इंटरनेट यूजर्स का दावा- LAC पर भारत के खिलाफ चीन की मदद कर रही है पाकिस्तानी सेना

एक चीनी पत्रकार द्वारा साझा किया गया वीडियो इंटरनेट पर काफी लोगों का ध्यान खींच रहा है (फोटो- Twitter)
एक चीनी पत्रकार द्वारा साझा किया गया वीडियो इंटरनेट पर काफी लोगों का ध्यान खींच रहा है (फोटो- Twitter)

इन सैनिकों (troops) को वीडियों में 'मातृभूमि मुझे नहीं भूलेगी' (The Motherland Won't Forget Me) शीर्षक वाला एक राष्ट्रवादी गीत (Nationalistic Song) गाते देखा जा सकता है. कुछ रिपोर्ट्स में इस वीडियो (Video) में दिखने वाले एक दाढ़ी वाले व्यक्ति की पहचान को लेकर शक जाहिर किये गये.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 5, 2020, 5:41 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. एक चीनी पत्रकार (Chinese journalist) के वास्तविक नियंत्रण रेखा (LAC) पर ही कहीं शूट किये गये चीनी सैनिकों (PLA Troops) के एक वीडियो को शेयर करने के बाद, इंटरनेट यूजर्स (Internet Users) ने दावा किया है कि चीनी सेना भारत के साथ अपने सीमा विवाद ( को निपटाने के लिए पाकिस्तानी सेना (Pakistan Army) की सहायता ले रही है. चीनी पत्रकार शेन शीवेई ने शनिवार को 52 सेकंड का वीडियो शेयर किया और कहा, "यहां, हम चीनी पीएलए योद्धाओं से चीन-भारत एलएसी (China-India LAC) पर मिले. शायद उनमें से कुछ गलवान घाटी (Galwan Valley) में भी तैनात थे."

इन सैनिकों (troops) को वीडियों में 'मातृभूमि मुझे नहीं भूलेगी' (The Motherland Won't Forget Me) शीर्षक वाला एक राष्ट्रवादी गीत (Nationalistic Song) गाते देखा जा सकता है. कुछ रिपोर्ट्स में इस वीडियो (Video) में दिखने वाले एक दाढ़ी वाले व्यक्ति की पहचान को लेकर शक जाहिर किये गये. जो OSINT विश्लेषकों के अनुसार विशेषताओं, ऊंचाई और शारीरिक बनावट (features) के मामले में अन्य सैनिकों की तुलना में "अलग दिख रहा है."


पीएलए सेना के साथ झड़पों के कारण भारत चीन के बीच सीमा पर गतिरोध बना हुआ है
पीएलए सेना के साथ झड़पों के कारण भारत चीन के बीच सीमा पर गतिरोध बना हुआ है, इसी के दौरान एक झड़प के परिणामस्वरूप जून में गलवान घाटी में 20 सैनिकों की मौत हो गई थी. चीन के सैनिकों ने गलवान घाटी में गश्त लगाने वाले प्वाइंट 14 के आसपास चीन द्वारा निगरानी चौकी के निर्माण का विरोध करने के बाद भारतीय सैनिकों पर स्टड, लोहे की छड़ और क्लबों का इस्तेमाल कर नृशंस हमला किया था.



यह भी पढ़ें: हाथरस कांड: CM योगी का बड़ा बयान, 'यूपी में जातीय दंगा कराने की हो रही साजिश'

सरकारी सूत्रों ने बताया कि सितंबर में चीन ने कहा कि मोल्डो में भारत के साथ सैन्य और राजनयिक वार्ता के दौरान बताया कि झड़प में उसके पांच सैनिक मारे गए. दक्षिणी ब्लॉक के एक शीर्ष सरकारी सूत्र ने न्यूज़ 18 से बातचीत में बताया कि इस झड़प में वास्तविक चीनी सैनिकों की मौतें बहुत अधिक होंगीं. उन्होंने कहा, "जब चीनी पांच कहें, तो इसे तीन से गुणा कर लें."
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज