सुशांत सिंह की मौत की जांच में आया नया मोड़, मुंबई पुलिस ने रिया को नहीं दी थी क्लीन चिट

सुशांत सिंह की मौत की जांच में आया नया मोड़, मुंबई पुलिस ने रिया को नहीं दी थी क्लीन चिट
मुंबई पुलिस ने बताया है कि उसकी तरफ से रिया को कभी क्लीन चिट नहीं दी गई थी

इसी इन्वेस्टिगेशन के तहत रिया के बयान दर्ज किए जाने के बाद भी उनसे पूछताछ जारी थी और रिया ने जांच से जुडी अहम जानकारियां भी मुंबई पुलिस को एक मेल से भेजी थीं. जिसमें उनसे सुशांत के आत्महत्या के पीछे की जानकारी मांगी गई थी.

  • News18Hindi
  • Last Updated: August 12, 2020, 7:06 PM IST
  • Share this:
मुंबई. मुंबई पुलिस (Mumbai Police) के सूत्रों के मुताबिक मुंबई पुलिस ने रिया चक्रबर्ती (Rhea Chakraborty) को कभी क्लीन चिट दी ही नहीं थी. वो सस्पेक्ट (suspect) बनी हुई थीं और इसे लेकर जांच जारी भी थी. पुलिस के सूत्रों ने कहा, लेकिन इन्वेस्टिगेशन की हर चीज सबके सामने जाहिर करना जरूरी नहीं था. सूत्रों के मुताबिक डीसीपी (DCP) अभिषेक त्रिमुखे के जो कॉल रिकॉर्ड (call record) मीडिया में गलत तरीके से बताए जा रहे हैं वो इसी इन्वेस्टिगेशन से जुड़े हुए हैं. इसी इन्वेस्टिगेशन के तहत रिया के बयान दर्ज किए जाने के बाद भी उनसे पूछताछ जारी थी और रिया को जांच से जुड़ी अहम जानकारियों के लिए मुंबई पुलिस (Mumbai Police) ने एक मेल (Mail) भी किया था. जिसमें सुशांत की आत्महत्या से जुड़ी जानकारी रिया से मांगी गई थी.

मुंबई पुलिस (Mumbai Police) के सूत्रों की माने तो सुशांत केस (Sushant Case) के इंवेस्टिगेटिंग ऑफिसर डीसीपी अभिषेक त्रिमुखे के जिन 4 कॉल्स और 1 मैसेज को लेकर सवाल खड़े किए जा रहे हैं वो असल में रिया के बयान, मेल और जांच (investigation) से जुड़े है. 19 जून 2020 को रिया ने मुंबई पुलिस के पास अपना बयान (statement) दर्ज करवाया था. 21 जून 2020 को डीसीपी (DCP) अभिषेक त्रिमुखे ने रिया चक्रबर्ती को पहली बार कॉल किया और पूछा था कि जिस तरह से नेपोटिज्म की बात अलग-अलग जगहों से सामने आ रही है, उसमें कितनी सच्चाई है... क्या सुशांत वास्तव में नेपोटिज्म का शिकार थे? क्या सुशांत और रिया में इस चीज को लेकर बातचीत हुई या नहीं? इस कॉल में रिया ने डीसीपी अभिषेक त्रिमुखे को बताया कि वो ट्रॉमा में है उन्हें कुछ याद नहीं की ऐसा कुछ हुआ.





डीसीपी ने पुलिस का आधिकारिक ईमेल शेयर कर जानकारी देने को कहा था
जिसके बाद डीसीपी अभिषेक त्रिमुखे ने रिया को मैसेज में मुंबई पुलिस के जोन-9 का आधिकारिक ईमेल शेयर किया था और रिया से कहा था कि हो सकता है कि आप ट्रॉमा में हों. लेकिन आपके पास कोई जानकारी हो, जो आपने बयान में दर्ज नहीं करवाई हो, या फिर आप जानकारी साझा करने में हिचकिचा रही हों. तो इस मेल आईडी पर दे दें.

2 दिनों तक जब रिया ने कोई जवाब नही दिया तो डीसीपी अभिषेक त्रिमुखे ने उन्हें वापस कॉल कर जानकारी देने के लिए कहा. बाद में रिया ने मुंबई पुलिस को एक मेल किया जिसमें सुशांत से जुड़ी जानकारी साझा की गई थी. मुंबई सुत्रों के मुताबिक रिया को लेकर इस पूरे मामले में उनकी पैरलल इन्वेस्टिगेशन जारी थी.

मामला SC में विचाराधीन, नहीं साझा कर सकते मेल की जानकारी: पुलिस
मुंबई पुलिस के सूत्रों की माने तो रिया के मुंबई पुलिस को मेल करने के बाद मुंबई पुलिस ने अलग से रिया को मेल में दी गई जानकारी के आधार पर पूछताछ के लिए जोन-8 के डीसीपी ऑफिस में बुलाकर दुबारा पूछताछ भी की थी.

यह भी पढ़ें:- सुशांत के पिता के वकील बोले- बिहार से FIR मुंबई ट्रांसफर होने की नहीं उम्‍मीद

और रिया से मुंबई पुलिस लगातार संपर्क में भी थी. हालांकि रिया की ओर से मुंबई पुलिस को मेल में क्या जानकारी साझा की गई इसका खुलासा मुंबई पुलिस नहीं करना चाहती है. और इसके लिए मामले के सुप्रीम कोर्ट में विचाराधीन होने का हवाला दिया गया है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज