55 साल बाद भारत-बांग्लादेश के बीच चलेगी रेलगाड़ी, 17 दिसंबर को PM मोदी-हसीना करेंगे उद्घाटन

1965 में इस रेल मार्ग को बंद कर दिया गया था. (सांकेतिक फोटो)

India-Bangladesh Rail line: एनएफआर के मुख्य जनसंपर्क अधिकारी सुभानन चंदा ने कहा, “प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और उनकी बांग्लादेशी समकक्ष शेख हसीना, 17 दिसंबर को हल्दीबाड़ी-चिलहटी रेल मार्ग का उद्घाटन करेंगे.”

  • Share this:
    गुवाहाटी/कूचबिहार. पश्चिम बंगाल ( West Bengal) के हल्दीबाड़ी और बांग्लादेश स्थित चिलहटी के बीच रेल मार्ग (Railways line) 55 साल बाद 17 दिसंबर को पुनः खोला जाएगा और भारत तथा बांग्लादेश (India and Bangladesh) के प्रधानमंत्री इसका उद्घाटन करेंगे. उत्तर पूर्व फ्रंटियर रेलवे (एनएफआर) के एक अधिकारी ने इस बात की जानकारी दी है. वर्ष 1965 में भारत तथा तत्कालीन पूर्वी पाकिस्तान के बीच रेल संपर्क टूटने के बाद कूचबिहार स्थित हल्दीबाड़ी और उत्तरी बांग्लादेश के चिलहटी के बीच रेलवे लाइन बंद कर दी गई थी.

    एनएफआर के मुख्य जनसंपर्क अधिकारी सुभानन चंदा ने कहा, “प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और उनकी बांग्लादेशी समकक्ष शेख हसीना, 17 दिसंबर को हल्दीबाड़ी-चिलहटी रेल मार्ग का उद्घाटन करेंगे.” उन्होंने कहा कि रेल मार्ग बहाल करने के लिए चिलहटी से हल्दीबाड़ी तक एक मालगाड़ी जाएगी जो एनएफआर के कटिहार डिवीजन में आता है.

    जानिए इस रेलवे लाइन के बारे में...
    कटिहार मंडलीय रेलवे प्रबंधक रविंदर कुमार वर्मा ने कहा कि विदेश मंत्रालय ने मंगलवार को अधिकारियों को रेल मार्ग बहाल होने से अवगत कराया. एनएफआर ने कहा कि हल्दीबाड़ी रेलवे स्टेशन से अंतरराष्ट्रीय सीमा तक की दूरी साढ़े चार किलोमीटर है और बांग्लादेश में चिलहटी से सीमा तक की दूरी साढ़े सात किलोमीटर के आसपास है.

    ये भी पढ़ेंः- Indian Railways ने शुरू कीं कई स्पेशल ट्रेनें, एक क्‍लोन ट्रेन कर दी है रद्द, देखें लिस्‍ट और टाइमटेबल

    वर्मा ने बुधवार को हल्दीबाड़ी स्टेशन का दौरा करने के बाद कहा कि इस मार्ग पर जब यात्री सेवा शुरू हो जाएगी तो लोग सिलीगुड़ी के पास स्थित जलपाईगुड़ी से कोलकाता, सात घंटे में पहुंच सकेंगे और इससे पूर्व के यात्रा समय में पांच घंटे की कमी आएगी.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.