नौसेना प्रमुख ने कैडेट्स को दिया पुश-अप चैलेंज, अधिकारी के हराने में युवाओं के छूटे पसीने

61 वर्षीय अधिकारी को पुश अप्स के मामले में हराने के कई युवाओं के पसीने छूट गए थे. (फोटो: Twitter/@Tiny_Dhillon)

NDA PAssing Out Parade: एडमिरल करमबीर सिंह के साथ-साथ थल सेना प्रमुख जनरल मनोज मुकुंद नरवणे (General Manoj Mukund Narvane) और वायुसेना प्रमुख एयर चीफ मार्शल आरकेएस भदौरिया एक साथ 1980 में यहां से पास आउट हुए थे.

  • Share this:
    नई दिल्ली. नेशनल डिफेंस एकेडमी (NDA) पहुंचे भारतीय नौसेना के प्रमुख एडमिरल करमबीर सिंह (Admiral Karambir Singh) ने युवा कैडेट्स को पुश अप्स (Push Ups) की चुनौती दे डाली. अफसर का आदेश पाते ही सेना का हिस्सा बनने जा रहे युवाओं ने जमीन पर पोजिशन ली और एडमिरल सिंह के साथ वर्जिश शुरू कर दी. इससे जुड़ी कुछ तस्वीरें भी सामने आई हैं. बताया जा रहा है कि 61 वर्षीय अधिकारी को पुश अप्स के मामले में हराने के कई युवाओं के पसीने छूट गए थे.

    दरअसल, जल्द ही NDA का 140वां बैच पास आउट होने जा रहा है. इसके संबंध में पासिंग आउट परेड समारोह का आयोजन किया जाता है. एडमिरल करमबीर सिंह इस आयोजन के समीक्षक अधिकारी हैं. तैयारियों का जाएजा लेने पहुंचे सिंह ने हंटर स्क्वाड्रन के सदस्यों से पुश अप्स करने के लिए कहा था. एडमिरल सिंह से सवाल किया कि सर कितने पुशअप्स करना हैं, तो इसपर नौसेना प्रमुख ने कहा, 'जितने हो सकें.'

    यह तीसरा मौका है जब कोविड-19 महामारी के बीच पासिंग आउट परेड का आयोजन किया जा रहा है. कल संस्था से 300 कैडेट्स पास होकर भारतीय थल सेना, वायुसेना और नौसेना का हिस्सा बनेंगे. इस समारोह के दौरान कैडेट्स के माता-पिता या रिश्तेदार आमतौर पर उनके कंधे पर रैंक लगाते हैं, जिसके बाद वे आधिकारिक रूप से सेना का हिस्सा बन जाते हैं.



    एक ही बैच के हैं तीनों सेना प्रमुख
    NDA में सीमा पर सुरक्षा का अगुवाई के लिए जवान तैयार होते हैं. खास बात है कि यहां इस दौरान उन्हें तीन साल के कोर्स से गुजरना होता है, जिसके बाद वे अपनी-अपनी संस्थाओं में अंतिम ट्रैनिंग का हिस्सा बनते हैं. एडमिरल सिंह के साथ-साथ थल सेना प्रमुख जनरल मनोज मुकुंद नरवणे और वायुसेना प्रमुख एयर चीफ मार्शल आरकेएस भदौरिया एक साथ 1980 में यहां से पास आउट हुए थे.