अपना शहर चुनें

States

LIVE NOW

NEWS BLOG: PM मोदी फिटनेस चैलेंज का देते हैं जवाब, फिर तूतीकोरिन हिंसा पर चुप क्यों?

देश, दुनिया, मनोरंजन, बिजनेस और मोबाइल-टेक की ताज़ा खबरों के लिए बने रहें...

Hindi.news18.com | May 24, 2018, 7:24 PM IST
facebook Twitter Linkedin
Last Updated May 24, 2018

हाइलाइट्स

7:17 pm (IST)

तूतीकोरिन गोलीकांड पर सियासत तेज हो गई है. अब तक प्रदर्शन में 13 मौतें हो चुकीं है. इस बीच कांग्रेस ने मोदी सरकार से तूतीकोरिन पर 11 सवाल पूछे हैं. कांग्रेस नेता अभिषेक मनु सिंघवी ने आज प्रेस कॉन्फ्रेंस कर तूतीकोरिन पर सरकार की भूमिका पर सवाल उठाए

3:50 pm (IST)

तमिलनाडु के मुख्यमंत्री ई पलानीस्वामी ने प्रदर्शनकारियों पर पुलिस के गोली चलाने का समर्थन किया है. पलानीस्वामी ने ट्वीट किया, 'जब कोई आपको मारता है तो आप खुद को बचाने की कोशिश करते हैं. तो ऐसी स्थिति में कोई भी प्री-प्लान्ड तरीके से काम नहीं करता है.' उन्होंने विपक्षी पार्टियों पर प्रदर्शनकारियों को भड़काने का आरोप लगाया. उन्होंने कहा, '22 मार्च को कुछ असामाजिक तत्व प्रदर्शन में शामिल हो गए और पुलिस पर हमल कर दिया. उन्होंने पुलिस की गाड़ियां जला दीं. ऐसी परिस्थिति में पुलिस को गोली चलानी पड़ी. गोली चलाना पुलिस के प्लान का हिस्सा नहीं था'


3:21 pm (IST)
गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने गुरुवार को तूतीकोरिन की जनता से क्षेत्र में शांति बनाए रखने की अपील की है. गृह मंत्रालय ने तमिलनाडु सरकार से पुलिस फायरिंग और हिंसा को लेकर रिपोर्ट भी मांगी है. राजनाथ ने कहा, “तमिलनाडु के तूतीकोरिन में हिंसक प्रदर्शन में लोगों की मौत दुखद है. घटना पर संज्ञान लेते हुए गृह मंत्रालय ने राज्य सरकार से इस घटना की पूरी रिपोर्ट मांगी है. मेरी संवेदनाएं मृतकों को परिवार के साथ हैं और मैं घायलों के जल्द कुशल होने की कामना करता हूं.”

3:01 pm (IST)

डीएमके नेता एमके स्टालिन को सीएम ऑफिस से उठाकर बाहर निकालती पुलिस.


1:23 pm (IST)

तमिलनाडु के मुख्यमंत्री ई पलानीस्वामी ने तूतीकोरिन हिंसा को लेकर मीडिया को संबोधित किया. उन्होंने पुलिस के एक्शन को उचित बताते हुए कहा कि असामाजिक तत्वों ने पुलिस को गोली चलाने पर मजबूर किया. मुख्यमंत्री ने कहा कि एमके स्टालिन ने उनसे मिलने के लिए कोई अपॉइंटमेंट नहीं मांगा था और उनके ऑफिस के बाहर डीएमके लीडर का हंगामा महज एक राजनीतिक ड्रामा था.

1:17 pm (IST)

हिरासत में लिये जाने के बाद एमके स्टालिन ने कहा, 'मैं गिरफ्तार होने से डरता नहीं हूं. मुझे पता था यह सब होने वाला है. वो लोग पहले ही 13 लोगों को मार चुके हैं. वे चाहें तो मुझे भी मार सकते हैं. डीएमके और कांग्रेस तूतीकोरिन के लिए लंबे समय से प्रदर्शन कर रहे हैं, वहां स्थिति बेहद भयावह है. कलेक्टर ने नाम के लिए कुछ बदलाव किये हैं लेकिन पुलिस के खिलाफ कोई एक्शन नहीं लिया गया है. मुख्यमंत्री ने अब तक पीड़ितों से मुलाकात नहीं की है इसी से पता चलता है कि यह सरकार कितनी भयावह है. हमने एमजीआर, अन्ना, कामराज और कलाइंगर की सरकारें देखी हैं. जब वे सत्ता में थे ऐसी परिस्थितियों में मुख्यमंत्री कम से कम एक्शन तो लेते थे.'

12:36 pm (IST)
तमिलनाडु के मुख्यमंत्री ई पलानी स्वामी के ऑफिस के बाहर गुरुवार को हुए हंगामे के बाद डीएमके के कार्यकारी अध्यक्ष एमके स्टालिन को सीएम ऑफिस परिसर से बलपूर्वक बाहर निकाला गया. वह अपनी पार्टी के कार्यकर्ताओं के साथ सीएम से मिलने पहुंचे थे लेकिन इसकी अनुमति नहीं मिलने पर वह सीएम ऑफिस के बाहर धरने पर बैठ गए थे. सीएम हाउस के बाहर प्रोटेस्ट करने के चलते पुलिस ने उन्हें हिरासत में ले लिया है.

12:15 pm (IST)
तूतीकोरिन हिंसा में 13 लोगों की मौत के बाद डीएमके नेता एमके स्टालिन सीएम ई पलानीस्वामी से मिलने पहुंचे. सीएम से अपॉइंटनमेंट नहीं मिलने पर स्टालिन डीएमके कार्यकर्ताओं के साथ सीएम हाउस के बाहर धरने पर बठ गए. स्टालिन ने बुधवार को सीएम ओपीएस और डीजीपी टीके राजेंद्रन के इस्तीफे की मांग की थी. उन्होंने कहा था कि तूतीकोरिन में हुई हिंसा और पुलिस के व्यवहार की नैतिक जिम्मेदारी लेते हुए दोनों को इस्तीफा दे देना चाहिए.

 

11:21 am (IST)
तूतीकोरिन में पुलिस फायरिंग में मरने वालों की संख्या बढ़कर 13 हो गई है. मंगलवार को स्टरलाइट कॉपर स्मेल्टिंग प्लांट को बंद करने की मांग को लेकर प्रदर्शन कर रहे लोगों पर पुलिस ने फायरिंग कर दी थी. इस फायरिंग में 11 लोगों की मौत हो गई थी. बुधवार को पुलिस ने अन्ना नगर में भीड़ पर गोली मारी जिसमें 1 युवक की मौत हो गई थी. प्रदर्शनकारियों का दावा है कि पुलिस ने बिना किसी प्रोवोकेशन के गोलियां चलाई, वहीं पुलिस का कहना है कि प्रदर्शनकारी उन पर पत्थर फेंक रहे थे इसलिए उन्हें यह कदम उठाना पड़ा.

LOAD MORE
तमिलनाडु के तूतीकोरिन में हुई हिंसा पर गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने तमिलनाडु सरकार से रिपोर्ट मांगी है. यहां पुलिस की गोली से 13 लोगों की मौत हो गई है. वहीं तमिलनाडु के मुख्यमंत्री ई पलानीस्वामी ने फायरिंग को लेकर पुलिस का बचाव किया है. तमिलनाडु पॉल्यूशन कंट्रोल बोर्ड के आदेश के बाद तूतीकोरिन में स्टरलाइट कॉपर स्मेल्टिंग प्लांट में बिजली सप्लाई बंद कर दी गई है. TNPCB ने अपने आदेश में कहा कि निरीक्षण में यह पाया गया कि प्लांट की यह यूनिट अपना प्रोडक्शन ऑपरेशन दोबारा शुरू करने की दिशा में काम कर रही थी. यहां जारी विरोध प्रदर्शन को देखते हुए इंटरनेट सेवाएं बंद कर दी गई हैं. वहीं लोगों की मौत और राज्य की एआईएडीएमके सरकार के विरोध में डीएमके ने 25 मई को प्रदेशव्यापी बंद का आह्वान किया है. पार्टी की मांग है कि स्टरलाइट प्लांट को हमेशा के लिए बंद कर दिया जाए. तूतीकोरिन में पुलिस की गोली से 13 लोगों की मौत के विरोध में तमिलनाडु सीएम आवास के बाहर धरने पर बैठे डीएमके के कार्यकारी अध्यक्ष एमके स्टालिन को जबरदस्ती वहां से हटाया गया. धरने पर बैठे कार्यकर्ताओं का दावा है कि उन्हें सीएम से मिलने की अनुमति नहीं दी गई.

वहीं. तूतीकोरिन गोलीकांड पर सियासत तेज हो गई है. अब तक प्रदर्शन में 13 मौतें हो चुकीं है. इस बीच कांग्रेस ने मोदी सरकार से तूतीकोरिन पर 11 सवाल पूछे हैं. कांग्रेस नेता अभिषेक मनु सिंघवी ने आज प्रेस कॉन्फ्रेंस कर तूतीकोरिन पर सरकार की भूमिका पर सवाल उठाए

देश, दुनिया, मनोरंजन, बिजनेस और मोबाइल-टेक की ताज़ा खबरों के लिए बने रहें...

फोटो

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

चिंता के विचार आपकी ख़ुशी को बर्बाद कर सकते हैं। ऐसा न होने दें, क्योंकि इनमें अच्छी चीज़ों को ख़त्म करने की और समझदारी में निराशा का ज़हरीला बीज बोने की क्षमता होती है। ख़ुद को हमेशा अच्छा परिणाम पाने के लिए प्रोत्साहित करें और ख़राब हालात में भी कुछ-न-कुछ अच्छा देखने का गुण विकसित करें। ख़ास लोग ऐसी किसी भी योजना में रुपये लगाने के लिए तैयार होंगे, जिसमें संभावना नज़र आए और विशेष हो। भूमि से जुड़ा विवाद लड़ाई में बदल सकता है। मामले को सुलझाने के लिए अपने माता-पिता की मदद लें। उनकी सलाह से काम करें, तो आप निश्चित तौर पर मुश्किल का हल ढूंढने में क़ामयाब रहेंगे। किसी से अचानक हुई रुमानी मुलाक़ात आपका दिन बना देगी। काम के लिए समर्पित पेशेवर लोग रुपये-पैसे और करिअर के मोर्चे पर फ़ायदे में रहेंगे। सफ़र के लिए दिन ज़्यादा अच्छा नहीं है। जीवनसाथी के ख़राब व्यवहार का नकारात्मक असर आपके ऊपर पड़ सकता है। स्वयंसेवी कार्य या किसी की मदद करना आपकी मानसिक शांति के लिए अच्छे टॉनिक का काम कर सकता है। परेशान? आप पंडित जी से प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें

टॉप स्टोरीज