Network18 पोल: 63% लोगों ने कहा स्कूलों को नहीं लेनी चाहिए पूरी फीस

Network18 पोल: 63% लोगों ने कहा स्कूलों को नहीं लेनी चाहिए पूरी फीस
(न्यूज 18 क्रिएटिव)

ये पोल नेटवर्क 18 के सभी सोशल मीडिया हैंडल्स पर 23 से 27 जुलाई तक अंग्रेजी, हिंदी, बंगाली, मराठी, गुजराती, कन्नड़, तमिल, मलयालम, तेलुगु और पंजाबी सहित 13 भाषाओं में किया गया.

  • Share this:
नई दिल्ली. कोविड 19 जैसी महामारी के दौर में जैसे-तैसे ऑनलाइन क्लास दे पा रहे प्राइवेट स्कूल अभिभावकों पर पूरी फीस भरने का दवाब डाल रहे हैं. ऐसे में निजी स्कूलों के प्रति लोगों में काफी गुस्सा है और लोग सोशल मीडिया पर अपना गुस्सा जाहिर कर रहे हैं. ऑनलाइन क्लास के इस पूरे पैटर्न, फीस, स्कूल दोबारा कब खोले जाएं? आदि सवालों को लेकर नेटवर्क 18 ने एक महापोल किया. इसमें हिस्सा लेने वाले 63% लोगों का मानना है कि स्कूलों को पूरी फीस चार्ज नहीं करनी चाहिए. यही नहीं करीब 47% लोग ये चाहते हैं कि स्कूलों को अपनी फीस 50% या उससे कम करनी चाहिए.

इस पोल में कुल 7 सवाल पूछे गए
1. ऐसे समय में जब स्कूल ऑनलाइन संचालित हो रहे हैं, क्या उन्हें पूरी फीस लेनी चाहिए?
- इस सवाल के जवाब में 63 प्रतिशत लोगों ने कहा कि स्कूलों को पूरी फीस नहीं लेनी चाहिए. कुछ लोगों ने कहा कि ये निजी स्कूलों की मनमानी है.
2. यदि स्कूल फीस कम करने के लिए तैयार हैं, तो उन्हें कितनी कटौती करनी चाहिए?
- इसका जवाब रहा हां, 47% लोगों ने कहा कि स्कूलों को अपनी फीस 50% से उससे ज्यादा कम करनी चाहिए.



3. क्या आपको लगता है कि ऑनलाइन क्लास इस समय एक प्रभावी शिक्षण माध्यम है?
- इस सवाल का जवाब में भी सबसे ज्यादा लोग हां के साथ रहे. 56.38% ने ऑनलाइन क्लास को एक प्रभावी तरीका माना.

4. क्या आपको लगता है कि ऑनलाइन क्लास के लिए शिक्षक, पूरी तरह प्रशिक्षित हैं?
- इसके जवाब मिलेजुले रहे. 47.35% ने कहा की हां शिक्षक प्रशिक्षित हैं, जबकि 37 प्रतिशत ने माना नहीं. 15 प्रतिशत ऐसे भी लोग थे, जिन्होंने इस पर कोई राय नहीं दी.

5. क्या लॉकडाउन के दौरान स्कूलों में ऑफलाइन परीक्षा देना ठीक है?
- यह एक बेहद महत्वपूर्ण सवाल था इसके जवाब में लोगों ने कहा कि नहीं. 64.37% लोगों ने नहीं का विकल्प चुना.

6. आपके मुताबिक स्कूल कब खुलने चाहिए?
- इस सवाल के जवाब में 29.08% लोग वैक्सीन बन जाने के बाद ही स्कूल खुलने पर सहमत हैं, जबकि 33.58% लोग चाहते हैं कि जब कोरोना के नए केस आना बंद हो जाएं, तब स्कूल खोलने चाहिए.

7. अगर स्कूल किसी भी वैक्सीन के आने या नए केस की संख्या जीरो होने से पहले ही खुलते हैं, तो क्या आप अपने बच्चों को स्कूल भेजेंगे?
- और इस सबसे जरूरी सवाल के जवाब में 65.55% लोगों ने कहा कि नहीं, अगर स्कूल किसी भी वैक्सीन के आने या नए केस की संख्या जीरो होने से पहले खुलते हैं तो वह अपने बच्चों को स्कूल नहीं भेजेंगे.

13 भाषाओं में हुआ पोल
ये पोल नेटवर्क 18 के सभी सोशल हैंडल्स के जरिए 23 से 27 जुलाई तक अंग्रेजी, हिंदी, बंगाली, मराठी, गुजराती, कन्नड़, तमिल, मलयालम, तेलुगु और पंजाबी सहित 13 भाषाओं में किया गया और इसमें देश के 1.6 लाख लोगों ने हिस्सा लिया और अपनी राय रखी. इस पोल का हैशटैग था #News18PublicSentimeter.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading