Home /News /nation /

नवाब मलिक की बेटी नीलोफर का ओपन लेटर, कहा- 'मुझे पेडलर की पत्नी कहा गया, बच्चों ने अपने दोस्त खो दिए'

नवाब मलिक की बेटी नीलोफर का ओपन लेटर, कहा- 'मुझे पेडलर की पत्नी कहा गया, बच्चों ने अपने दोस्त खो दिए'

निलोफर ने कहा कि इन सब की वजह से हमारे बच्चों ने अपने दोस्त खो दिए. (फाइल फोटो)

निलोफर ने कहा कि इन सब की वजह से हमारे बच्चों ने अपने दोस्त खो दिए. (फाइल फोटो)

Nwab Malik,Nilofer Malik khan Open Letter: नीलोफर (Nilofer Malik khan) ने आरोप लगाया कि मेरे पति के खिलाफ एनसीबी (NCB) के पास कोई भी ठोस सबूत नहीं थे बावजूद उन्हें गिरफ्तार किया गया और कई महीनों तक उन्हें जेल में रखा गया. नवाब मलिक की बेटी ने कहा कि तब हमें यह एहसास हुआ कि यह कुछ और ही है जो कि व्यक्तिगत से बढ़कर है. नवाब मलिक की बेटी ने आरोप लगाया कि अगले दिन मुझे घर के सिक्योरिटी गॉर्ड का फोन आया कि घर पर कुछ एनसीबी के अधिकारी आए हुए है और वह घर की तलाशी लेना चाहते है. उन्होंने कहा कि जब तक मैं गेट पर पहुंचती एनसीबी के लोग हमारे ऑफिस में घुस चुके थे.

अधिक पढ़ें ...

    नई दिल्ली: महाराष्ट्र सरकार के दिग्गज मंत्री नवाब मलिक (Nawab Malik ) की बेटी नीलोफर मलिक (Nilofer Malik khan) ने एक ओपन लेटर लिखा है. इस लेटर में उन्होंने बताया कि जब एनसीबी (NCB) ने उनके पति को गिरफ्तार कर लिया था तब उनके परिवार के साथ सोसायटी में कैसा व्यवहार किया गया. उन्होंने कहा कि हमने जो दिक्कतें झेली हैं वह पूरी तरह गैरकानूनी और अन्यायपूर्ण थीं. नवाब मलिक इन दिनों एनसीबी के जोनल डायरेक्टर समीर वानखेड़े (Sameer Wankhede) पर लगातार एक के बाद एक आरोप लगा रहे हैं. अब नीलोफर ने भी ओपेन लेटर के माध्यम से एनसीबी पर उनके परिवार को प्रताड़ित करने का आरोप लगाया है.

    ट्विटर पर जारी ओपन लेटर पर नीलोफर ने कहा कि हमारे पूरे परिवार को समाज से बहिष्कृत कर दिया गया. मुझे पेडलर की पत्नी कहा गया और कई बार अपने लिए ड्रग तस्कर जैसे शब्दों को सुना. उन्होंने कहा इन सब की वजह से हमारे बच्चों ने अपने दोस्त खो दिए. इन सब का परिवार पर बहुत बुरा असर पड़ा और हमारा पूरा परिवार टूट गया.

    नीलोफर खान ने इस खत को ट्विटर पर ‘An Open Letter From The Wife Of An Innocent: THE BEGINNING’ नाम दिया है.

    गांजा बेचने का एनसीबी ने लगाया था आरोप
    गौरतलब है कि एनसीबी ने समीर खान को 13 जनवरी को गिरफ्तार किया था. एनसीबी ने समीर खान पर 194.6 किलोग्राम गांजा की खरीदारी और उसकी बिक्री की साजिश करने का दावा किया था. इस पूरे प्रकरण में एनसीबी की तरफ से समीर खान और 5 अन्य लोगों को आरोपी बनाया गया था. नीलोफर ने अपने इस ओपेन लेटर में उस दिन को याद किया जब समीर खान को गिरफ्तार किया गया था.

    मुझे लगे थे 250 टांके
    नीलोफर ने लिखा कि मुझे बहुत अच्छे से याद है कि 12 जनवरी का दिन था. मेरे पति समीर को उनकी मां का कॉल आया था जिसमें उन्होंने कहा था उन्हें अगले दिन एनसीबी ऑफिस बुलाया गया है. जब समीर अगल दिन एनसीबी ऑफिस पहुंचे तो वहां मीडिया का जमावड़ा था. यह देखकर मैं बहुत परेशान हो गई और मैंने अपना हाथ खिड़की पर मार लिया जिससे मुझे 250 टाके लगे. उन्होंने कहा कि उसी रात समीर का फोन आया और उन्होंने बताया कि मुझे गिरफ्तार के कागज पर साइन करने के लिए कहा गया है और एनसीबी उसे गिरफ्तार कर रही है.

    सबूतों के अभाव में हुई गिरफ्तारी
    नीलोफर ने आरोप लगाया कि मेरे पति के खिलाफ एनसीबी के पास कोई भी ठोस सबूत नहीं थे बावजूद उन्हें गिरफ्तार किया गया और कई महीनों तक उन्हें जेल में रखा गया. नवाब मलिक की बेटी ने कहा कि तब हमें यह एहसास हुआ कि यह कुछ और ही है जो कि व्यक्तिगत से बढ़कर है.

    नवाब मलिक की बेटी ने आरोप लगाया कि अगले दिन मुझे घर के सिक्योरिटी गॉर्ड का फोन आया कि घर पर कुछ एनसीबी के अधिकारी आए हुए है और वह घर की तलाशी लेना चाहते है. उन्होंने कहा कि जब तक मैं गेट पर पहुंचती एनसीबी के लोग हमारे ऑफिस में घुस चुके थे. निलोफर ने आरोप लगाया कि एनसीबी ने सब जगह तलाशी ली और सामान को इधर उधर फेका लेकिन उन्हें हमारे खिलाफ एक भी सबूत नहीं मिला. उन्होंने आरोप लगाया कि इन सब घटना के बाद हमारे परिवार को सोसायटी में एकदम अलग कर दिया गया और मुझे पेडलर की पत्नी कहा गया.

    Tags: Drugs case, Nawab Malik, NCB, Sameer Wankhede

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर