अपना शहर चुनें

States

चेन्नई में ब्रिटेन से लौटे एक शख्स में पाया गया कोरोना वायरस का नया स्ट्रेन

ब्रिटेन के नए कोरोना स्ट्रेन से संक्रमित लोग भारत में भी मिले हैं. (Pic- AP)
ब्रिटेन के नए कोरोना स्ट्रेन से संक्रमित लोग भारत में भी मिले हैं. (Pic- AP)

Coronavirus New Strain: देश में अब तक ब्रिटेन में मिले कोरोना वायरस के नए प्रकार (स्ट्रेन) से कुल 25 लोगों के संक्रमित होने की पुष्टि हुई है. यह जानकारी केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने गुरुवार को दी

  • News18Hindi
  • Last Updated: December 31, 2020, 7:08 PM IST
  • Share this:
चेन्नई. ब्रिटेन (Britain) से हाल में चेन्नई (Chennai) लौटे एक व्यक्ति में कोरोना वायरस का नया प्रकार (Coronavirus New Strain) मिला है. राज्य के स्वास्थ्य सचिव ने गुरुवार को ये जानकारी दी. स्वास्थ्य सचिव ने बताया कि संक्रमित व्यक्ति पूरी तरह से ठीक है. पिछले 12 घंटे में, ब्रिटेन से लौटे दो लोग कोयंबटूर (Coimbatore) और चेन्नई (Chennai) आए हैं वह भी कोरोना वायरस से संक्रमित है. जिसके बाद वापस लौटने वाले संक्रमित लोगों की संख्या 22 हो गई है.

देश में अब तक ब्रिटेन में मिले कोरोना वायरस के नए प्रकार (स्ट्रेन) से कुल 25 लोगों के संक्रमित होने की पुष्टि हुई है. यह जानकारी केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने गुरुवार को दी. मंत्रालय ने बताया कि इन 25 संक्रमितों में मंगलवार और बुधवार को वायरस के नए प्रकार से संक्रमित 20 मरीज भी शामिल हैं. मंत्रालय ने बताया, ‘‘इन सभी 25 मरीजों को चिकित्सालयों में एकांतवास में रखा गया है.’’

ये भी पढ़ें- बदल गई IRCTC की वेबसाइट, अब ट्रेन टिकट बुक करते समय में मिलेंगी ये सुविधाएं



अन्य यात्रियों और उनके संपर्क की हो रही जांच
सरकार के मुताबिक गुरुवार को नए वायरस से संक्रमित मिले पांच मरीजों में से चार में संक्रमण की पुष्टि राष्ट्रीय विषाणु विज्ञान संस्थान,पुणे में हुई जांच से हुई जबकि एक मरीज के संक्रमित होने का पता जिनोमिकी और समवेत जीव विज्ञान संस्थान (आईजीआईबी) में हुई जांच से चला.

मंत्रालय ने बताया कि इसके बाद इन मरीजों के साथ आए यात्रियों एवं संपर्क में आए परिवार एवं अन्य सदस्यों का गहनता से पता लगाया जा रहा है. मंत्रालय ने मंगलवार को कहा, ‘‘स्थिति सतर्क निगरानी में है और राज्यों को निगरानी, रोकथाम, जांच एवं नमूनों को आईएनएसएससीओजी प्रयोगशाला भेजने के लिए नियमित रूप से परामर्श दिया जा रहा है.

उल्लेखनीय है कि ब्रिटेन में सबसे पहले मिले कोरोना वायरस के इस नए प्रकार की अब डेनमार्क, नीदरलैंड, ऑस्ट्रेलिया, इटली, स्वीडन, फ्रांस, स्पेन,स्विट्जरलैंड, जर्मनी, कनाडा, जापान, लेबनान और सिंगापुर में भी मौजूदगी की पुष्टि हो चुकी है. मंत्रालय ने बताया कि 25 नवंबर से 23 दिसंबर की मध्य रात्रि तक देश के विभिन्न हवाई अड्डों पर 33 हजार लोग ब्रिटेन से आए हैं. मंत्रालय ने बताया कि इन सभी यात्रियों की निगरानी की जा रही है और राज्य एवं केंद्र शासित प्रदेश आरटी-पीसीआर पद्धति से जांच करा रहे हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज