इमरान खान की तारीफ में सिद्धू ने पढ़े कसीदे, जनरल बाजवा के बयान पर साधी चुप्पी

नवजोत सिंह सिद्धू पाकिस्तान की इमरान खान सरकार की शान में कसीदे पढ़ने और करतारपुर कॉरिडोर के खुलने की विदेश मंत्रालय की ओर से पुष्टि न होने के बावजूद ये ऐलान करने पर अकाली दल और बीजेपी के निशाने पर भी आ गए.

मोहित मल्होत्रा | News18Hindi
Updated: September 7, 2018, 6:51 PM IST
इमरान खान की तारीफ में सिद्धू ने पढ़े कसीदे, जनरल बाजवा के बयान पर साधी चुप्पी
File Photo
मोहित मल्होत्रा
मोहित मल्होत्रा | News18Hindi
Updated: September 7, 2018, 6:51 PM IST
अपनी पाकिस्तान यात्रा और यात्रा के दौरान पाक आर्मी चीफ जनरल बाजवा से गले मिलने को लेकर विवादों में फंसे नवजोत सिंह सिद्धू एक बार फिर से सवालों के घेरे में हैं. दरअसल नवजोत सिंह सिद्धू ने चंडीगढ़ में 2 घंटे के अंदर दो प्रेस कॉन्फ्रेंस करके पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान की तारीफों के पुल बांधे. हालांकि दोनों ही प्रेस कॉन्फ्रेंस में वह कश्मीर मुद्दे पर पाक सेना प्रमुख जनरल बाजवा के बयान पर टिप्पणी करने से बचते नजर आए.

सिद्धू ने ऐलान कर दिया कि सिखों के पवित्र धर्म स्थल पाकिस्तान के करतारपुर साहिब के गुरुद्वारे तक जाने का जो भारत-पाक सीमा का कॉरिडोर है उसे पाकिस्तान सरकार खोलने की तैयारी कर रही है. इससे पाकिस्तान में जाकर गुरु नानक देव जी के 550वें प्रकाश पर्व पर माथा टेकने वाले लाखों भारतीय सिख श्रद्धालुओं को फायदा मिलेगा.

नवजोत सिंह सिद्धू ने पाकिस्तान से आई मीडिया रिपोर्ट्स और वहां के विदेश मंत्री के बयान का हवाला देते हुए आनन-फानन में ये ऐलान कर दिया और इमरान खान और उनकी पाकिस्तान सरकार की शान में कसीदे पढ़ डाले.

हालांकि जब नवजोत सिंह सिद्धू से ये पूछा गया कि विदेश मंत्रालय पाकिस्तान की तरफ से करतारपुर कॉरिडोर खोले जाने की खबर की पुष्टि नहीं कर रहा है तो नवजोत सिंह सिद्धू ने एक भारतीय न्यूज चैनल के पत्रकार का नाम लेते हुए कहा कि उन्होंने मुझे कंफर्म किया है कि करतारपुर कोरिडोर खुल चुका है और मैं उनकी बात पर भरोसा करता हूं. सिद्धू ने कहा कि विदेश मंत्रालय से उनको ना तो कोई जानकारी दी है और ना ही कोई सूचना आई है लेकिन जो पत्रकार ने उनको बताया है उन्हें उसकी बात पर भरोसा है.

नवजोत सिंह सिद्धू पाकिस्तान की इमरान खान सरकार की शान में कसीदे पढ़ने और करतारपुर कॉरिडोर की विदेश के खुलने की विदेश मंत्रालय की ओर से पुष्टि ना होने के बावजूद ये ऐलान करने पर अकाली दल और बीजेपी के निशाने पर भी आ गए.

हरियाणा के कैबिनेट मंत्री अनिल विज ने नवजोत सिंह सिद्धू पर कहा कि सिद्धू को अगर पाकिस्तान से इतना ही प्यार है तो उन्हें भारत-पाक सीमा पर भेज देना चाहिए ताकि पाकिस्तान की ओर से कोई गोलीबारी ना हो. अनिल विज ने ये भी कहा कि नवजोत सिंह सिद्धू जिस तरह की बातें कर रहे हैं उससे ऐसे लगता है कि वो पाकिस्तान के प्रवक्ता बन चुके हैं और उनके मन में पाकिस्तान के लिए काफी प्यार है.

ये भी पढ़ें: हरसिमरत कौर बोलीं- 1984 के दंगे पर बयान के लिए शर्म करें कैप्टन अमरिंदर

अकाली दल के सीनियर लीडर बिक्रम सिंह मजीठिया ने नवजोत सिंह सिद्धू को आड़े हाथों लेते हुए कहा की करतारपुर कॉरिडोर खोलने की मांग तो नवजोत सिंह सिद्धू ने अब शुरू की है लेकिन अकाली दल और कई सिख संगठन इस करतारपुर कोरिडोर को खुलवाने के लिए पिछले 70 साल से मांग कर रहे हैं.

नवजोत सिंह सिद्धू के इमरान खान सरकार की शान में कसीदे पढ़ने को लेकर अकाली दल ने भी कहा कि नवजोत सिंह सिद्धू पाकिस्तान के सरकारी प्रवक्ता की तरह बात कर रहे हैं और अब तक पाकिस्तान ने इस करतारपुर कॉरिडोर को खोलने की कोई भी पुष्टि नहीं की है, लेकिन इसके बावजूद नवजोत सिंह सिद्धू इस कॉरिडोर के खुलने का दावा करके भारत के सिखों की भावनाओं को आहत कर रहे हैं.

नवजोत सिंह सिद्धू अपने पाकिस्तान दौरे के बाद से ही विवादों में है और आज जिस तरह से उन्होंने पाकिस्तान से आई मीडिया रिपोर्ट्स और आधी-अधूरी जानकारी के आधार पर भारत-पाकिस्तान के बीच करतारपुर कॉरिडोर खुल जाने का दावा कर दिया उसके बाद ये सवाल उठना लाजिमी है कि आखिरकार नवजोत सिंह सिद्धू को पाकिस्तान से आ रही आधी-अधूरी जानकारी पर इतना भरोसा क्यों है और वो क्यों जल्दबाजी में एक संवेदनशील मुद्दे पर भारत सरकार के विदेश मंत्रालय से हटकर बयान दे रहे हैं?

इसके साथ ही दोनों ही प्रेस कॉन्फ्रेंस में नवजोत सिंह सिद्धू ने जनरल बाजवा के भारत को सबक सिखाने को लेकर दिए गए ताजा बयान पर कोई भी कमेंट करने से इंकार कर दिया. इसी वजह से नवजोत सिंह सिद्धू सवालों के घेरे में आ चुके हैं.

यह भी पढ़ें: UN में पाकिस्तान के दावे पर भारत, आतंक से क्षेत्रीय अखंडता कमजोर करना चाहता है PAK
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर