अपना शहर चुनें

States

22 साल बाद मिला न्याय, जानिए कैसे नारायण साईं ने सालों तक मामले को दबाए रखा

रायण साईं को उम्रकैद की सजा सुनाई गई है.
रायण साईं को उम्रकैद की सजा सुनाई गई है.

गुजरात के सूरत स्थित आश्रम में दो बहनों से दुष्कर्म के मामले में सेशंस कोर्ट ने मंगलवार को आसाराम के बेटे नारायण साईं को उम्रकैद की सजा सुनाई है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 30, 2019, 7:21 PM IST
  • Share this:
गुजरात के सूरत स्थित आश्रम में दो बहनों से दुष्कर्म के मामले में सेशंस कोर्ट ने मंगलवार को आसाराम के बेटे नारायण साईं को उम्रकैद की सजा सुनाई है. नारायण साईं साल 1997 से महिला के साथ यौन उत्पीड़न कर रहा था. इस मामले की शिकायत भले ही साल 2013 में दर्ज कराई गई हो लेकिन महिला को इंसाफ मिलने में 22 साल लग गए. ये हैं इस मामले की बड़ी बातें...

> अक्टूबर 2013 में नारायण साईं पर सूरत की रहने वाली महिला ने बलात्कार का अरोप लगाया. पीड़िता नारायण साईं के आश्रम की साधिका थी और उसने नारायण साईं पर आश्रम में ही रेप का आरोप लगाया है. पीड़िता का ये भी आरोप है कि नारायण साईं कि ओर से उसे और उसके पिता को जान से मारने की धमकियां दी जा रही थीं.

> पीड़िता ने तमाम धमकियों के बावजूद रेप की शिकायत वापस लेने से इंकार कर दिया. वो और उसके पिता न्याय के लिए लड़ते रहे और आखिरकार दिसंबर, 2013 में नारायण साई को हरियाणा के कुरुक्षेत्र में पीपली इलाके से गिरफ्तार किया गया था.



> अक्‍टूबर, 2013 में नारायाण साईं पर लगे बलात्‍कार के मामले की जांच कर रही सूरत की डीपीसी शोभा भूतड़ा को जान से मारने की धमकी मिली. नारायण साईं के एक समर्थक ने फोन करके डीसीपी शोभा को जान से मारने की धमकी दी. उसने कहा था कि अगर नारायण साईं के खिलाफ कोई कार्रवाई की तो गोली मारकर उनकी हत्‍या कर दी जाएगी.
> अक्‍टूबर, 2013 में पीड़िता के पिता ने नारायण साईं के खिलाफ शिकायज दर्ज कराई थी. पीड़ित बहनों में से छोटी ने शिकायत में कहा था कि 2002 से 2005 के दौरान नारायण साईं ने कई बार उसका यौन उत्पीड़न किया. जबकि बड़ी बहन ने आसाराम के खिलाफ़ शिकायत दर्ज कराई थी.

> पीड़िता की शिकायत के अनुसार, 1997 से 2006 तक अहमदाबाद के आश्रम में आसाराम ने बार-बार उसका यौन उत्पीड़न किया था. ये मामला नारायण साईं पर बहुत भारी पड़ा. बाद में जो मेडिकल साक्ष्य पेश हुए, उसके आधार पर साबित हो गया कि नारायण साईं ने संबंध स्थापित किए थे.

> मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, नारायण साईं के खिलाफ आश्रम की एक युवती ने 6 अक्‍टूबर 2013 को बलात्‍कार का मामला दर्ज कराया था. इसके बाद नारायण साईं ने इस मामले को दबाने के लिए थाना प्रमुख को 13 करोड़ रुपये की रिश्‍वत भी दी थी. बाद में उस पुलिस अधिकारी से 5 करोड़ रुपये नगद और प्रॉपर्टी के कागजात बरामद करने के बाद उसे गिरफ्तार कर लिया गया था.

> साईं की पत्नी जानकी ने शिकायत में कहा था कि नारायण हरपलानी से उसकी शादी 22 मई 1997 को हुई थी. लेकिन शादी के इस बंधन में बंधने के बाद भी उसके पति ने उसकी निगाहों के सामने कई महिलाओं से नाजायज संबंध कायम किए. नारायण साईं धर्म के नाम पर ढोंग करता है. उसने आश्रम की एक साधिका से अवैध संबंध बनाए. जब यह साधिका गर्भवती हो गई तो उसने मुझसे कहा कि वो दूसरी शादी करना चाहता है.

> सूरत की सेशंस कोर्ट ने 26 अप्रैल को हुई सुनवाई में आजीवन कारावास की सज़ा काट रहे आसाराम के बेटे नारायण साईं को रेप का दोषी पाया था. अदालत ने सुनवाई के बाद सजा का ऐलान 30 अप्रैल को करने का फैसला लिया था.

> गुजरात के सूरत स्थित आश्रम में दो बहनों से दुष्कर्म के मामले में सेशंस कोर्ट ने मंगलवार को आसाराम के बेटे नारायण साईं को उम्रकैद की सजा सुनाई है. इसी के साथ कोर्ट ने नारायण साईं पर एक लाख रुपये का जुर्माना भी लगाया है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज