तमिलनाडु में NEET परीक्षा के चलते एक और स्टूडेंट ने की आत्महत्या

तमिलनाडु में NEET परीक्षा के चलते एक और स्टूडेंट ने की आत्महत्या
तमिलनाडु में नीट परीक्षा के चलते एक और लड़की ने सुसाइड कर लिया

इस घटना (incident) से कुछ दिन पहले राज्य के अरियालुर (Ariyalur) में एक अन्य परीक्षार्थी ने कथित रूप से आत्महत्या कर ली थी. उप मुख्यमंत्री ओ पन्नीरसेल्वम (Deputy Chief Minister O Panneerselvam) की ओर से घटना पर शोक प्रकट किए जाने के बावजूद तमिलनाडु नीट परीक्षा (NEET Exam) कराए जाने का विरोध करने वाली विपक्षी पार्टियों ने सरकार पर निशाना साधा था.

  • भाषा
  • Last Updated: September 12, 2020, 4:24 PM IST
  • Share this:
मदुरै. राष्ट्रीय प्रवेश एवं पात्रता परीक्षा (NEET) में खराब प्रदर्शन के भय से 19 वर्षीय एक परीक्षार्थी (aspirant) ने तमिलनाडु (Tamil Nadu) में कथित तौर पर आत्महत्या (suicide) कर ली. पुलिस (police) ने यह जानकारी दी. उन्होंने कहा कि मृतका की पहचान जोतिश्री दुर्गा के रूप में की गई है और वह अपने घर में लटकी हुई पाई गई. पुलिस ने कहा कि शव (dead body) के पास से एक सुसाइड नोट (suicide note) मिला है जिसमें मृतका ने कथित तौर पर लिखा कि उसे परीक्षा (exam) में अपने खराब प्रदर्शन का डर था.

इस घटना (incident) से कुछ दिन पहले राज्य के अरियालुर (Ariyalur) में एक अन्य परीक्षार्थी ने कथित रूप से आत्महत्या कर ली थी. उप मुख्यमंत्री ओ पन्नीरसेल्वम (Deputy Chief Minister O Panneerselvam) की ओर से घटना पर शोक प्रकट किए जाने के बावजूद तमिलनाडु  नीट परीक्षा (NEET Exam) कराए जाने का विरोध करने वाली विपक्षी पार्टियों ने सरकार पर निशाना साधा था. द्रमुक अध्यक्ष एम के स्टालिन (DMK President MK Stalin) ने कहा कि नीट “कोई परीक्षा ही नहीं है.”

नीट परीक्षा स्टूडेंट्स को गंभीर रूप से प्रभावित कर रही है: स्टालिन
पन्नीरसेल्वम ने अपने एक ट्वीट में कहा कि इस प्रकार की घटनाएं दुखद हैं और छात्र “भविष्य का आधार हैं.” तमिलनाडु विधानसभा में विपक्ष के नेता स्टालिन ने ट्वीट किया, “अनीता (2017 में आत्महत्या करने वाली छात्रा) से लेकर जोतिश्री दुर्गा तक की मौत से हमें यह समझ में आ जाना चाहिए कि नीट छात्रों को गंभीर रूप से प्रभावित कर रही है.”
यह भी पढ़ें: 31 दिसंबर तक पहले की तरह 3 लाख पैसेंजर उड़ान भर सकेंगे- हरदीप सिंह पुरी



उन्होंने कहा, “मैं दोबारा कहता हूं कि आत्महत्या समाधान नहीं है. नीट कोई परीक्षा ही नहीं है.” बता दें कि कोरोना वायरस प्रसार के बावजूद स्टूडेंट्स को शैक्षणिक वर्ष के नुकसान से बचाने के लिए जेईई और नीट परीक्षाओं का तमाम एहतियातों के साथ सितंबर के महीने में आयोजन किया गया है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading