फिर शुरू होगा पटेल आरक्षण आंदोलन, हार्दिक ने जेल से बनाई नई कोर कमिटी

पटीदार अनामत आंदोलन समिति (पीएएएस) के संयोजक हार्दिक पटेल ने पटेल समुदाय के आरक्षण अभियान को पुनर्जीवित करने के लिए कोर समिति का गठन किया है।

भाषा
Updated: November 19, 2015, 7:13 AM IST
फिर शुरू होगा पटेल आरक्षण आंदोलन, हार्दिक ने जेल से बनाई नई कोर कमिटी
NEW DELHI, INDIA - SEPTEMBER 30: Hardik Patel, Convener of Patidar Anamat Andolan Samiti (PAAS), during a press conference on September 30, 2015 in New Delhi, India. Patidar Anamat Andolan Samiti leader Hardik Patel on Wednesday announced the formation of a new group Akhil Bhartiya Patel Navnirman Sena with the aim to unite the Kurmi, Gujjar, Maratha and Patel communities. (Photo by Ravi Choudhary/Hindustan Times via Getty Images)
भाषा
Updated: November 19, 2015, 7:13 AM IST
अहमदाबादपटीदार अनामत आंदोलन समिति (पीएएएस) के संयोजक हार्दिक पटेल ने पटेल समुदाय के आरक्षण अभियान को पुनर्जीवित करने के लिए कोर समिति का गठन किया है। हार्दिक की गिरफ्तारी के बाद यह आंदोलन शांत पड़ गया था। हार्दिक वर्तमान में सूरत की एक जेल में बंद हैं और देशद्रोह के मामले का सामना कर रहे हैं।

पीएएएस के प्रवक्ता रिषिकेश पटेल ने बताया कि आंदोलन को आगे बढ़ाने के लिए हार्दिक ने पीएएएस की नई कोर समिति का गठन किया है। प्रवक्ता ने बताया कि पीएएएस के 11 संयोजकों को इस कोर समिति का सदस्य बनाया गया है जो आंदोलन के संबंध में फैसला करेंगे।

गौरतलब है कि हार्दिक को  गुजरात पुलिस ने देशद्रोह के आरोप में गिरफ्तार किया था। 25 अगस्त की अहमदाबाद की रैली में हुई हिंसा को लेकर पुलिस ने हार्दिक को हिरासत में लिया था। बाद में पुलिस ने अपनी जांच में हार्दिक की दूसरे पाटीदार नेताओं और कार्यकर्ताओं से बातचीत की ट्रांसक्रिप्शन हासिल की थी जिसमें वह साथियों को हिंसा के लिए उकसाते सुनाई दे रहे थे। इसी आधार पर देशद्रोह के आरोप में उन्हें गिरफ्तार किया गया था।

इससे पहले 27 अक्तूबर को हाईकोर्ट ने हार्दिक पटेल के खिलाफ सूरत में दर्ज एफआईआर को खारिज करने से इंकार कर दिया था। हाईकोर्ट ने कहा था कि उनके खिलाफ पहली नजर में देशद्रोह का मामला बनता है। जस्टिस जे बी पारदीवाला ने कहा था कि पहली नजर में हार्दिक के खिलाफ देशद्रोह का मामला बनता है क्योंकि उसने एक युवक को सलाह दी थी कि वो पुलिसकर्मियों को जान से मार डाले।
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर