कोरोना त्रासदी के बीच भी जरूरी स्वास्थ्य सेवाएं और दवाएं पहुंचाना रहे जारी: WHO

कोरोना त्रासदी के बीच भी जरूरी स्वास्थ्य सेवाएं और दवाएं पहुंचाना रहे जारी: WHO
WHO के डायरेक्टर जनरल ने देशों से जीवन रक्षक दवाओं की आपूर्ति जारी रखने को कहा है (फाइल फोटो)

डब्ल्यूएचओ (WHO) के डायरेक्टर जनरल ने कहा है कि बच्चे अब भी पैदा हो रहे हैं, ऐसे में वैक्सीन (Vaccine) अब भी समय से पहुंचाई जानी चाहिए और लोगों को अब भी अन्य कई बीमारियों के लिए लोगों को जीवनरक्षक दवाओं (Life saving drugs) की आवश्यकता है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: March 30, 2020, 11:31 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. डब्ल्यूएचओ (WHO) के डायरेक्टर जनरल टेड्रोस एधानोम घेब्रेयेसस (Tedros Adhanom Ghebreyesus) ने कहा है कि भले ही हम एक त्रासदी (Crisis) के बीच हों, जरूरी स्वास्थ्य सेवाओं को जरूर जारी रहना चाहिए. बच्चे अब भी पैदा हो रहे हैं, ऐसे में वैक्सीन (Vaccine) अब भी समय से पहुंचाई जानी चाहिए क्योंकि लोगों को अब भी अन्य कई बीमारियों के लिए लोगों को जीवनरक्षक दवाओं (Life saving drugs) की आवश्यकता है.

उन्होंने यह भी कहा है, "COVID19 के मामलों में बढ़ोत्तरी के दौरान आवश्यक सेवाओं के लिए देशों की मदद करने के लिए डब्ल्यूएचओ (WHO) ने एक विस्तृत, प्रैक्टिकल मैनुअल प्रकाशित किया है. जिसमें बताया गया है कि COVID-19 के ट्रीटमेंट सेंटरों (Treatment Centers) को प्रबंधन कैसे किया जाए."

कोविड-19 से निपटने में रोबोट कर रहे मदद, भारत में भी जल्द हो सकता है ऐसा
वहीं दुनियाभर में कहर बरपा रहे घातक कोरोना विषाणु (Coronavirus) से निपटने में कई देशों में रोबोट मदद कर रहे हैं. आदमी की तरह काम करने वाली इन मशीनों को अस्पतालों को विषाणुमुक्त करने, रोगियों को भोजन और दवा पहुंचाने जैसे कामों में इस्तेमाल किया जा रहा है. कोविड-19 से निपटने के लिए भारत में भी जल्द ही रोबोटों की मदद ली जा सकती है.



रोबोट के इस्तेमाल से चिकित्साकर्मियों (Medical personnel) को रोगी के पास जाने की जरूरत नहीं पड़ती और इस तरह संक्रमण के प्रसार को रोकने में मदद मिलती है.



WHO ने दुनियाभर के लोगों को एक-दूसरे से दूरी बनाकर रखने का दिया है आदेश
विश्व में कोरोना वायरस ने सात लाख से अधिक लोगों को संक्रमित किया है और 30 हजार से अधिक लोगों की जान ले ली है. रोबोटों (Robots) को उपचार और पृथक रखे गए मरीजों की मदद करने के लिए भी तैनात किया गया है.

विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) ने कोविड-19 का प्रसार रोकने के लिए विश्वभर में लोगों को एक-दूसरे से दूरी बनाए रखने की सलाह दी है.

चीन के बाद भारत ने भी शुरू कर दिया है रोबोट का प्रयोग
इस महीने के शुरू में चीन के वुहान में होंगशान स्पोर्ट सेंटर में खोले गए एक फील्ड हॉस्पिटल में 14 रोबोटों की तैनाती की गई. बीजिंग (Beijing) स्थित रोबोट कंपनी क्लाउडमाइंड्स द्वारा उपलब्ध कराए गए रोबोट साफ-सफाई, विषाणु मुक्त करने की प्रक्रिया में मदद कर सकते हैं, रोगियों को दवा दे सकते हैं और उनके शरीर का तापमान माप सकते हैं.

भारत में, जयपुर (Jaipur) स्थित सवाई मान सिंह सरकारी अस्पताल मानव आकृति वाले रोबोट पर सिलसिलेवार परीक्षण कर रहा है, ताकि यह पता लगाया जा सके कि क्या इसे वहां भर्ती कोविड-19 पीड़ित व्यक्तियों को दवा और भोजन पहुंचाने के लिए इस्तेमाल किया जा सकता है.

यह भी पढ़ें: भारत में संक्रमण की गति विकसित देशों से कम, अभी सामुदायिक संक्रमण नहीं- सरकार
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading