अपना शहर चुनें

States

GHMC नतीजों पर बोले केंद्रीय मंत्री- 2023 में बनेगी बीजेपी सरकार, रोक नहीं पाएंगे केसीआर-ओवैसी

एक सवाल के जवाब में गृह राज्य मंत्री रेड्डी ने कहा कि दोनों नेताओं ने साथ में बैठकर 'बिरयानी' खाई है और इसकी योजना केसीआर के घर पर बनी थी.
एक सवाल के जवाब में गृह राज्य मंत्री रेड्डी ने कहा कि दोनों नेताओं ने साथ में बैठकर 'बिरयानी' खाई है और इसकी योजना केसीआर के घर पर बनी थी.

GHMC चुनावों में बीजेपी (BJP) ने अच्छा प्रदर्शन करते हुए 2020 में 48 सीटों कब्जा जमा लिया है. सबसे बड़ी पार्टी टीआरएस (TRS) के पास 55 सीटें हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: December 5, 2020, 5:52 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. केंद्र में गृह राज्य मंत्री रेड्डी ने कहा कि लोग असदुद्दीन ओवैसी (Asaduddin Owaisi) के खिलाफ है. 2023 के चुनावों में बीजेपी को ना तो के. चंद्रशेखर राव (K. Chandrashekhar Rao) रोक पाएंगे और ना ही ओवैसी... पार्टी राज्य में अगली सरकार बनाएगी.

उन्होंने कहा कि असदुद्दीन ओवैसी और केसीआर ने म्युनिसिपल कॉरपोरेशन का चुनाव मिलकर लड़ा था. ग्रेटर हैदराबाद म्युनिसिपल कॉरपोरेशन को चलाने के लिए एआईएमआईएम (AIMIM) और तेलंगाना राष्ट्र समिति (TRS) के संभावित गठबंधन के बारे में पूछे गए एक सवाल के जवाब में गृह राज्य मंत्री रेड्डी ने कहा कि दोनों नेताओं ने साथ में बैठकर 'बिरयानी' खाई और इसकी योजना के. चंद्रशेखर राव ने अपने घर पर बैठकर बनाई थी. GHMC के स्थानीय चुनावों में बीजेपी ने, केसीआर, ओवैसी और कांग्रेस को रौंदते हुए 48 सीटों पर कब्जा जमा लिया है. 2016 के मुकाबले बीजेपी का प्रदर्शन शानदार रहा है. तेलंगाना राष्ट्र समिति को 55 सीटें मिली हैं.

पिछले चुनाव के मुकाबले बीजेपी ने शानदार प्रदर्शन किया तो तेलंगाना राष्ट्र समिति को बड़ा झटका लगा है. पिछले चुनाव में टीआरएस को 99 सीटें मिली थीं, जबकि बीजेपी महज 4 सीटें मिली थीं. हालांकि, ओवैसी की पार्टी ने पिछला प्रदर्शन दोहराते हुए 44 सीटें जीती हैं. इस दौरान सबसे पतली हालत कांग्रेस की रही. पार्टी के खाते में केवल 2 सीटें आई हैं.



पढ़ेंः AIMIM के 3 हिंदू उम्मीदवारों ने दर्ज की जीत, ओवैसी निभा सकते हैं किंगमेकर की भूमिका
नगर निगम चुनाव में भारतीय जनता पार्टी ने इस बार मजबूत उपस्थिति दर्ज कराई थी. उत्तर प्रदेश के मुखिया योगी आदित्यनाथ, राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा और गृहमंत्री अमित शाह खुद यहां प्रचार के लिए पहुंचे थे. तीनों बड़े नेताओं ने हैदराबाद में रोड शो और सभाएं की थीं. खास बात है कि बीजेपी की इस तैयारी को साल 2023 में तेलंगाना में होने वाले विधानसभा चुनाव की तैयारी के रूप में देखा जा रहा है.

पढ़ेंः GHMC के चुनाव ने हमें सिखाई विधानसभा चुनाव में भाजपा को रोकने की रणनीति

बता दें कि बीजेपी ने इस चुनाव में अपना प्रदर्शन सुधारने के लिए पूरी ताकत झोंक दी थी. उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा और गृह मंत्री अमित शाह खुद प्रचार के लिए पहुंचे थे. तीनों नेताओं ने हैदराबाद में रोड शो और प्रचार किया.

तेलंगाना में बीजेपी के ताकत को लगाने को 2023 में होने वाले राज्य विधानसभा चुनाव के लिए तैयारी के तौर पर देखा जा रहा है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज