Home /News /nation /

NASA: 21 फुट सोने से लिपटा है नासा का प्राइमरी मिरर वैप टेलिस्कोप, काम करने के लिए तैयार

NASA: 21 फुट सोने से लिपटा है नासा का प्राइमरी मिरर वैप टेलिस्कोप, काम करने के लिए तैयार

दुनिया का सबसे बड़ा और जटिल अंतरिक्ष विज्ञान टेलिस्कोप अब अपने 18 प्राइमरी मिरर खंडों को टेलिस्कोप ऑप्टिक्स से एक सीध में रखने के स्थानान्तरित करना शुरू करेगा.  (फोटो- NASA)

दुनिया का सबसे बड़ा और जटिल अंतरिक्ष विज्ञान टेलिस्कोप अब अपने 18 प्राइमरी मिरर खंडों को टेलिस्कोप ऑप्टिक्स से एक सीध में रखने के स्थानान्तरित करना शुरू करेगा. (फोटो- NASA)

NASA: इसके जरिये हमारे सौर मंडल से लेकर प्रारंभिक ब्रह्मांड के दूसरे छोर तक की देखी जा सकने वाली तमाम आकाशगंगाओं की जानकारी खंगालने में मदद मिलेगी. नासा के प्रशासक बिल नेल्सन का कहना है कि अभी सफर पूरा नहीं हुआ है, अभी हमें और ऊंची उड़ान भरना है. उन्होंने कहा कि जेम्स वैब स्पेस टेलिस्कोप एक अभूतपूर्व मिशन साबित होगा

अधिक पढ़ें ...

नई दिल्ली.  नासा की जेम्स वैब स्पेस टेलिस्कोप टीम (NASA Webb Telescope) ने अपने 21 फुट सोने से लिपटे हुए प्रइमरी मिरर को सफलतापूर्वक तैनात कर दिया है. जो सघन अंतरिक्ष में वैज्ञानिक संचालन के लिए सभी बड़े स्पेस्क्राफ्ट की तैनाती के अंतिम चरण को पूरा करता है. वैब मिशन जो यूरोपियन स्पेस एंजेंसी और केनेडियन स्पेस एजेंसी के साथ किया गया एक संयुक्त प्रयास है, इसके जरिये हमारे सौर मंडल से लेकर प्रारंभिक ब्रह्मांड के दूसरे छोर तक की देखी जा सकने वाली तमाम आकाशगंगाओं की जानकारी खंगालने में मदद मिलेगी. इसके साथ ही नासा ने अपनी उपलब्धियों में एक तारा और जड़ लिया है.

नासा के प्रशासक बिल नेल्सन का कहना है कि अभी सफर पूरा नहीं हुआ है, अभी हमें और ऊंची उड़ान भरना है. उन्होंने कहा कि जेम्स वैब स्पेस टेलिस्कोप एक अभूतपूर्व मिशन साबित होगा जिससे हमें पहली आकाशगंगाओं से प्रकाश को देखने और हमारे ब्रह्मांड के रहस्यों की खोज करने में मदद मिलेगी.
करीब एक हफ्ते से ज्यादा वक्त तक अहम स्पेसक्राफ्ट की तैनाती के बाद, वैब टीम ने प्राइमरि मिरर के हेक्सोगोनल खंडों को दूर से खोलना शुरू कर दिया था. यह अंतरिक्ष में अब तक का सबसे बड़ा प्रक्षेपण था.
दुनिया का सबसे बड़ा और जटिल अंतरिक्ष विज्ञान टेलिस्कोप अब अपने 18 प्राइमरी मिरर खंडों को टेलिस्कोप ऑप्टिक्स से एक सीध में रखने के स्थानान्तरित करना शुरू करेगा. वाशिंगटन में नासा मुख्यालय में विज्ञान मिशन निदेशालय के एसोसिएट एडमिनिस्ट्रेटर थॉमस ज़ुर्बुचेन ने कहा, “वेब की सफल तैनाती नासा की उपलब्धियों के बेहतरीन उदाहरण में से एक है.

जल्दी ही वैब को तीसरे मिड कोर्स करेक्शन बर्न से भी गुजरना होगा. टेलिस्कोप को दूसरे लेग्रान्ज बिंदु की कक्षा में ठीक से स्थापित करने की योजना बनाई गई है. इसे आमतौर पर एल2 के नाम से जाना जाता है जो धरती के करीब 10 लाख मील दूर है. यही वैब की अंतिम और सही कक्षा है, जहां इसका सौरआवरण इसे सूरज, धरती और चांद की इन्फ्रारेड से बचाएगा. वैब को हमारे सौर मंडल सहित दूसरी दुनिया के अध्ययन के लिए डिजाइन किया गया है.

Tags: Nasa

विज्ञापन
विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर