आदिवासियों को भड़काने का प्रयास कर रहे हैं झारखंड के नक्सली: गुजरात एटीएस

आदिवासियों को भड़काने का प्रयास कर रहे हैं झारखंड के नक्सली: गुजरात एटीएस
गुजरात एटीएस ने तीन नक्सलियों को गिरफ्तार किया है (फाइल फोटो)

ATS के पुलिस उपाधीक्षक ने बताया, 'हमने सूत्रों के माध्यम से तथ्यों और सूचनाओं का सत्यापन किया है कि ये लोग गुजरात के दो जिलों में स्थिति आदिवासी क्षेत्र में सतीपति पंथ के सदस्यों को को बंद का आह्वान कर सरकार के खिलाफ कदम उठाने के लिए भड़का रहे थे.'

  • Share this:
अहमदाबाद. गुजरात पुलिस (Gujarat Police) के एक अधिकारी ने शनिवार को दावा किया कि राज्य में गिरफ्तार किए गए झारखंड के तीन नक्सली तापी और महीसागर जिलों के आदिवासियों (Naxalites) को सरकार के खिलाफ हिंसा का रास्ता अपनाने के लिए भड़का रहे थे. गुजरात एटीएस (आतंकवाद निरोधी दस्ता) ने शुक्रवार को सामु ओरैया, बिरसा ओरैया और बबीता कच्छप को गिरफ्तार किया.

एटीएस (ATS) के पुलिस उपाधीक्षक बी.एच. चावड़ा ने दावा किया कि तीनों झारखंड में आदिवासियों के पत्थलगड़ी आंदोलन से जुड़े हुए हैं. उन्होंने बताया, ‘‘हमने सूत्रों के माध्यम से तथ्यों और सूचनाओं का सत्यापन किया है कि ये लोग गुजरात के दो जिलों में स्थिति आदिवासी क्षेत्र में सतीपति पंथ के सदस्यों को को बंद का आह्वान कर सरकार के खिलाफ कदम उठाने के लिए भड़का रहे थे.’’

पकड़े गए तीन आदिवासियों से मिला सुराग



चावड़ा ने कहा, ‘‘हमने तकनीकी सर्विलांस की मदद से पता लगाया कि यह बात सच है.’’ उन्होंने आरोप लगाया कि ये तीनों झारखंड में आदिवासियों द्वारा शुरू किए गए पत्थलगड़ी आंदोलन का 2016 में हिस्सा रहे हैं और वे सतीपति पंथ के अनुयायियों को आंदोलन से जोड़ने का प्रयास कर रहे हैं. चावड़ा ने बताया कि उसके कब्जे से प्रतिबंधित भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी (माओवादी) की पुस्तिकाएं बरामद हुई है और यह जानने के लिए जांच जारी है कि क्या गुजरात के अन्य आदिवासी बहुलता वाले जिलों में भी और लोग ऐसा काम कर रहे हैं.
उन्होंने बताया, ‘‘ये लोग मूलरूप से झारखंड के रहने वाले हें. झारखंड के विभिन्न थानों में इनके खिलाफ 7-8 प्राथमिकी दर्ज हैं. ये लोग पिछले छह महीने से तापी और महीसागर जिले में आ रहे हैं और सतीपति पंथ के अनुयायियों को हिंसा का रास्ता अपनाने के लिए भड़का रहे हैं.’’ एटीएस ने तीनों को भारतीय दंड संहित की धारा 121(ए) (सरकार के खिलाफ युद्ध छेड़ना) और 124(ए) (राजद्रोह) के तहत गिरफ्तार किया गया है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading