होम /न्यूज /राष्ट्र /मोदी जी पता कराएं गोहत्‍यारों ने कितने लोगों को मारा: वीएचपी

मोदी जी पता कराएं गोहत्‍यारों ने कितने लोगों को मारा: वीएचपी

वीएचपी के संयुक्त महामंत्री सुरेंद्र जैन

वीएचपी के संयुक्त महामंत्री सुरेंद्र जैन

यदि पीएम साहब विनोबा और गांधी को सच्‍ची श्रद्दांजलि देना चाहते हैं तो गोहत्‍या के खिलाफ केंद्रीय कानून बनाएं

    विश्‍व हिंदू परिषद (वीएचपी) के संयुक्त महामंत्री सुरेंद्र जैन ने कहा है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की एक पक्षीय संवेदना ठीक नहीं है. उन्‍हें पीएमओ से यह पता करवाना चाहिए कि देश में गोहत्‍यारों ने कितने गोरक्षकों और पुलिस वालों की हत्‍या कर की है.

    अल्‍पसंख्‍यक पक्ष में कौन मरा यह सामने आ जाता है, लेकिन गोहत्यारों ने कितने लोगों की हत्‍या की है, यह आंकड़ा नहीं आता. सरकार यह आंकड़ा सामने लाए तो पता चलेगा कि हत्‍यारे कौन हैं.

    दो दिन पहले की घटना है. जब यूपी में गोहत्यारों को पकड़ने पुलिस जाती है तो वे पुलिस वालों को बंधक बना लेते हैं और गोहत्‍यारों को छुड़ाकर ले जाते हैं. वे गोरक्षकों पर हमला करते हैं. अरुण माहौर और प्रशांत पुजारी जैसे गोरक्षकों की हत्‍या पर कोई कुछ नहीं बोलता.

    जैन की यह प्रतिक्रिया प्रधानमंत्री के उस बयान पर आई है, जिसमें उन्‍होंने कहा है कि ‘गोरक्षा के नाम पर कानून हाथ में लेना गलत है. गोरक्षा के नाम पर लोगों को मारना ठीक नहीं. मैं मौजूदा हालात से बहुत पीडित हूं.’

    सुरेंद्र जैन ने न्‍यूज18 डॉटकॉम से बातचीत में कहा कि प्रधानमंत्री ने महात्‍मा गांधी और विनोबा भावे को याद किया है, उन्‍हें श्रद्दांजलि दी है. इन दोनों से बड़ा कोई गोभक्‍त नहीं था और दोनों ने ही मांग की थी कि गौहत्‍या के खिलाफ केंद्रीय कानून बने.

    narendra modi

    यदि पीएम साहब विनोबा और गांधी को सच्‍ची श्रद्दांजलि देना चाहते हैं तो गोहत्‍या के खिलाफ केंद्रीय कानून बनाएं. उसका सख्‍ती से पालन करवाएं. ऐसा होगा तो गोरक्षकों को सड़क पर उतरने की जरूरत नहीं पड़ेगी. जैन ने कहा कि प्रधानमंत्री ने दोनों का नाम लेकर यह मान लिया है ऐसा कानून बनना चाहिए.

    उन्‍होंने कहा कि हम हिंसा के खिलाफ हैं. इसका समर्थन नहीं करते, लेकिन संघर्ष की स्‍थिति में क्‍या परिणाम निकलेगा यह कोई नहीं कह सकता.

    उन्‍होंने कहा कि कांग्रेस के लोग गाय काट रहे हैं. बीफ पार्टियों का आयोजन बढ़ रहा है. गायों को मारा जा रहा है. इससे हिंदू समाज में बेचैनी और गुस्‍सा बढ़ रहा है. अच्‍छा होता कि प्रधानमंत्री जी बीफ पार्टियों की भी आलोचना कर देते.

     

    Tags: Narendra modi, VHP

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें