लाइव टीवी

हैदराबाद एनकाउंटर पर उठ रहे सवालों के बीच NHRC की टीम ने किया घटनास्‍थल का निरीक्षण

News18Hindi
Updated: December 7, 2019, 11:28 PM IST
हैदराबाद एनकाउंटर पर उठ रहे सवालों के बीच NHRC की टीम ने किया घटनास्‍थल का निरीक्षण
हैदराबाद में हुए इस एनकाउंटर पर कई लोगों ने खुशी जताई तो कई ने सवाल भी उठाए थे.

एनएचआरसी (NHRC) की टीम ने उस हॉस्पिटल का भी दौरा किया, जहां पर आरोपियों के शव रखे हुए हैं. तेलंगाना हाईकोर्ट (Telangana High court)ने 9 दिसंबर तक इन शवों को सुरक्षित रखने के आदेश दिए हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: December 7, 2019, 11:28 PM IST
  • Share this:
हैदराबाद. हैदराबाद एनकाउंटर (Hyderabad Encounter) के दूसरे दिन राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग (NHRC) की टीम घटनास्थल पर पहुंची और उस जगह का जायजा लिया, जहां पर रेप और हत्या (Hyderabad Gang rape) के चारों आरोपियों की पुलिस के साथ मुठभेड़ हुई थी. इसमें चारों की मौत हो गई थी. इस एनकाउंटर के लिए जहां लोगों ने पुलिस की सराहना की थी, वहीं दूसरी ओर कुछ लोगों ने तरीके पर सवाल उठाए थे. अब इस मामले की जांच के लिए एनएचआरसी की टीम हैदराबाद पहुंच गई है. तेलंगाना हाईकोर्ट (Telangana High court) में इस मामले को पहले ही चुनौती दी जा चुकी है.

पीटीआई के अनुसार, एनएचआरसी (NHRC) की टीम ने उस हॉस्पिटल का भी दौरा किया, जहां पर आरोपियों के शव रखे हुए हैं. तेलंगाना हाईकोर्ट (Telangana High court)ने 9 दिसंबर तक इन शवों को सुरक्षित रखने के आदेश दिए हैं. इससे पहले राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग ने कहा था कि इस तरह के एनकाउंटर चिंता का विषय हैं और इस मामले में जांच की सख्त जरूरत है. आयोग का इस मामले में कहना है कि इस मामले की सावधानी से जांच की जानी चाहिए.



तेलंगाना पुलिस के अनुसार, मुठभेड़ उस वक्त जब सीन रीक्रिएशन के लिए पुलिस आरोपियों को उसी स्थान पर ले गई थी, जहां पर महिला वेटेनरी डॉक्टर के साथ रेप हुआ था. उसी दौरान आरोपियों ने वहां से भागने की कोशिश की और इसी दौरान दोनों ओर से हुई फायरिंग में चारों आरोपियों को ढेर कर दिया गया.यह भी पढ़ें: हैदराबाद एनकाउंटर के बाद CJI का बड़ा बयान, 'बदले की भावना से किया गया न्‍याय, इंसाफ नहीं'

हैदराबाद एनकाउंटर: आरोपी की पत्‍नी ने किया शव दफनाने से इनकार, रखी ये बड़ी मांग

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: December 7, 2019, 8:27 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर