• Home
  • »
  • News
  • »
  • nation
  • »
  • कोरोना का नया स्ट्रेन ज्यादा जानलेवा या वैक्सीन होगी प्रभावित? 5 सवालों से समझिए ये कितना खतरनाक

कोरोना का नया स्ट्रेन ज्यादा जानलेवा या वैक्सीन होगी प्रभावित? 5 सवालों से समझिए ये कितना खतरनाक

ब्रिटेन में वैक्सीन कार्यक्रम के बीच फिर तेज़ी से फैल रहा है कोरोना वायरस.

ब्रिटेन में वैक्सीन कार्यक्रम के बीच फिर तेज़ी से फैल रहा है कोरोना वायरस.

Corona Virus New Strain: इस नए म्यूटेटेड वायरस का नाम बी117 है. यह वायरस पर मौजूद प्रोटीन स्पाइक्स के बदले हुए रूप से संबंधित है, जो इंसान के सेल्स से खुद को जोड़ लेता है. यह म्यूटेशन वायरस को बड़ी दर से सेल को संक्रमित करने के लिए तैयार करता है.

  • Share this:
    Coronavirus New Strain: दुनिया अभी भी कोरोना वायरस (Corona Virus) से जूझ रही है. इसी बीच इस वायरस का एक नया रूप ब्रिटेन में सामने आया है. इस नए स्ट्रेन (New Strain) की वजह से एक ओर जहां सभी देशों में दहशत है. वहीं, एक्सपर्ट्स भी लेकर खासे चिंतित नजर आ रहे हैं. भारत ने भी बुधवार से ब्रिटेन से आने वाली सभी फ्लाइट कैंसिल कर दी हैं. अब जब कोरोना का नया स्ट्रेन दस्तक दे चुका है, तो लोगों के मन में कई सवाल हैं. आइए समझते हैं कि क्या है यह वायरस और कितना खतरनाक है.

  • कब और कैसे सामने आया यह वायरस?

    ब्रिटेन में टेकपैथ कि टेस्ट किट की मदद से RT-PCR टेस्ट बड़े स्तर पर किए जा रहे हैं. खास बात है कि यह टेस्ट वायरस के तीन जीन दिखाता है. वहीं, कुछ समय से देश में ऐसे मामले बढ़ने लगे थे, जहां लोगों में केवल दो जीन ही नजर आ रहे थे. ऐसे मामलों में लगातार इजाफा हो रहा था. एक्सपर्ट्स ने जांच में पाया कि कोरोना वायरस का नया स्ट्रेन एक जीन को छिपा रहा है. कोरोना वायरस के इस नए रूप से जुड़ा मामला बीते 20-21 सितंबर को लंदन के केंट क्षेत्र में मिला था.


  • कितना जानलेवा और इस नए स्ट्रेन में क्या है?

    इस नए म्यूटेटेड वायरस का नाम बी117 (B117) है. यह वायरस पर मौजूद प्रोटीन स्पाइक्स के बदले हुए रूप से संबंधित है, जो इंसान के सेल्स से खुद को जोड़ लेता है. यह म्यूटेशन वायरस को बड़ी दर से सेल को संक्रमित करने के लिए तैयार करता है. बर्मिंघम विश्वविद्यालय के प्रोफेसर एलन मैकनली कहते हैं कि यह एक नए प्रकार का वायरस है, जिसके बार में जैविक रूप से हमें कोई जानकारी नहीं है. इसके असर के बारे में अभी बताया जाना सही नहीं है. जबकि, ब्रिटेन की तरफ से मिली जानकारी बताती है कि यह वायरस 70 फीसदी अधिक तेजी से फैलता है.


  • क्या वैक्सीन पर भी पड़ेगा प्रभाव?

    दुनियाभर के कई देशों इस संशय में हैं कि वैक्सीन (Corona Vaccine) वायरस के नए रूप को खिलाफ असरदार होगी या नहीं. विश्व स्वास्थ्य संगठन की महामारी विशेषज्ञ मारिया वेन केरक्होव के अुसार, कोविड-19 के नए रूप का रीप्रोडक्शन रेट 1.1 से बढ़कर 1.5 पर पहुंच गया है. हालांकि, उन्होंने इस नए रूप के चलते वैक्सीन या वैक्सीन प्रक्रिया पर किसी भी तरह के प्रभाव पड़ने की आशंका नहीं जताई.




  • यह भी पढ़ें: कोरोना वायरस के नए स्ट्रेन पर स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा- ये ज्यादा लोगों को बीमार करने वाला है

  • वायरस के इस नए रूप से कैसे बचाव करें?

    डब्ल्युएचओ ने कहा है कि आम सावधानियों की मदद से लोग खुद को नए स्ट्रेन से बचा सकते हैं. संगठन के मुताबिक, मास्क पहनने, हाथ धोने और सोशल डिस्टेंसिंग की मदद से वायरस से बचा जा सकता है. गौरतलब है कि डब्ल्युएचओ और ब्रिटेन के डॉक्टरों ने बी117 स्ट्रेन के फैलने की स्टडी के लिए एक व्यवस्था तैयार की है. वैज्ञानिकों के अनुसार, वायरस में हुआ यह म्यूटेशन प्राकृतिक है. वुहान में मिले कोरोना वायरस के बाद अब तक कोविड-19 वायरस करीब 25 बार म्यूटेट हो चुका है.


  • यूके और दूसरे देशों ने क्या कदम उठाए हैं?

    ब्रिटेन के प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन ने क्रिसमस के दौरान भी लंदन दक्षिण लंदन में कड़े लॉकडाउन (Lockdown) की घोषणा की है. वहीं, भारत में 23 से लेकर 26 दिसंबर तक लंदन से आने वाली सभी फ्लाइट को रद्द कर दिया है. इसके अलावा 23 दिसंबर से पहले आने वाले लोगों को यहां आने पर RT-PCR टेस्ट से गुजरना होगा. महाराष्ट्र राज्य सरकार ने कहा है कि मध्य पूर्वी क्षेत्रों और यूरोप से आने वाले लोगों को 15 दिन के इंस्टीट्यूशनल क्वारैंटाइन में रहना होगा. वहीं, दूसरे देशों से आने वाले लोगों को होम क्वारैंटाइन में रहना होगा.
  • पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज