होम /न्यूज /राष्ट्र /

Rising India HIGHLIGHTS: गरीबी में गिरावट, अर्थव्यवस्था में तेजी बिना नौकरी के संभव है क्या- पीएम मोदी

Rising India HIGHLIGHTS: गरीबी में गिरावट, अर्थव्यवस्था में तेजी बिना नौकरी के संभव है क्या- पीएम मोदी

न्यूज 18 राइजिंग इंडिया के लाइव अपडेट्स के लिए बने रहें...

  • News18Hindi
  • | February 25, 2019, 22:47 IST
    LAST UPDATED 4 YEARS AGO

    हाइलाइट्स

    21:09 (IST)

    जब देश में पहले की तुलना में कई गुना रफ्तार से सड़क बनाने का काम चल रहा है, रेल मार्गों के विस्तार का काम हो रहा है. गरीबों के लिए लाखों मकान बनाने से लेकर नए पुल, नए बांध, नए हवाई अड्डे रिकॉर्ड कार्य हो रहा हैं. तो क्या ये संभव है कि रोजगार पैदा नहीं हुए हों? बीते 4 वर्षों में विदेशी पर्यटकों की संख्या में क़रीब 45% की वृद्धि हुई है. पर्यटन से होने वाली विदेशी मुद्रा की कमाई भी बीते 4 वर्षों में 50% बढ़ गई है. भारत के एविएशन सेक्टर में भी ऐतिहासिक बढ़ोतरी हुई है. क्या इन सबसे रोजगार के अवसर सृजित नहीं हुए हैं?- प्रधानमंत्री

    21:04 (IST)
    जरा सोचिए भारत जब सबसे तेजी से बढ़ने वाली अर्थव्यवस्था बन गया है तो क्या ये संभव है कि बिना नौकरी को सृजित किए ये हो जाए? जब देश में एफडीआई All-Time High है तो क्या ये संभव है कि नौकरियां पैदा नहीं हो रही हों? जब कई अंतरराष्ट्रीय रिपोर्ट कह रही हैं कि भारत सबसे तेजी से गरीबी हटा रहा है तो क्या ये संभव है कि बिना नौकरी के लोग गरीबी से बाहर आ रहे हों?: PM

    21:02 (IST)

    हमारे यहां किस तरह जनता के पैसे को जनता का न समझने की परंपरा अरसे तक हावी रही है, आप भी जानते हैं. अगर ऐसा न होता तो सैकड़ों योजनाएं दशकों तक अधूरी न रहतीं, अटकती-भटकती न रहतीं. इसलिए ही हमारी सरकार, योजनाओं में देरी को आपराधिक लापरवाही से कम नहीं मानती: पीएम मोदी

    20:52 (IST)
    हमारी सरकार ने प्रधानमंत्री किसान योजना की शुरुआत की है. 12 करोड़ किसान परिवारों को उसकी जरूरत पूरा करने के लिए उदाहरण के लिए चारा खरीदने, बीज खरीदने, खाद खरीदने के लिए सरकार 75 हजार करोड़ रुपए सीधे किसानों के खाते में ट्रांसफर करने जा रही है. लीकेज संभव नहीं है. अब सोचिए, किसी को चारा घोटाला करना हो तो कैसे करेगा? क्योंकि अब तो सीधे मोबाइल पर मैसेज आता है, कच्ची-पक्की पर्ची का तो सारा इंतजाम ही मोदी ने खत्म कर दिया है. इसलिए ही तो मुझे पानी पी-पी कर गाली दी जाती है: PM

    20:48 (IST)
    जनधन अकाउंट, आधार और मोबाइल को जोड़ने का नतीजा ये हुआ कि एक के बाद एक करके कागजों में दबे हुए फर्जी नाम सामने आने लगे. आप सोचिए, अगर आपके ग्रुप में 50 लोग ऐसे हो जाएं जिनकी हर महीने सैलरी जा रही हो, लेकिन वो हकीकत में हो ही नहीं, तो क्या होगा. पहले की सरकारों ने, देश में जो व्यवस्था बना रखी थी, उसमें एक-दो नहीं 8 करोड़ ऐसे फर्जी नाम थे, जिनके नाम पर सरकारी लाभ ट्रांसफर किया जा रहा था. साथियों, सरकार के इस प्रयास से एक लाख 10 हजार करोड़ रुपए से ज्यादा गलत हाथों में जाने से बच रहे हैं: प्रधानमंत्री

    20:46 (IST)

    हमारी सरकार के दौरान करीब-करीब 6 लाख करोड़ रुपए केंद्र सरकार ने सीधे लाभार्थियों के खाते में भेजे हैं. और मुझे ये कहते हुए गर्व है कि पहले की तरह 100 में से सिर्फ 15 पैसे नहीं, बल्कि पूरे पैसे लाभार्थियों को मिल रहे हैं: PM

    20:41 (IST)

    भारत की ग्लोबल स्टैंडिंग की बात करें तो हम पढ़ते आए थे कि इक्कीसवीं सदी भारत की सदी है. भारत को 2013 में दुनिया के फ्रेजाइल फाइव देशों में पहुंचा दिया गया. आज सरकार के दृढ़ निश्चय और 125 करोड़ देशवासियों के परिश्रम के बल पर भारत दुनिया की सबसे तेजी से बढ़ती अर्थव्यवस्था बन गई हैः पीएम मोदी

    20:40 (IST)

    यही स्थिति इनकम टैक्स को लेकर थी. मिडिल क्लास इनकम टैक्स में छूट के लिए निरंतर आवाज़ देता रहता था लेकिन राहत के नाम पर कुछ नहीं मिलता था. हमारी सरकार ने 5 लाख तक की टैक्सेबल इनकम को ही टैक्स के दायरे से बाहर कर दिया है: प्रधानमंत्री

    20:35 (IST)
    2014 से पहले देश में स्थिति यह थी कि जो बढ़ना चाहिए था वो घट रहा था और जो घटना चाहिए था वो बढ़ रहा था. अब महंगाई का उदाहरण लीजिए, हम सबको पता है कि महंगाई दर नियंत्रण में रहना चाहिए लेकिन पिछली सरकार में जरूरी वस्तुओं का दामा आसमान छू रहा था. न्यूज रूम के प्रोड्यूर्स को याद है न कि आपने कितनी बार अपने शो में 'महंगाई डायन मार जात है' चलाया था. आज हमारी सरकार में महंगाई दर गिरकर 2-4 प्रतिशत के आसपास रह गई है. यह फर्क तब आता है जब राजनीति से हटकर राष्ट्रनीति को प्राथमिकता दी जाती हैः मोदी

    20:28 (IST)

    कुछ ही देर में राइजिंग इंडिया समिट को संबोधित करेंगे पीएम मोदी

    20:15 (IST)

    राइजिंग इंडिया समिट में शामिल होने के लिए होटल ताज पहुंच चुके हैं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी


    19:55 (IST)

    राइजिंग इंडिया के वेन्यु पर पहुंचे राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल


    19:52 (IST)

    पुलवामा हमले से जुड़े सवाल पर कमलनाथ ने कहा, 'मेरी छप्पन इंच की छाती नहीं है. आज सरकार को तय करना होगा कि देशहित में क्या है. सरकार के पास पूरी मशीनरी है क्योंकि हमें सरकार को सुझाव भी देने की जरूरत नहीं है. सरकार को तय करना है कि क्या कदम उठाने हैं.'

    19:49 (IST)
    हमें क्या भारतीय जनता पार्टी राष्ट्रवाद समझाएगी? मैं पार्टी के किसी भी सदस्य से पूछना चाहूंगा कि क्या उनकी पार्टी में कोई स्वतंत्रता संग्राम सेनानी है. अंग्रेजों से संघर्ष कांग्रेस ने किया, बीजेपी, जनसंघ का नाम नहीं था. आज जनता को गुमराह करने के लिए ये हमें राष्ट्रवाद का पाठ पढ़ाने आए हैं. पहले हम अंग्रेजों से लड़े थे, अब हम लड़ेंगे चोरों सेः कमलनाथ

    19:44 (IST)

    किसान कर्ज के साथ पैदा होता है और कर्ज में ही मर जाता है. इस सच को हम नजरअंदाज नहीं कर सकते हैं. चुनाव से 2 महीने पहले किसानों को 2 हजार रुपये भेजने का क्या मतलब है? क्या आपको लगता है कि इस देश के किसान मूर्ख हैं : कमलनाथ

    19:43 (IST)

    राइजिंग इंडिया के मंच से केंद्रीय मंत्री पीयूष  गोयल ने कहा- मेरे लिए गरीब बच्चों के लिए बिजली पहुंचाना सबसे बड़ा सुधार है


    19:40 (IST)

    सीएनएन न्यूज 18 के भूपेंद्र चौबे ने कमलनाथ से सवाल किया कि वह उस पार्टी से आते हैं जिसने आजादी के बाद देश में सबसे लंबे वक्त तक शासन किया. ऐसे में उनका गरीबी मिटाने की बात करना क्या कांग्रेस की इकोनॉमिक पॉलिसी पर सवाल नहीं उठाता है? इस पर कमलनाथ ने सवाल किया कि क्या गरीबी नहीं हटी? क्या आज आपके पास जो सुविधाएं हैं वह पिछले पांच साल में आई? आपने जीरो से शुरुआत नहीं की, हमने जीरो से शुरुआत की थी. आपको यह देखना चाहिए कि आपने कहां से शुरू किया? आज यह कह देना कि 60-70 में कांग्रेस ने क्या किया बेहद गलत है. 

