लाइव टीवी

भूषण पावर एंड स्टील को बड़ी राहत, NCLT ने कहा ED मुक्त करे कुर्क की गई संपत्ति

भाषा
Updated: October 14, 2019, 4:14 PM IST
भूषण पावर एंड स्टील को बड़ी राहत, NCLT ने कहा ED मुक्त करे कुर्क की गई संपत्ति
ED ने BPSL की संपत्तियां कुर्क कर ली थीं.

ईडी (ED)ने bpsl , सिंघल और अन्य के खिलाफ भ्रष्टाचार के आरोप में सीबीआई की ओर से दर्ज एफआईआर की स्टडी करने के बाद मनी लॉन्ड्रिंग का मामला दर्ज किया गया था.

  • Share this:
नई दिल्ली. राष्ट्रीय कंपनी विधि अपीलीय न्यायाधिकरण (एनसीएलएटी NCLT) ने सोमवार को प्रवर्तन निदेशालय (ईडी ED) को भूषण पावर एंड स्टील (बीपीएसएल BPSL) की कुर्क की गई संपत्ति को मुक्त करने को कहा है. साथ ही न्यायाधिकरण ने निर्देश दिया है कि बिना उसकी मंजूरी के आगे कंपनी की संपत्ति कुर्क नहीं की जाए.

अपीलीय न्यायाधिकरण ने इसके साथ ही जेएसडब्ल्यू स्टील (JSW Steel) द्वारा कंपनी के अधिग्रहण के लिये किये जाने वाले 19,700 करोड़ का भुगतान फिलहाल स्थगित रखने को कहा है. जेएसडब्ल्यू को भूषण पावर एंड स्टील के अधिग्रहण के एवज में इस राशि का भुगतान करना है.

एनसीएलएटी के अध्यक्ष जस्टिस एस . जे . मुखोपाध्याय की अध्यक्षता वाली पीठ ने प्रवर्तन निदेशालय को फटकार लगाते हुए कहा कि यदि एजेंसी इस तरह से काम करेगी तो दिवाला एवं ऋणशोधन अक्षमता संहिता (आईबीसी) विफल हो जाएगी. पीठ ने ईडी के साथ सीबीआई को दो दिन में जवाब देने का निर्देश दिया है.

ईडी ने पूर्व प्रवर्तकों के खिलाफ मनी लॉन्ड्रिंग मामले में भूषण पावर एंड स्टील (बीपीएसएल) की संपत्ति जब्त की थी. न्यायाधिकरण ने कहा , 'आईबीसी को इस तरह से खारिज नहीं किया जा सकता है. मनी लॉन्ड्रिंग किसी एक व्यक्ति द्वारा की जाती है.'

एनसीएलएटी ने कहा-  ईडी के अधिकार - क्षेत्र में नहीं 
एनसीएलएटी ने कहा कि कॉरपोरेट कर्जदार की संपत्ति को कुर्क करना ईडी के अधिकार - क्षेत्र में नहीं आता है. खासकर तब जब संपत्ति को कुर्क करने से संबंधित अर्जी लंबित हो. न्यायाधिकरण ने मामले की अगली सुनवाई के लिए 25 अक्टूबर की तारीख तय की है.

इस बीच , एनसीएलएटी ने जीएसडब्ल्यू स्टील से कर्ज बोझ तले दबी बीपीएसएल के लिये लगाई गई बोली की रकम का भुगतान अगले आदेश तक नहीं करने को कहा है. राष्ट्रीय कंपनी विधि न्यायाधिकरण ने पांच सितंबर को भूषण पावर एंड स्टील के अधिग्रहण के लिए जेएसडब्ल्यू स्टील की 19,700 करोड़ रुपये की समाधान योजना को मंजूरी दी थी.
Loading...

हालांकि , जीएसडब्ल्यू ने बीपीएसएल के पूर्व प्रवर्तकों के खिलाफ चल रही मनी लॉन्ड्रिंग जांच से बचने के लिए एनसीएलएटी का दरवाजा खटखटाया था.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 14, 2019, 4:05 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...