अंडमान में पेड़ों पर रहने वाले मेढक की नई प्रजाति मिली, भारतीय प्रोफेसर की अगु्आई में हुई खोज

(सांकेतिक तस्वीर)
(सांकेतिक तस्वीर)

रिसर्चर्स की टीम दल ने कहा कि यह पहली बार है कि भारत के अंडमान (Andman) द्वीप समूह में पेड़ों पर रहने वाले मेढक की प्रजाति रोहानिक्सॉलस (Rohanixalus) का पता चला है. इस मेढक का नाम श्रीलंकाई वैज्ञानिक रोहन पेथियागोडा के नाम पर रखा गया है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 12, 2020, 6:40 PM IST
  • Share this:
कोच्चि. अंडमान निकोबार और पूर्वोत्तर भारत में रिसर्चर्स की टीम को बड़ी जानकारी हाथ लगी है. भारत, चीन, इंडोनेशिया और थाईलैंड के शोधकर्ताओं ने यहां एक खास प्रजाती के मेढक (News Frog Species) का पता लगाया है. खास बात है कि इस किस्म के मेढक पेड़ों पर रहा करते हैं. खुद शोधकर्ताओं ने गुरुवार को यह जानाकारी दी है. इस मेढक का नाम श्रीलंका के वैज्ञानिक रोहन पेथियागोडा के नाम पर रखा गया है.

दिल्ली विश्वविद्यालय के प्रोफेसर एसडी बीजू की अगु्आई में रिसर्चर्स की टीम ने कहा कि यह पहली बार है कि भारत के अंडमान द्वीप समूह में पेड़ों पर रहने वाले मेढक की प्रजाति रोहानिक्सॉलस का पता चला है. जीवविज्ञान की अंतरराष्ट्रीय पत्रिका ‘जूटाक्सा’ के अंक में प्रकाशित स्टडी में कहा गया है ‘अंडमान के एंफीबियन प्राणियों का हाल के वर्षों में लगातार सर्वेक्षण किया गया, लेकिन इन द्वीपों पर अब तक रैकोफोराइड फैमिली का पता नहीं चला.’

स्टडी में कहा गया है, ‘लेकिन आश्चर्य की बात है कि उत्तरी और मध्य अंडमान निकोबार में पेड़ों पर रहने वाले मेढक की प्रजाति सामान्य है.’ स्टडी के मुखिया रहे बीजू ने एक बयान में कहा कि अंडमान द्वीपों पर पेड़ पर पाए जाने वाले मेढक का मिलना अप्रत्याशित है और यह फिर भारत जैसे विशाल, विविधता वाले देश में ठीक तरह से कागजी कार्रवाई के लिए जलीय जीवों के सर्वे और जांच के महत्व को सामने लाता है.



कुछ दिनों पहले मिली थी एक खास मछली
नेशनल जियोग्राफिक के अनुसार, शोधकर्ताओं की एक अन्य टीम ने बीते महीने दक्षिण भारत में एक खास तरह की मछली की खोज की थी. ईल की तरह दिखने वाली इस मछली का नाम ड्रैगन स्नेकहैड्स है. स्टडी के लीडर और सेंकेनबर्ग नेचुरल हिस्ट्री कलेक्शन्स में इचियोलॉजिस्ट राल्फ ब्रिट्ज ने बताया कि मछली के नए परिवार की खोज करना बहुत ही असामान्य है. इस परिवार में मछलियों की केवल दो ही प्रजातियां रहती हैं. जिसमें से एक का नाम गोलम स्नेकहैड है. (इनपुट: भाषा)
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज