BJP-शिवसेना को हराने के लिए कांग्रेस करेगी राज ठाकरे के साथ गठबंधन!

नये अध्यक्ष भाजपा-शिवसेना को हराने के लिए चाहते हैं गठबंधन.
नये अध्यक्ष भाजपा-शिवसेना को हराने के लिए चाहते हैं गठबंधन.

महाराष्‍ट्र कांग्रेस के नये अध्‍यक्ष बालासाहेब थोरात दावा कर रहे हैं कि आने वाले चुनाव के बाद कांग्रेस का ही मुख्यमंत्री होगा.

  • Share this:
महाराष्ट्र में 2 महीने बाद विधानसभा चुनाव होने वाले हैं. उससे पहले कांग्रेस जोड़-तोड़ की लड़ाई में लगी हुई है. कुछ ही दिन पहले महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना के प्रमुख राज ठाकरे ने सोनिया गांधी से मुलाकात की थी. जबकि आज राज्य के नवनियुक्त कांग्रेस अध्यक्ष बालासाहेब थोरात ने सोनिया गांधी और राहुल गांधी से मुलाकात की है. सूत्रों के मुताबिक, इस मुलाकात के दौरान आने वाले विधानसभा चुनाव में महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना के प्रमुख राज ठाकरे एवं बहुजन वंचित आघाड़ी के प्रमुख प्रकाश आंबेडकर को गठबंधन में शामिल करने को लेकर बातचीत हुई है.

कांग्रेस ने महाराष्‍ट्र में उठाया ये कदम
प्रदेश में 2 दिन पूर्व कांग्रेस की ओर से नये अध्यक्ष की नियुक्ति हुई है. अशोक चव्हाण की जगह पर बालासाहेब थोरात को प्रदेश अध्यक्ष बनाया गया है. वह नयी जिम्‍मेदारी संभालने के बाद आज पहली बार दिल्ली आए और यहां आते ही उन्होंने सोनिया गांधी और राहुल गांधी से मुलाकात की है. इस मुलाकात के दौरान राष्ट्रवादी कांग्रेस और कांग्रेस पार्टी में जो गठबंधन हो रहा है उस पर बात की गई.

सोनिया गांधी और राहुल गांधी से मिले महाराष्‍ट्र कांग्रेस के नये अध्‍यक्ष बालासाहेब थोरात.

भाजपा गठबंधन को ऐसे करेंगे पराजित


जानकारी के मुताबिक, अगर राज ठाकरे और प्रकाश आंबेडकर इस गठबंधन में शामिल होते हैं तो भारतीय जनता पार्टी को पराजित करने में काफी मदद मिल सकती है. जबकि कुछ दिन पहले राज ठाकरे की जो छवि थी उसे बदलने के लिए शरद पवार ने राज ठाकरे को उत्तर भारतीय सम्मेलन में शामिल होने के लिए कहा था. वहीं, उस सम्मेलन में उन्होंने अपनी भूमिका रखते हुए कहा था कि कुछ दिन पहले सोनिया गांधी के साथ जो मुलाकात हुई उसके पीछे भी शरद पवार थे. ऐसी चर्चा दिल्ली की राजनीतक गलियारों में है कि अगर यह गठबंधन बन जाता है तो शिवसेना-भाजपा को आने वाले विधानसभा चुनाव में काफी दिक्कत उठानी पड़ सकती है.

नये प्रदेश अध्‍यक्ष का दावा
महाराष्‍ट्र कांग्रेस के नये अध्‍यक्ष बालासाहेब थोरात दावा कर रहे हैं कि आने वाले चुनाव के बाद कांग्रेस का ही मुख्यमंत्री होगा. उसके पीछे यही सच है कि राज ठाकरे को गठबंधन में शामिल करने को लेकर कांग्रेस काफी उत्साहित है. यही वजह है कि अभी तक राज्य के जो नेता राज ठाकरे के खिलाफ बोलते थे, अब उनके बोल बदल गए हैं. यकीनन अगर राज ठाकरे और कांग्रेस साथ आती है तो विधानसभा चुनाव काफी दिलचस्प बन सकता है.

ये भी पढ़ें-बाढ़, बारिश से आफत, पश्चिम बंगाल जैसे ही हैं बांग्लादेश के हालात

साक्षी-अजितेश मामले में हाईकोर्ट का बड़ा फैसला, कहा-2 महीने में रजिस्टर्ड कराएं शादी
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज