Assembly Banner 2021

नासिक पुलिस ने डॉग 'स्पाइक' को दी शानदार विदाई, महाराष्ट्र के गृहमंत्री ने किया सलाम

मंगलवार को लेब्राडोर स्पाइक 11 साल की उम्र में नाशिक पुलिस विभाग से रिटायर हो गया है. (फोटो: ANI/Twitter)

मंगलवार को लेब्राडोर स्पाइक 11 साल की उम्र में नाशिक पुलिस विभाग से रिटायर हो गया है. (फोटो: ANI/Twitter)

Nashik Police Dog's Farewell: फेयरवेल के दौरान स्पाइक (Spike) को सजी हुई गाड़ी के बोनट पर बैठाकर शान से विदा किया गया. बीडीडीएस इस गाड़ी का इस्तेमाल आधिकारिक मामलों के लिए करता है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 27, 2021, 11:09 AM IST
  • Share this:
नासिक. महाराष्ट्र पुलिस के नासिक बॉम्ब डिटेक्शन एंड डिस्पोजल स्क्वॉड (BDDS) का खास सदस्य स्निफर डॉग स्पाइक रिटायर हो गया है. एक दशक तक विभाग के साथ काम करने वाले स्पाइक को शानदार विदाई दी गई. उन्हें विभाग की गाड़ी के बोनट पर बैठाकर दफ्तर के बाहर ले जाया गया. खास बात है कि डॉग के रिटायरमेंट से पुरा विभाग भावुक हो गया है. इतना ही नहीं राज्य के गृह मंत्री अनिल देशमुख (Anil Deshmuk) ने ट्वीट कर स्पाइक को विदाई दी है.

लेब्राडोर स्पाइक 11 साल की उम्र में बीते मंगलवार को नासिक पुलिस विभाग से रिटायर हो गया है. एक साल की उम्र में उसे सेवा में शामिल किया गया था. इसके बाद स्पाइक ने शानदार 10 सालों तक पुलिस की खोजी अभियानों में जमकर मदद की. फेयरवेल के दौरान स्पाइक को सजी हुई गाड़ी के बोनट पर बैठाकर शान से विदा किया गया. बीडीडीएस इस गाड़ी का इस्तेमाल आधिकारिक मामलों के लिए करता है.







अंग्रेजी अखबार टाइम्स ऑफ इंडिया से बातचीत में बीडीडीएस पुलिस इंस्पेक्टर विजय शिंदे ने बताया 'यह बहुत ही भावुक पल था, जब स्पाइक आधिकारिक रूप से सेवा से रिटायर हो गया.' उन्होंने कहा 'चाहे कुंभ मेला हो या वीआईपी का दौरा, हम विभाग को दिए गए उसके सभी योगदानों को याद रखना जारी रखेंगे.' राज्य के मंत्री अनिल देशमुख ने भी स्पाइक के कामों की सराहना की है.

देशमुख ने लिखा '11 साल की मेधावी सेवा के बाद रिटायर होने वाले और विस्फोटकों का पता लगाने में बड़ा योगदान देने वाले स्निफर स्पाइक के लिए नासिक पुलिस ने खास विदाई का आयोजन किया. वो केवल एक केनाइन नहीं था, बल्कि पुलिस परिवार का हिस्सा बन गया था.' उन्होंने लिखा 'मैं राष्ट्र के प्रति की गई उसकी सेवा को सलाम करता हूं.' विदाई के बाद रिटायर होने वाले डॉग्स को पशुप्रेमियों को दे दिया जाता है. इन लोगों को एनिमल सेफ्टी के सभी नियमों का पालन करना पड़ता है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज