इंडो-नेपाल बार्डर पर नेपाल ने रची बड़ी साजिश, अपने नागरिकों को ही बनाया मोहरा

इंडो-नेपाल बार्डर पर नेपाल ने रची बड़ी साजिश, अपने नागरिकों को ही बनाया मोहरा
अंतर्राष्‍ट्रीय बार्डर पर नेपाल लगातार टकराव की स्थिति उत्‍पन्‍न करने की कोशिश कर रहा है. (फाइल फोटो)

इंडो-नेपाल सीमा (Indo-Nepal Border) पर हालात तनावपूर्ण (Tense Situation) बनाने के लिए नेपाल (Nepal) अपने नागरिकों के सहारे बड़ी साजिश (Conspiracy) रच रहा है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: August 5, 2020, 2:52 PM IST
  • Share this:

नई दिल्‍ली. इंडो-नेपाल अंतर्राष्‍ट्रीय सीमा (Indo-Nepal international border) पर तनाव ब़ढ़ाने के लिए नेपाल (Nepal) लगातार नए-नए षड़यंत्र (conspiracy) रच रहा है. इस बार नेपाल ने अपने षड़यंत्र का मोहरा अपने ही नागरिकों (Nepali Citizens) को बनाया है. भारतीय इंटेलीजेंस एजेंसियों (Indian Intelligence Agencies) के हाथ लगी खुफिया जानकारी में इस बात का खुलासा हुआ है कि नेपाल बीते दो महीनों से अंतर्राष्‍ट्रीय सीमा (International Border) पर टकराव बढ़ाने की कोशिश कर रहा है. षड़यंत्र के तहत, नेपाल अपने नागरिकों के जरिए सीमा पर तैनात भारतीय सुरक्षा एजेंसिंयों (Indian Security Agencies) को लगातार उकसाने की कोशिश कर रहा है.


 सूत्रों के अनुसार, नेपाल सुरक्षा एजेंसियां स्थानीय नेपाली नागरिकों को सीमा को चिंहित करने के लिए लगाए गए पत्थरों को उखाड़ने के लिए उकसा रही हैं. इसके अलावा, नो मैंस लैंड (No man's land) यानि भारत और नेपाल सीमा के बीच नेपाली नागरिकों को निर्माण कार्य शुरू करने के लिए कहा जा रहा है. इतना ही नहीं, सीमा पर तैनात भारतीय सुरक्षाबलों से झड़प करना उन पर हमला करने की भ्‍ज्ञी लगातार कोशिश की जा रही है. नेपाल की तरफ से अब लगातार प्रतिबंधित वस्तुओं को नेपाल सीमा में दाखिल करवाने की कोशिश भी की जा रही है. इसके अलावा, पड़ोसी देश नेपाल ने भारत-नेपाल सीमा पर एकाएक अपने निर्माण कार्य की गतिविधियां बढ़ा दी हैं.


 अंतर्राष्‍ट्रीय सीमा पर नेपाल बना रहा है 200 आउट पोस्‍ट
खुफिया एजेंसियों को मिली जानकारी के मुताबिक, पिछले दो महीनों में बार्डर आउटपोस्ट और हेलीपैड निर्माण प्रमुख कार्य हैं, जिनको नेपाल ने अपनी सीमा में तेज किया है. सूत्रों के मुताबिक, भारत-चीन विवाद सामने आने के बाद चीन के इशारे पर नेपाल ऐसा कर रहा है. उल्‍लेखनीय है कि भारत-नेपाल सीमा उत्तराखंड से लेकर बिहार तक लगती है. करीब 1751 किलोमीटर की यह सीमा भारत के पांच राज्यों से होकर गुजरती है. सीमा पर भारतीय सुरक्षाबलों के करीब 500 बार्डर आउटपोस्ट हैं, जबकि नेपाल के करीब 120 आउट पोस्‍ट हैं. सूत्रों के मुताबिक पिछले दो महीनों में नेपाल ने अब अपनी सीमा में 200 नई बार्डर आउटपोस्ट बनाने का काम शुरू कर दिया है.


इंडो-नेपाल सीमा पर बनाए जा रहे हैं हेलीपैड
खुफिया एजेंसियों के अनुसार, अंतर्राष्‍ट्रीय सीमा के करीब बनाए जा रहे बार्डर आउट पोस्‍ट में नेपाल अपने सुरक्षाबलों की तैनाती करेगा. ये सारे पोस्ट भारतीय सीमा के पास बनेंगे. इतना ही नहीं, इन इलाकों में अस्थाई पोस्ट और बंकर भी नेपाल सरकार की ओर से बनाए जा रहे हैं. भारतीय सीमा के पास चार प्रमुख जगहों पर नेपाल ने हेलीपैड निर्माण का भी कार्य शुरू किया है. ये हेलीपैड उत्तराखंड नेपाल सीमा, पूर्वी चंपारण-नेपाल सीमा, महाराजगंज -नेपाल सीमा और पूर्वोत्तर राज्यों की नेपाल सीमा से सटे इलाकों में बनाए जा रहे हैं. उल्‍लेखनीय है कि भारत-नेपाल सीमा हमेशा से ही ओपन बाउंडरी रही है, जहां से दोनों देशों के नागरिकों की आवाजाही होती थी. लेकिन, चीन से विवाद के बाद नेपाल के रुख में अचानक जो बदलाव आया है, उसने भारतीय खुफिया और सुरक्षा एजेंसियों को एक बार फिर अपनी रणनीति की समीक्षा करने पर मजबूर कर दिया है.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज