नए सांसदों को घर के लिए नहीं करना पड़ेगा इंतजार, नए आवास बनकर तैयार

पहली बार चुन कर आये सांसदों के लिये नॉर्थ और साउथ एवेन्यू में पांच कमरे वाले फ्लैट मौजूद हैं.

News18Hindi
Updated: June 9, 2019, 1:49 PM IST
नए सांसदों को घर के लिए नहीं करना पड़ेगा इंतजार, नए आवास बनकर तैयार
Representative image/ Reuters
News18Hindi
Updated: June 9, 2019, 1:49 PM IST
17वीं लोकसभा के लिए चुनकर आए लगभग 200 नए सांसदों को आवास सुविधा के लिए अब लंबे समय तक इंतजार नहीं करना पड़ेगा. आवास एवं शहरी मामलों के मंत्रालय ने पहली बार चुनकर आए सांसदों के लिए लुटियन दिल्ली स्थित नॉर्थ एवं साउथ एवेन्यू में नए घरों का इंतजाम कर लिया है. इसके लिए केन्द्रीय लोक निर्माण विभाग (CPWD) ने परियोजना के पहले चरण में नार्थ एवेन्यू में आवास बनाकर इन्हें संपदा विभाग को नए सांसदों को आवंटन हेतु सौंप दिया है.

परियोजना के अगले चरण में साउथ एवेन्यू में भी घर बनाए जाएंगे. विभाग के एक अधिकारी ने बताया कि नॉर्थ एवेन्यू में अत्याधुनिक सुविधाओं से लैस 36 नये डुप्लेक्स घर आवंटन के लिये तैयार हैं.

सात कमरों वाले प्रत्येक घर में संसद सदस्य को अपने कार्यालय के संचालन की भी जगह दी गयी है. पूरी तरह से हरित भवन तकनीकी पर आधारित इन घरों में सौर ऊर्जा से बिजली की अधिकतर जरूरत पूरी की जायेगी. प्रत्येक घर में वाहन के लिये भूमिगत पार्किंग की भी सुविधा है जिससे सांसदों के घर के आसपास वाहनों की वजह से पैदल रास्ते न रुकें.

यह भी पढ़ें:  जिसने जन्म के बाद राहुल गांधी को सबसे पहले गोद में उठाया था, अब पूरी हुई उनकी यह खास मुराद

परियोजना के तहत कुल 180 डुप्लेक्स घर बनाने का लक्ष्य है. यह काम चरणबद्ध तरीके से होगा. पहले चरण में बने 36 घरों के आवंटन के साथ नॉर्थ और साउथ एवेन्यू में पहले से मौजूद सांसद आवास भी फिलहाल आवंटित किये जायेंगे. नये घरों के निर्माण के साथ ही, पुराने आवास में रह रहे सांसदों को नये आवास आवंटित होंगे.

नायडू ने दी थी नए आवासों को अनुमति

जबकि पहली बार चुन कर आये सांसदों के लिये नॉर्थ और साउथ एवेन्यू में पांच कमरे वाले फ्लैट मौजूद हैं. इनमें जगह की कमी और पार्किंग आदि की समस्यायें 2014 में सामने आने के बाद तत्कालीन आवास एवं शहरी मामलों के मंत्री एम वेंकैया नायडू ने सांसदों के लिये नये आवास बनाने की परियोजना को हरी झंडी दी थी.
Loading...

यह भी पढ़ें:   अलीगढ़: मासूम की हत्या से उबल रहा देश, प्रियंका गांधी बोलीं- कैसा समाज बना रहे हम?

नवनिर्मित आवासीय परिसर अगले सौ साल की जरूरतों को ध्यान में रखकर तैयार किया गया है. तीन ब्लॉक वाले आवासीय परिसर के प्रत्येक ब्लॉक में 12 डुप्लेक्स घर बनाये गये हैं. इनकी भूमिगत पार्किंग के जरिये एक ब्लॉक से दूसरे ब्लॉक में जाया जा सकता है.
एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएगी आपके पाससब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: June 9, 2019, 1:22 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...