ओडिशा में पुलिस का मुखबिर होने के शक में नक्सलियों ने आदिवासी को मारा

नक्‍सलियों ने की आदिवासी की हत्‍या. (File Pic)
नक्‍सलियों ने की आदिवासी की हत्‍या. (File Pic)

मंगलवार देर रात लगभग 15 सशस्त्र नक्सलियों (Naxalist) का समूह जिले के 'स्वाभिमान अंचल' में जोदंबा पुलिस थाने की सीमा के अंतर्गत खजूरीगुड़ा गांव के तीन ग्रामीणों को जबरन अपने साथ ले गया.

  • Share this:
मलकानगिरी. ओडिशा (Odisha) के मलकानगिरी जिले के एक दूरदराज इलाके में सशस्त्र नक्सलियों (Naxalists) ने पुलिस का मुखबिर होने के शक में एक आदिवासी व्यक्ति की हत्या कर दी. एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने बुधवार को यह जानकारी दी. अधिकारी ने बताया कि मंगलवार देर रात लगभग 15 सशस्त्र नक्सलियों का समूह जिले के 'स्वाभिमान अंचल' में जोदंबा पुलिस थाने की सीमा के अंतर्गत खजूरीगुड़ा गांव के तीन ग्रामीणों को जबरन अपने साथ ले गया.

उन्होंने कहा कि नक्सलियों ने गांव के बाहरी इलाके में तीनों ग्रामीणों को लाठी और लोहे की रॉड से पीटा जिससे उन्हें गंभीर चोटें आईं. उन्होंने कहा कि तीनों ग्रामीणों में से एक दासू खेमुडु ने पिटाई के दौरान दम तोड़ दिया जबकि दो अन्य ग्रामीण गांव लौटने में कामयाब रहे.

घटना की जानकारी मिलते ही पुलिस की एक टीम मौके पर पहुंची और शव को बरामद कर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया. ग्रामीणों के अनुसार, नक्सलियों को शक था कि वे तीनों ग्रामीण पुलिस के मुखबिर हैं इसीलिए उन्होंने उन्हें निशाना बनाया. नक्सलियों ने यह भी दावा किया था कि बीएसएफ ने गांव के कुछ लोगों द्वारा दी गई जानकारी के बाद इस इलाके से सात इम्प्रोवाइज्ड एक्सप्लोसिव डिवाइस (आईईडी) बरामद किया था.

पुलिस ने कहा कि घटना के बाद सुरक्षा बलों द्वारा इलाके में तलाशी अभियान तेज कर दिया गया है. यह घटना सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ) द्वारा इलाके से सात आईईडी की बरामदगी के एक दिन बाद हुई है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज