अपना शहर चुनें

States

महाराष्ट्र में बदले जाएंगे जाति आधारित कॉलोनियों के नाम, आंदोलनों से जुडे़ केस होंगे वापस

महाराष्ट्र सरकार ने बुधवार को बड़े फैसले लिए हैं. राज्य के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे की फाइल फोटो.
महाराष्ट्र सरकार ने बुधवार को बड़े फैसले लिए हैं. राज्य के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे की फाइल फोटो.

बुधवार को महाराष्ट्र सरकार (Maharashtra Government) ने राज्य में मौजूद रिहाइशी कॉलोनियों (Residential Colonies) के नाम बदलने का फैसला लिया है. सरकार ने कहा है कि ऐसी सभी कॉलोनियों के नामों को बदला जाएगा, जो जाति के आधार पर रखे गए हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: December 2, 2020, 8:51 PM IST
  • Share this:
मुंबई. महाराष्ट्र सरकार ने बुधवार को कई बड़े फैसले लिए हैं. अब राज्य सरकार राज्य में ऐसे रिहाइशी कॉलोनियों के नामों को बदलने जा रही है, जो जाति आधारित हैं. फिलहाल महाराष्ट्र कैबिनेट ने इसे लेकर प्रस्ताव पास कर दिया है. इसके अलावा राज्य में हुए प्रदर्शनों और आंदोलनों को लेकर भी सरकार ने बड़ा आदेश दिया है. सरकार ने राजनीतिक और सामाजिक धरनों और आंदलनों को लेकर दर्ज हुए अदालती मामले वापस लेने जा रही है.

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) के मुंबई दौरे से महाराष्ट्र की राजनीति गरमाई हुई है. इसी बीच आज बुधवार को महाराष्ट्र सरकार ने राज्य में मौजूद रिहाइशी कॉलोनियों के नाम बदलने का फैसला लिया है. सरकार ने कहा है कि ऐसी सभी कॉलोनियों के नामों को बदला जाएगा, जो जाति के आधार पर रखे गए हैं. इसके अलावा दिसंबर 2019 तक हुए तमाम राजनीतिक और सामाजिक आंदलनों से संबंधित अदालती मामलों को वापस लेने का फैसला लिया है.

फडनवीस सरकार की योजना की होगी जांच
बीते मंगलवार को महाराष्ट्र सरकार ने देवेंद्र फडणवीस (Devendra Fadnavis) की अगुवाई वाली महाराष्ट्र सरकार में शुरू हुई जलयुक्त शिवर योजना (Jalyukt Shivar Scheme) की जांच के आदेश दिए हैं. इसके लिए एक कमेटी भी गठित की गई है. इस कमेटी की अगुवाई पूर्व अतिरिक्त मुख्य सचिव विजय कुमार करेंगे. कुमार से 6 महीनों के भीतर जांच रिपोर्ट दाखिल करने के आदेश दिए हैं. गौरतलब है कि जलयुक्त शिवर योजना एक महत्वकांक्षी जल संरक्षण योजना है. इस योजना को भाजपा सरकार की प्रमुख योजना माना जाता था.
यह भी पढ़ें: बंबई HC का महाराष्ट्र सरकार से सवाल, क्या आपत्तिजनक ट्वीट करने वाले हर आदमी के खिलाफ एक्शन होगा? 



नागपुर के बजाए मुंबई में होगा शीतकालीन सत्र
महाराष्ट्र सरकार ने बुधवार एक और बड़ी घोषणा की है. सरकार ने चौथे विधानसभा सत्र की जगह को बदलने का फैसला किया है. सरकार का कहना है कि नागपुर में होने जा रहे महाराष्ट्र विधानसभा के चौथे यानि शीतकालीन सत्र का आयोजन मुंबई में होगा.

महाराष्ट्र के सियासी गलियारों में योगी का विरोध
योगी आदित्यनाथ लगातार फिल्मी हस्तियों से बात कर रहे हैं. फिल्म सिटी को लेकर उठे विवाद में सीएम उद्धव ठाकरे (Uddhav Thackeray), शिवसेना सांसद संजय राउत (Sanjay Raut), मनसे प्रमुख राज ठाकरे (Raj Thackeray) जैसे महाराष्ट्र राजनीति के कई बड़े नामों ने प्रतिक्रिया दी है. हालांकि, योगी ने एक प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान फिल्म सिटी (Film city) ले जाने के मुद्दे को खारिज कर दिया है. उन्होंने कहा 'हम यहां से कुछ भी ले जाने के लिए नहीं आए हैं. हम नई फिल्म सिटी बना रहे हैं, लोग इसे लेकर चिंतित क्यों हैं?' उन्होंने कहा 'हम लोगों को विश्व स्तरीय संरचना के तौर पर लोगों को कुछ नया देना चाहते हैं.'
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज