चौपाल: कांग्रेस का आरोप, चुनाव से पहले पीएम ने कहा था हर सांसद के पेज पर 3 लाख लाइक होने चाहिए

चौपाल: कांग्रेस का आरोप, चुनाव से पहले पीएम ने कहा था हर सांसद के पेज पर 3 लाख लाइक होने चाहिए
चौपाल कार्यक्रम में पवन खेरा, संजय सिंह, सुधांशु त्रिवेदी

News18 इंडिया का चौपाल कार्यक्रम (News18 India Chaupal) कार्यक्रम में कांग्रेस प्रवक्ता पवन खेड़ा, आम आदमी पार्टी के सांसद संजय सिंह और बीजेपी के प्रवक्ता सुधांशु त्रिवेदी ने फेसबुक मुद्दे पर अपना-अपना पक्ष रखा.

  • News18Hindi
  • Last Updated: August 18, 2020, 4:57 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. देश की राजनीति में फेसबुक और व्हाट्सएप को लेकर छिड़े विवाद पर News18 के चौपाल कार्यक्रम में कांग्रेस प्रवक्ता पवन खेड़ा ने कहा कि देश के लिए राजनीति बहुत जरूरी है. बीजेपी पर फेसबुक को कंट्रोल करने का आरोप लगाते हुए पवन खेड़ा ने कहा, अरूण जेटली जब 2012 में विपक्ष के नेता थे तब अंखी दास उनके लैटर्स ड्राफ्ट किया करती थी. कुछ लोग तो सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर मजाक बनाते हैं कि अंखी दास तो ऐसा लगता है कि वो प्रधानमंत्री मोदी की पोती हैं. खेड़ा ने कहा, चुनाव से पहले प्रधानमंत्री मोदी ने कहा था कि हर सांसद के पेज पर 3 लाख लाइक होने चाहिए अन्यथा टिकट नहीं मिलेगा. पवन खेड़ा ने कहा, 'बीजेपी फेसबुक को क्यों लाभ पहुंचाना चाह रही है, ये बात किसी को समझ नहीं आ रही है.'

संजय सिंह ने बीजेपी पर लगाए गंभीर आरोप
राज्यसभा सांसद और आम आदमी पार्टी के नेता संजय सिंह ने कहा, सोशल मीडिया का इस्तेमाल अगर गलत तरीके से किया जाए तो ये नफरत फैला सकती है. ये सत्य है कि फेसबुक और व्हाट्सएप के जरिए गलत तरीकों से खबरें फैलती है. संजय सिंह ने कहा कि आरएसएस और बीजेपी किसी भी चुनाव में सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म को कंट्रोल करते हुए अफवाहें और नफरत फैलाने का काम करती हैं. जिसके जरिए हिंसा फैलती है.

नफरत फैलाने वाली स्पीच के कारण दंगे भड़के
आप सांसद संजय सिंह ने कहा कि फेसबुक पर सबसे ज्यादा नफरत फैलाने वाली स्पीच बताई गई जिसके बाद दिल्ली के दंगे भड़के. उन्होंने कहा कि बीजेपी का दंगे फैलाने का इतिहास रहा है. शाहीन बाग के आंदोलन को लेकर पूरे चुनाव का माहौल बिगाड़ने का काम BJP ने किया है.



'वॉल स्ट्रीट जर्नल' में छपे लेख का जिक्र
बीजेपी नेता सुधांशु त्रिवेदी ने अपना पक्ष रखते हुए कहा कि सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म का गलत इस्तेमाल जिसके जरिए भी किया जा रहा है उसकी जांच होनी चाहिए. बीजेपी नेता सुधांशु त्रिवेदी ने कहा कपिल मिश्रा के वीडियो में ऐसा कुछ भी नहीं था जिसे नफरत फैलाने वाला कहा जाए, लेकिन कौन थे वो जिन्होंने कहा था कि सड़क पर आकर आर-पार करने की बात कही थी. इस दौरान सुधांशु त्रिवेदी ने कांग्रेस और आम आदमी पार्टी को निशाना बनाया. 'वॉल स्ट्रीट जर्नल' में छपे लेख का जिक्र करते हुए सुधांशु त्रिवेदी ने कहा, अगर किसी विदेश के अखबार में लिखे एक आर्टिकल पर विपक्ष संसद की समीति बनाने की बात कर रही है तो मैं इसका स्वागत करता हूं.

सुधांशू त्रिवेदी ने कहा, कांग्रेस के लोग शाहीन बाग गए. हालांकि सारे वोट आम आदमी पार्टी को मिले.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज