• Home
  • »
  • News
  • »
  • nation
  • »
  • कौन हैं राना गुरजीत सिंह जिनके नाम पर पंजाब कांग्रेस में फिर शुरू हुआ बवाल

कौन हैं राना गुरजीत सिंह जिनके नाम पर पंजाब कांग्रेस में फिर शुरू हुआ बवाल

राना गुरजीत को लेकर सिद्धू कैंप में नाराजगी बताई जा रही थी. (तस्वीर-ranagurjeetsingh19 Facebook)

राना गुरजीत को लेकर सिद्धू कैंप में नाराजगी बताई जा रही थी. (तस्वीर-ranagurjeetsingh19 Facebook)

पंजाब कांग्रेस में मजबूत स्थिति वाले राना गुरजीत सिंह (Rana Gurjeet Singh) पर भ्रष्टाचार के आरोप हैं. सिद्धू खेमे का मानना है कि भ्रष्टाचार के आरोपी को कैबिनेट में जगह देकर नए सीएम चरनजीत सिंह चन्नी ने गलत राह पकड़ी है.

  • News18Hindi
  • Last Updated :
  • Share this:

    चंडीगढ़. पंजाब कांग्रेस (Punjab Congress) में नए संघर्ष (New Conflict) की शुरुआत हो चुकी है. राज्य कांग्रेस के अध्यक्ष नवजोत सिंह सिद्धू (Navjot Singh Siddhu) ने मंगलवार को इस्तीफा देकर सभी को चौंका दिया है. सिद्धू के इस्तीफे के पीछे कई कारण बताए जा रहे हैं. इनमें मजहबी सिख समुदाय को कैबिनेट में उचित प्रतिनिधित्व न मिलने से लेकर राना गुरजीत (Rana Gurjeet Singh) को कैबिनेट में जगह देना शामिल हैं. पंजाब कांग्रेस में मजबूत स्थिति वाले राना गुरजीत पर भ्रष्टाचार के आरोप हैं. सिद्धू खेमे का मानना है कि भ्रष्टाचार के आरोपी को कैबिनेट में जगह देकर नए सीएम चरनजीत सिंह चन्नी ने गलत राह पकड़ी है.

    रविवार को नए मंत्रियों के शपथग्रहण से कुछ ही घंटे पहले कुछ विधायकों ने राज्य कांग्रेस के मुखिया नवजोत सिंह सिद्धू को खत लिखा था. विधायकों का कहना है राना गुरजीत सिंह को मंत्री नहीं बनाया जाना चाहिए क्योंकि उन पर बालू खनन घोटाले में भ्रष्टाचार के आरोप लगे हैं. गुरजीत सिंह को कैप्टन अमरिंदर सिंह सरकार से भ्रष्टाचार के आरोपों के बाद कैबिनेट से हटा दिया गया था.

    न्यूज़18 की एक रिपोर्ट के मुताबिक सिद्धू के एक करीबी नेता ने नाम न छापने की शर्त पर कहा- ‘हम कैप्टन अमरिंदर सरकार से अलग दिखना चाहते थे. हम दिखाना चाहते थे कि हम भ्रष्टाचार से ऊपर हैं. अब एक ऐसा आदमी मंत्री है जिस पर भ्रष्टाचार के आरोप हैं. ये हमारी लड़ाई को कमजोर करेगा.’

    कौन हैं राना गुरजीत
    गुरजीत सिंह इस वक्त कपूरथला विधानसभा सीट से विधायक हैं. इससे पहले वो 2004 से 2009 तक जालंधर के सांसद रह चुके हैं. उत्तराखंड में जन्में गुरजीत सिंह इस वक्त पंजाब विधानसभा में सबसे अमीर विधायक हैं. अपनी विधानसभा सीट पर गुरजीत खासे लोकप्रिय हैं. 2017 में पंजाब में कैप्टन अमरिंदर सरकार आने के बाद उन्हें मंत्री बनाया गया था. लेकिन फिर बालू घोटाले को लेकर उन्हें कैप्टन ने कैबिनेट से हटा दिया था. हालांकि जांच पैनल ने उन्हें आरोपमुक्त कर दिया था.

    परिवार के पास बड़ा व्यवसाय
    राना गुरजीत पंजाब में 1986 में शिफ्ट हुए थे. उनके परिवार ने पंजाब के रूपनगर में एक पेपर मिल खोली. इसके बाद अमृतसर में चीनी मिल खोली. बाद में पंजाब और हरियाणा में दो डिस्टलरी भी खोली गईं. गुरजीत के परिवार के पास उत्तर प्रदेश में भी चार चीनी मिले हैं. कुल मिलाकर गुरजीत सिंह राना और उनके परिवार के पास बड़ा व्यवसाय है. गुरजीत सिंह के दो बेटे हैं-राना इंदर प्रताप सिंह और राना करन प्रताप.

    फायरब्रांड नेता की छवि, मजीठिया के खिलाफ खोला था मोर्चा
    गुरजीत को कांग्रेस का फायरब्रांड नेता माना जाता है. उन्होंने 2012-17 के दौरान शिरोमणि अकाली सरकार में तत्कालीन राजस्व मंत्री बिक्रम सिंह मजीठिया पर जमकर निशाना साधा था.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज