लाइव टीवी

NEWS18 'बैठक' में मनीष तिवारी ने कहा- 2019 का चुनाव राम नहीं, काम के नाम पर होगा

News18Hindi
Updated: August 7, 2018, 1:53 PM IST

NEWS18 इंडिया के बैठक में मनीष तिवारी ने कहा, '2014 में मोदी ने सबका साथ सबका विकास कहा, पिछले 50 महीनों में न सबका साथ, उनके अपने विकास के बारे में कह नहीं सकता, 15 लाख का क्या हुआ?

  • News18Hindi
  • Last Updated: August 7, 2018, 1:53 PM IST
  • Share this:
NEWS18 इंडिया के बैठक कार्यक्रम के सेशन '2019 में राम भरोसे राजनीति'  में बीजेपी सांसद सुब्रमण्यम स्वामी, कांग्रेस नेता मनीष तिवारी और एमआईएम प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी पहुंचे. इस दौरान स्वामी ने कहा कि 2019 का चुनाव राम मंदिर बनाने की प्रक्रिया शुरू होने के मुद्दे पर लड़ा जाएगा.

मनीष तिवारी ने कहा, '2014 में मोदी ने सबका साथ सबका विकास कहा, पिछले 50 महीनों में न सबका साथ, उनके अपने विकास के बारे में कह नहीं सकता, 15 लाख का क्या हुआ? 2 करोड़ नौकरियों का क्या हुआ? बाकी वायदों का क्या हुआ? गुमराह करने की कोशिश ज़रूर की जाएगी, लेकिन जनता बहुत संजीदा है. 50-60 महीनों की कारगुज़ारियों पर चुनाव होगा.'

यह भी पढ़ें: NEWS18 बैठक: सिंधिया बोले- देश में अमन-चैन लाने के लिए मिलकर लड़ेंगे 2019 का चुनाव



स्वामी ने कहा, विकास करने वाले भी चुनाव में हारते हैं. नरसिम्हा राव ने सबसे ज़्यादा विकास किया, लेकिन वह बुरी तरह से चुनाव हारे. वाजपेयी ने इंडिया शाइनिंग किया, लेकिन चुनाव हार गए. सिर्फ विकास नहीं भावनाओं पर चुनाव लड़े और जीते जाते हैं.



बैठक में स्वामी ने इसके साथ ही कहा, 'मेरी कही कई बातें प्रधानमंत्री मान लेते हैं, जैसे जीएसटी की कुछ बातें जेटली ने नहीं मानी, लेकिन प्रधानमंत्री ने मान लीं.' इस पर ओवैसी ने सवाल किया कि प्रधानमंत्री को चार साल क्यों लग गए और स्वामी को फाइनेंस मिनिस्टर नहीं बना पाए.

यह भी पढ़ें:NEWS18 बैठक: चिराग पासवान ने पूछा- 70 साल बाद भी SC/ST आयोग जरूरत क्यों?

वहीं ओवैसी ने कहा, 'अगर स्वामी को लगता है कि मुस्लिमों को मार कर वोट मिलेगा और वह जीत जाएंगे तो यह गलतफहमी है. जीत मॉब लिंचिंग से नहीं होगी. बीजेपी क्षेत्रीय पार्टियों से मुकाबला नहीं कर सकती. भारत की जनता दोनों राष्ट्रीय पार्टी को देख चुकी है, अब वो तीसरे की तरफ देखेगी.' असदुद्दीन ओवैसी ने कहा, मैं हिन्दुस्तान का पॉलीटिकल दलित हूं और मुझे फर्क है उस बात का. मैं न इधर हूं न उधर हूं.

यह भी पढ़ें:NEWS18 'बैठक': मनीष सिसोदिया बोले- मैं तो चाहता हूं अरविंद केजरीवाल बनें पीएम
मनीष तिवारी ने कहा, बीजेपी ने 2014 में गाय के नाम पर वोट नहीं मांगा. बीजेपी ने विकास के मुद्दे पर प्रचार किया, लेकिन सरकार में आते ही विकास को पीछे छोड़ दिया. बीजेपी पहले दिन से देश में कटुता फैला रही है.' मनीष तिवारी के बयान पर सुब्रमण्यम स्वामी ने कहा, 'हम विकास के मुद्दे पर नहीं जीते थे. हम हिन्दुत्व और भ्रष्टाचार के मुद्दे पर जीते थे.'


कांग्रेस पर कटाक्ष करते हुए स्वामी ने कहा, 'इनके सारे नेता बेल पर बाहर हैं. मोदी ने कहा इनके नेता बेल-गाड़ी पर आ गए हैं. चुनाव आने तक इनके सारे नेता जेल में होंगे. चुनाव आने तक विपक्ष के सारे नेता जेल पहुंच जाएंगे. स्वामी के इस बयान पर पलटवार करते हुए तिवारी ने कहा, सारे विपक्ष को जेल में डाल दीजिए, लेकिन याद कीजिए जॉर्ज फर्नांडीज़ 1977 में कैसे चुनाव जीत कर आए थे. आप ये सब छोड़िये बस ये बता दीजिए कि राफेल विमान कितने में खरीदा है.


मनीष तिवारी ने कहा, 'मैं स्वामी को चुनौती देता हूं कि वो विपक्ष के नेताओं के जेल में डालकर दिखाएं. वह पहले ये बताएं कि कितने में राफेल विमान खरीदा. आप राफेल की कीमत बताने में क्यों घबरा रहे हैं.'


बैठक में मनीष तिवारी की चुनौती पर स्वामी ने कहा, 'नेशनल हेराल्ड में मैंने सरकार से कोई मदद नहीं मांगी. 2जी में भी मैंने ऐसा ही किया. कांग्रेस के नेता राफेल पर अदालत में क्यों नहीं जाते. मैं तो वकील भी नहीं, कांग्रेस में कई वकील हैं, लेकिन इनके वकीलों को इतना भी नहीं पता कि वो कोर्ट जाकर अपील करें. अगर कांग्रेस को हिम्मत है तो कोर्ट की तरफ जाएं.'




वहीं ओवैसी ने दावा किया कि 2019 में बीजेपी खत्म होने वाली है. उन्होंने कहा, 'हममें ये काबिलियत होनी चाहिए कि बीजेपी को 150 से कम पर कैसे लाएं. 2019 का मुकाबला अगर कांग्रेस और बीजेपी में होगा तो वो सही नहीं होगा, क्षेत्रीय पार्टियों को आगे आना होगा. मेरा मकसद बीजेपी को हराना है. मैं कांग्रेस के खिलाफ हूं, लेकिन चाहता हूं कि मोदी हार जाएं.'


ओवैसी ने कहा, जब भी हम आबादी के मुद्दे पर चर्चा करते हैं, हम हमेशा मुसलमानों के बारे में क्यों सोचते हैं? बीजेपी विकास संबंधी मुद्दों पर बात नहीं कर सकती है. वे भावनात्मक मुद्दों को चुनते हैं. SC/ST Act पर ओवैसी ने कहा,  सरकार का SC/ST एक्ट लाना शाहबानो मामले जैसा है.


इसी मुद्दे पर स्वामी ने कहा कि कई मामलों में एससी/एसटी एक्ट का गलत इस्तेमाल होता है. मैंने एससी/एसटी एक्ट पर सुप्रीम कोर्ट के फैसले का समर्थन किया था.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: August 7, 2018, 1:22 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
corona virus btn
corona virus btn
Loading