अपना शहर चुनें

States

नगरोटा एनकाउंटर पर PM मोदी बोले- पाक के खतरनाक मंसूबों को सुरक्षाबलों का करारा जवाब

पीएम मोदी ने की सुरक्षाबलों की तारीफ, कहा- एक बार फिर बड़ी तबाही की कोशिशों को असफल किया (फाइल फोटो)
पीएम मोदी ने की सुरक्षाबलों की तारीफ, कहा- एक बार फिर बड़ी तबाही की कोशिशों को असफल किया (फाइल फोटो)

जम्मू-श्रीनगर हाईवे पर नगरोटा (Nagrota) पर सुरक्षाबलों ने ट्रक में छिपकर जा रहे चार आतंकियों को मार गिराया है. सूत्र बताते हैं कि जैश-ए-मोहम्मद (jaish E Mohammad) से संबंध रखने वाले ये आतंकी 26/11 की बरसी पर बड़ी साजिश रच रहे थे.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 20, 2020, 5:46 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. जम्मू-कश्मीर (Jammu Kashmir) के नगरोटा (Nagrota) में हुई सुरक्षाबलों और आतंकवादियों के बीच मुठभेड़ में भारत के हाथों सफलता लगी है. सुरक्षाबलों की इस जीत पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ने भी बधाई दी है. उन्होंने ट्वीट किया कि एक बार फिर हमारे जवानों ने आतंकियों की तबाही की कोशिश को नाकाम कर दिया है. इतना ही नहीं उन्होंने सुरक्षा बलों के जवानों की बहादुरी की भी जमकर तारीफ की.

पीएम मोदी ने जवानों की बहादुरी की तारीफ करते हुए ट्वीट किया है. उन्होंने लिखा कि पाकिस्तान में मौजूद आतंकवादी संगठन जैश-ए-मोहम्मद के 4 आतंकवादियों को ढेर करना और बड़ी मात्रा में हथियार और विस्फोटकों की मौजूदगी यह बताती है कि बड़ी तबाही की कोशिशों को एक बार फिर से असफल कर दिया है.

एक अन्य ट्वीट में पीएम मोदी ने लिखा, 'हमारे सुरक्षाबलों ने एक बार फिर जबरदस्त बहादुरी दिखाई है. उन्होंने सतर्कता के कारण जम्मू और कश्मीर में होने वाले जमीनी स्तर की लोकतांत्रिक कोशिशों को हराया है.' पीएम मोदी ने मामले को लेकर एक समीक्षा मीटिंग बुलाई थी, जिसमें गृहमंत्री अमित शाह, राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल, विदेश सचिव हर्षवर्धन श्रृंगला शामिल हुए थे.



ये भी पढ़ें: 26/11 की बरसी पर बड़े हमले की फिराक में थे नगरोटा में ढेर आतंकी, PM मोदी ने की हाईलेवल मीटिंग
जम्मू-कश्मीर राजमार्ग पर मुठभेड़ में जैश-ए-मोहम्मद के चार आतंकवादी ढेर
जम्मू-श्रीनगर राजमार्ग पर गुरुवार को हुई मुठभेड़ में जैश-ए-मोहम्मद के चार संदिग्ध आतंकवादी मारे गए जबकि दो पुलिसकर्मी घायल हो गए. पुलिस के शीर्ष अधिकारियों ने यह जानकारी दी. अधिकारियों ने बताया कि जम्मू शहर के बाहरी इलाके में, हाल ही में घुसपैठ करने वाले आतंकवादियों को ला रहे एक ट्रक को रोका गया तभी मुठभेड़ शुरू हो गई. जम्मू के पुलिस महानिरीक्षक मुकेश सिंह ने कहा कि आतंकवादी 'बड़ी साजिश' को अंजाम देने के इरादे से आए थे, जिसे नाकाम कर दिया गया है. सुरक्षा बलों की इस सफलता पर प्रतिक्रिया देते हुए उपराज्यपाल मनोज सिन्हा ने कहा, 'कोई भी बाहरी ताकत शांति और प्रगति के हमारे रास्ते से हमें नहीं भटका सकती.'

ये भी पढ़ें: अब चीन से नहीं आयात होंगे खराब क्वॉलिटी के इलेक्ट्रॉनिक आइटम्स, सरकार ने उठाया ये कदम

कश्मीर के पुलिस महानिरीक्षक विजय कुमार ने श्रीनगर में कहा कि चार आतंकवादी इस महीने के अंत में होने वाले जिला विकास परिषद (डीडीसी) चुनाव की प्रक्रिया को बाधित करना चाहते थे क्योंकि पाकिस्तान राजनीतिक प्रक्रिया में बाधाएं डालने का प्रयास कर रहा है. वहीं, जम्मू के पुलिस महानिरीक्षक मुकेश सिंह ने जम्मू में पत्रकारों को विस्तृत जानकारी देते हुए कहा कि डीसीसी चुनाव के कार्यक्रम की घोषणा होने के बाद से पुलिस को जम्मू-कश्मीर में आतंकवादियों द्वारा संभावित घुसपैठ किये जाने की सूचनाएं मिल रही हैं. सिंह ने कहा, 'हमने अपनी सभी टीमों को चौकियों पर तैनात किया था. खुफिया जानकारी मिली थी कि आतंकवादी भारी मात्रा में हथियार और विस्फोटक के साथ घुसपैठ कर सकते हैं.'

नगरोटा में आतंकियों ने सुरक्षाबलों पर ग्रेनेड भी फेंके थे
पुलिस अधिकारी ने कहा कि नगरोटा के बान इलाके में टोल प्लाजा के पास गुरुवार सुबह पांच बजे एक ट्रक को जांच के लिये रोका गया, लेकिन ट्रक चालक वाहन को छोड़कर भाग गया. सीआरपीएफ और पुलिसकर्मियों ने जैसे ही वाहन की तलाशी लेनी शुरू की, ट्रक में छिपे आतंकवादियों ने गोलीबारी शुरू कर दी. सिंह के अनुसार आतंकवादियों से आत्मसमर्पण के लिये कहा गया, लेकिन उन्होंने ऐसा करने से इनकार कर दिया, जिसके बाद मुठभेड़ शुरू हो गई. उन्होंने कहा कि अन्य सुरक्षा बल भी इसमें शामिल हो गए, जिसके बाद भीषण गोलीबारी हुई. इस दौरान आतंकवादियों ने ग्रेनेड फेंके और गोलीबारी की.

पुलिस अधिकारी ने कहा कि तीन घंटे चली मुठभेड़ में चार आतंकवादी मारे गए जबकि दो पुलिसकर्मी घायल हो गए. उन्होंने कहा कि चावल के कट्टों से भरे ट्रक में मुठभेड़ के दौरान आग लग गई. ट्रक के अंदर छिपे आतंकवादियों के शव बरामद कर लिये गए हैं. अधिकारियों ने कहा कि घायल पुलिसकर्मियों कुलदीप राज और मोहम्मद इस्हाक मलिक को जम्मू में सरकारी मेडिकल कॉलेज अस्पतालमें भर्ती कराया गया है. वे खतरे से बाहर हैं. सिंह ने कहा कि मारे गए आतंकवादियों के पास से 11 एके राइफल, तीन पिस्तौल, 24 मैगजीन, 29 ग्रेनेड, छह यूबीजीएल ग्रेनेड बरामद हुए हैं. इसके अलावा उनके पास से भारी मात्रा में दवाएं, विस्फोटक सामग्री, तारों के बंडल, इलेक्ट्रोनिक सर्किट और थैले बरामद हुए हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज