अपना शहर चुनें

States

LIVE NOW

Bihar Assembly Speaker Election: विधानसभा में नहीं काम आया RJD का पैंतरा, अवध बिहार चौधरी को मिले 114 वोट

बिहार में स्पीकर का फैसला LIVE: प्रदेश में 51 साल बाद विधानसभा अध्यक्ष पद को लेकर वोटिंग हुई. इससे पहले सत्तापक्ष के ही अध्यक्ष होने की परंपरा चलते आ रही थी, लेकिन महागठबंधन ने अपना उम्मीदवार उतारकर वोटिंग को रोमांचक बना दिया था.

Hindi.news18.com | November 26, 2020, 10:27 AM IST
facebook Twitter Linkedin
Last Updated November 26, 2020

हाइलाइट्स

12:56 pm (IST)

प्रोटेम स्पीकर ने सत्तापक्ष और विपक्ष के सदस्यों को बारी-बारी से खड़ा कर वोटों की गिनती कराई. इसके बाद प्रोटेम NDA प्रत्याशी सिन्हा को स्पीकर घोषित कर दिया. सिन्हा के पक्ष में 126 वोट और विरोध में 114 वोट पड़े. हंगामे के बीच नए अध्यक्ष को तेजस्वी यादव और नीतीश कुमार ने आसन पर बैठाया. मांझी ने प्रोटेम स्पीकर होने की वजह से वोट नहीं दिया, जबकि बसपा के दो विधायक गैर-हाजिर रहे.

12:49 pm (IST)
वोटिंग खत्म हो गई है. बीजेपी के विजय सिन्हा बिहार विधानसभा के नए अध्यक्ष चुने गए हैं.


12:46 pm (IST)
प्रदेश में 51 साल बाद विधानसभा अध्यक्ष पद को लेकर वोटिंग हो रही है. इससे पहले सत्तापक्ष के ही अध्यक्ष होने की परंपरा चलते आ रही थी, लेकिन महागठबंधन ने अपना उम्मीदवार उतारकर वोटिंग को रोमांचक बना दिया है. इस चुनाव के जरिए विपक्ष जहां अपनी ताकत दिखा रही है. वहीं, एनडीए के लिए इस कुर्सी को बचाना साख का सवाल है.

12:45 pm (IST)

राष्ट्रीय जनता दल के सभी थिंक टैंक मनोज झा, भोला यादव, संजय यादव, शक्ति यादव विधानसभा पहुंचे हैं. इनमें से कोई भी सदन के सदस्य नहीं हैं.

12:44 pm (IST)


बिहार विधानसभा में हंगामा जारी है. नीतीश कुमार के खिलाफ हुई नारेबाजी और उन्हें सदन से बाहर भेजने की मांग पर प्रोटेम स्पीकर जीतन राम मांझी ने कहा, 'जब लालू प्रसाद यादव लोकसभा के सांसद थे और राबड़ी देवी सीएम थीं, तब भी कोई सीक्रेट वोटिंग नहीं थी.'

 


12:36 pm (IST)


विपक्ष ने सदन में अशोक चौधरी, नीतीश कुमार और मुकेश सहनी की मौजूदगी पर आपत्ति जताई, क्योंकि ये तीनों ही नई विधानसभा में निर्वाचित नहीं हैं. प्रोटेम स्पीकर ने कहा कि ये मतदान से बाहर रहेंगे. प्रोटेम स्पीकर ने निर्विरोध चुनाव का प्रस्ताव रखा, लेकिन किसी ने समर्थन नहीं किया.

12:31 pm (IST)
 नीतीश कुमार को बाहर भेजने के लिए विपक्ष ने हंगामा किया. इस बीच संसदीय कार्य मंत्री विजय कुमार चौधरी ने नियम बताया कि सीएम सदन में रहते हैं. सीएम दोनों सदन के सम्मानित सदस्य हैं, इसलिए वोटिंग के दौरान वे रह सकते हैं. हालांकि, उनके बयान का कोई असर नहीं हुआ और सीएम बाहर जाओ नारे लगते रहे. नारेबाजी के बाद नीतीश कुमार सदन से बाहर निकल गए. विधानसभा की कार्यवाही को पांच मिनट के लिए रोका गया है.

LOAD MORE
Bihar Assembly Speaker Election Live Updates: बिहार विधानसभा अध्यक्ष के चुनाव में एनडीए की जीत हुई है. बीजेपी के विजय सिन्हा (Vijay Sinha) नए विधानसभा अध्यक्ष चुने गए हैं. चुनाव में एनडीए के उम्मीदवार को 126 और महागठबंधन को 114 वोट मिले हैं. मुख्यमंत्री नीतीश कुमार, विपक्ष के नेता तेजस्वी यादव ने स्पीकर को उनकी कुर्सी तक पहुंचाया और बधाई दी. वोटिंग के दौरान महागठबंधन के विधायकों ने सीक्रेट वोटिंग की मांग की थी, जिसे प्रोटेम स्पीकर जीतन राम मांझी ने ठुकरा दिया.

प्रदेश में 51 साल बाद विधानसभा अध्यक्ष पद को लेकर वोटिंग हुई. इससे पहले सत्तापक्ष के ही अध्यक्ष होने की परंपरा चलते आ रही थी, लेकिन महागठबंधन ने अपना उम्मीदवार उतारकर वोटिंग को रोमांचक बना दिया था. इस चुनाव के जरिए विपक्ष जहां अपनी ताकत दिखा रही थी. वहीं, एनडीए के लिए इस कुर्सी को बचाना साख का सवाल था.



LIVE UPDATES के लिए इस पेज को रिफ्रेश करते रहिए...

फोटो

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

चिंता के विचार आपकी ख़ुशी को बर्बाद कर सकते हैं। ऐसा न होने दें, क्योंकि इनमें अच्छी चीज़ों को ख़त्म करने की और समझदारी में निराशा का ज़हरीला बीज बोने की क्षमता होती है। ख़ुद को हमेशा अच्छा परिणाम पाने के लिए प्रोत्साहित करें और ख़राब हालात में भी कुछ-न-कुछ अच्छा देखने का गुण विकसित करें। ख़ास लोग ऐसी किसी भी योजना में रुपये लगाने के लिए तैयार होंगे, जिसमें संभावना नज़र आए और विशेष हो। भूमि से जुड़ा विवाद लड़ाई में बदल सकता है। मामले को सुलझाने के लिए अपने माता-पिता की मदद लें। उनकी सलाह से काम करें, तो आप निश्चित तौर पर मुश्किल का हल ढूंढने में क़ामयाब रहेंगे। किसी से अचानक हुई रुमानी मुलाक़ात आपका दिन बना देगी। काम के लिए समर्पित पेशेवर लोग रुपये-पैसे और करिअर के मोर्चे पर फ़ायदे में रहेंगे। सफ़र के लिए दिन ज़्यादा अच्छा नहीं है। जीवनसाथी के ख़राब व्यवहार का नकारात्मक असर आपके ऊपर पड़ सकता है। स्वयंसेवी कार्य या किसी की मदद करना आपकी मानसिक शांति के लिए अच्छे टॉनिक का काम कर सकता है। परेशान? आप पंडित जी से प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें

टॉप स्टोरीज