हज यात्रियों के साथ हो रही थी धोखाधड़ी, मोदी सरकार ने ऐसे कसी नकेल

प्राइवेट कोटे में टूर ऑपरेटर्स हज यात्रियों को यात्रा पर ले जाते हैं. एक ऑपरेटर के हिस्से में करीब 150 यात्री आते हैं. लेकिन देखने में आता है कि प्राइवेट कोटे में जाने वाले यात्रियों के साथ कई तरह की धोखाधड़ी होती हैं.

नासिर हुसैन | News18Hindi
Updated: June 17, 2019, 12:47 PM IST
हज यात्रियों के साथ हो रही थी धोखाधड़ी, मोदी सरकार ने ऐसे कसी नकेल
फाइल फोटो- हज यात्रा पर रवाना होते यात्री.
नासिर हुसैन
नासिर हुसैन | News18Hindi
Updated: June 17, 2019, 12:47 PM IST
हज यात्रा 2019 के लिए तैयारियां शुरू हो गई हैं. जगह-जगह कैम्प लगाकर हज यात्रियों को ट्रेनिंग दी जा रही है. यात्रा के संबंध में जागरूक भी किया जा रहा है. प्राइवेट टूर ऑपरेटर्स के ग्रुप में जाने वाले यात्रियों को खास दिशा-निर्देश दिए जा रहे हैं.

टूर ऑपरेटर्स ऐसे ठगते हैं हज यात्रियों को
देखने में आता है कि प्राइवेट टूर ऑपरेटर्स के ग्रुप में जाने वाले यात्रियों के साथ कई तरह की धोखाधड़ी होती हैं. दिल्ली निवासी मौलाना हाजी यासीन बताते हैं कि जब कोई प्राइवेट कोटे में टूर ऑपरेटर्स की मदद से हज यात्रा पर जाता है तो उन्हें सुख-सुविधाओं वाली कैटेगिरी बताई कुछ और जाती है और दी कुछ और जाती है. हज के दौरान कार की सुविधा बताने के बाद उन्हें बस में बैठाया जाता है.

इतना ही नहीं अच्छे होटल में ठहराने की बात कहकर चालू और बजट होटल में ठहराया जाता है. खाने की क्वालिटी में भी कोताही बरती जाती है. यहां तक की टूर ऑपरेटर्स प्राइवेट कोटे में वेटिंग और सीट खत्म होने की बात कहकर ज्यादा पैसे वसूलते हैं. कई बार इसकी शिकायत अल्पसंख्यक मंत्रालय और ट्विट के जरिये पीएम ऑफिस से भी की गई है.

50 हजार यात्रियों को हज पर ले जाएंगे टूर ऑपरेटर्स
हज कमेटी ऑफ इंडिया और सऊदी अरब की हुकूमत के अनुसार इस साल देश से 1,75,025 हज यात्री हज करने जाएंगे. इसमे हज कमेटी ऑफ इंडिया 1,25,025 हज यात्रियों को अरब भेजेगी. जबकि वर्ष 2018 में हज कमेटी ने 1,28,700 लोगों को हज करने भेजा था. पिछले वर्ष प्राइवेट टूर ऑपरेटर्स के जरिये 46325 हज यात्री अरब गए थे, जबकि इस साल 50 हजार हज यात्री प्राइवेट टूर ऑपरेटर्स के जरिये जाएंगे.

सरकार ने टूर ऑपरेटर्स पर ये की बड़ी कार्रवाई
Loading...

हज यात्रियों को धोखाधड़ी से बचाने के लिए केंद्र सरकार ने भी कड़े कदम उठाए हैं. अल्पसंख्यक मंत्रालय ने प्राइवेट टूर ऑपरेटर्स का रजिस्ट्रेशन करने से पहले उनकी जांच कराई है. मंत्रालय में आने वाली कई शिकायतों को भी ध्यान में रखा था. अल्पसंख्यक कार्यमंत्री मुख्तार अब्बास नकवी भी हज यात्रियों के साथ होने वाली धोखाधड़ी को लेकर सख्त थे.

इसी के चलते हज यात्रा 2019 के लिए देशभर के 97 ऐसे टूर ऑपरेटर्स हैं जिन्हें ग्रुप में हज यात्रियों को हज यात्रा पर ले जाने के लिए योग्य नहीं माना गया है. उन्हें लिस्ट में शामिल नहीं किया गया है. कुल 807 टूर ऑपरेटर्स ने रजिस्ट्रेशन के लिए आवेदन किया था. वहीं 50 से अधिक ऐसे भी ऑपरेटर्स हैं जिन्हें शर्तों के साथ हज यात्रियों का ग्रुप ले जाने की इजाजत दी गई है.

ये भी पढ़ें- ‘शरीयत में नहीं तुरंत तीन तलाक का जिक्र, कथित उलेमाओं ने बनाया शिगूफा’

आरएसएस नेता इंद्रेश कुमार ने मुस्लिमों से कहा, 'कट्टरता' को तलाक दे दो!

मोदी सरकार का मुस्लिम लड़कियों को एक और बड़ा तोहफा

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए Delhi से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: June 17, 2019, 12:03 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...