Home /News /nation /

केरल में कोरोना के नए वैरिएंट की खबरें झूठी और निराधार: स्वास्थ्य मंत्रालय

केरल में कोरोना के नए वैरिएंट की खबरें झूठी और निराधार: स्वास्थ्य मंत्रालय

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने ऐसी खबरों का खंडन किया है. (सांकेतिक तस्वीर-AP)

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने ऐसी खबरों का खंडन किया है. (सांकेतिक तस्वीर-AP)

खबर आई थी कि केरल में कोविड-19 संक्रमण के 40000 से ज्यादा ब्रेकथ्रू मामले (breakthrough cases) दर्ज किए गए हैं. माना जा रहा था कि हॉटस्पॉट बने इस राज्य में ये नए वेरिएंट की दस्तक हो सकती है या फिर डेल्टा वेरिएंट में म्यूटेशन हो सकता है.

अधिक पढ़ें ...

    नई दिल्ली. केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने केरल में कोरोना के किसी नए वैरिएंट की आशंका से इंकार किया है. मंत्रालय ने उन खबरों को गलत और निराधार बताया है जिनमें केरल में नए वैरिएंट से संबंधित आशंकाओं का जिक्र किया गया था. दरअसल इससे पहले खबर आई थी कि केरल में कोविड-19 संक्रमण के 40000 से ज्यादा ब्रेकथ्रू मामले दर्ज किए गए हैं. माना जा रहा था कि हॉटस्पॉट बने इस राज्य में ये नए वेरिएंट की दस्तक हो सकती है या फिर डेल्टा वेरिएंट में म्यूटेशन हो सकता है. दरअसल जिन लोगों को वैक्सीन लगने के बाद कोविड हो जाता है उसे ब्रेकथ्रू मामला कहा जाता है.

    केरल के आठ जिलों का दौरा कर चुकी छह सदस्यीय एक केंद्रीय टीम ने कहा है कि एक अगस्त से 20 अगस्त तक राज्य में कोविड-19 के करीब 4.6 लाख मामले सामने आ सकते हैं. केंद्रीय टीम का नेतृत्व करने वाले राष्ट्रीय रोग नियंत्रण केंद्र (NCDC) के निदेशक डॉ. सुजीत सिंह ने मंगलवार को बताया था कि राज्य सरकार हालात का जायजा लेकर वैक्सीन के दोनों डोज के बीच की समयवाधि पर फैसला कर सकती है.

    एक्सपर्ट ने जाहिर की है चिंता
    इससे पहले सिंह ने कहा कि ओणम का त्योहार (20 अगस्त) नजदीक आने के साथ अनलॉक (पाबंदियां हटाने की) गतिविधियों और पर्यटन स्थलों को खोलने से चुनौतीपूर्ण हालात पैदा हो गए हैं और यह चिंता का विषय है. केंद्र ने कहा कि देश में पिछले सात दिनों में सामने आए कोविड-19 के आधे से अधिक मामले केरल से हैं. सिंह ने कहा कि इस दक्षिणी राज्य में टीके की दोनों खुराक के बाद भी अधिक संख्या में पुनर्संक्रमण के मामले हैं और इस विषय की जांच की जा रही है.

    Tags: COVID 19, Kerala

    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर