हो गया है. नागालैंड के सीएम नेफियू रियो ने मेघालय के मुख्यमंत्री कोनारड संगाम के साथ मिलकर इस कानून को रद्द करने की मांग की है.

Tags: General MM Naravane, Indian army, Nagaland

टॉप स्टोरीज
अधिक पढ़ें