    19:29 (IST)

    दिल्ली में बैठकर हमें लगता है कि हम पूरे देश को समझते हैं. लेकिन ऐसा नहीं हैः कमल नाथ


    19:27 (IST)

    कितने कैबिनेट मंत्री ग्रामीण भारत में गए हैं या कितनों ने चुनाव लड़ा है? हमारा बाजार कृषि पर निर्भर है. कृषि से ही इस देश की अर्थव्यवस्था मजबूत होती है. मध्य प्रदेश की 70 प्रतिशत आबादी कृषि पर निर्भर करती है. बीजेपी का नेतृत्व जमीन से कटा हुआ है- कमल नाथ

    19:19 (IST)

    मैटर्स ऑफ द स्टेट पर मध्य प्रदेश के नवनिर्वाचित मुख्यमंत्री कमलनाथ सीएनएन न्यूज 18 के भूपेंद्र चौबे से बात कर रहे हैं.

    19:13 (IST)

    भारत के इकोनॉमिक रोडमैप पर केंद्रीय मंत्री सुरेश प्रभू ने कहा, 'पहली बात तो यह कि हम आगे बढ़ रहे हैं. यह ग्लोबल ट्रेड के लिए एक अप्रत्याशित दौर है. इसके बावजूद हमारा एक्सपोर्ट बढ़ रहा है. इसके साथ ही हम नए मार्केट और नए प्रोडक्ट्स की तलाश कर रहे हैं.'


    19:10 (IST)
    विपक्ष पर हमला बोलते हुए प्रसाद ने कहा, '2019 का भारत 1990 का भारत नहीं है. यहां 40 दिन के लिए या दो महीनों के लिए प्रधानमंत्री बनते हैं. अब भारत को ग्लोबल सुपर पॉवर बनने से कोई नहीं रोक सकता है. भारत को ऐसा लीडर चाहिए जो फैसले ले सके. अंतरराष्ट्रीय समुदाय को एक ऐसा प्रधानमंत्री देखना है जिसके पास बहुमत है. इस कथित महागठबंधन में पीएम कौन है? ममता बनर्जी या कोई और? हम छत्तीसगढ़ में हारे लेकिन मध्य प्रदेश में नहीं हारे.'

    19:05 (IST)

    प्रसाद ने डेटा प्रोटेक्शन बिल पर कहा, 'डेटा प्रोटेक्शन बिल के लिए हमने राज्य सरकारों और मंत्रालयों से चार से पांच राउंड की बातचीत की. हर नट और बोल्ट को टाइट करने की जरूरत है. हम कंपनियों को डेटा के इस्तेमाल की अनुमति देंगे लेकिन ट्रस्टी के तौर पर.'

    19:03 (IST)
    प्रसाद ने कहा, 'आज भारत दुनिया की छठवीं बड़ी अर्थव्यवस्था है, हम से पांचवी बड़ी अर्थव्यवस्था बनाएंगे. भारत में स्टार्ट-अप के लिए सबसे बड़ा मूवमेंट चलाया जाएगा.' सोशल मीडिया के दौर में चुनाव पर बात करते हुए प्रसाद ने कहा, 'मैं एक जनरल आइडिया दे सकता हूं. मैंने यह साफ किया है कि सोशल मीडिया कंपनियों का भारत में बिजनेस करने के लिए स्वागत है. लेकिन चुनाव में फायदे के लिए भारतीयों के डेटा का गलत इस्तेमाल बिलकुल भी बर्दाश्त नहीं किया जाएगा. किसी भी कंपनी की तरफ से किसी भी प्रकार के डेटा की चोरी बर्दाश्त नहीं की जाएगी.' 

    18:58 (IST)

    2019 में बीजेपी के चुनाव मंत्र पर बात करते हुए रविशंकर प्रसाद ने कहा, “पिछले चार सालों में हमने जो काम किया वह इस बात उदाहरण है कि हमने भारत को कैसे बदला. आज भारत में डिजिटल ट्रांसफॉर्मेशन हो रहा है. यह जनता के लिए लो-कॉस्ट टेक्नोलॉजी है. आप ई-गवर्नेंस देखिये. आज भारत का गरीब खुद को मजबूत समझने लगा है.”

    18:53 (IST)

    तीसरे सत्र में बजे तक केंद्र सरकार के तीन सुरेश प्रभु, पीयूष गोयल और रविशंकर प्रसाद विकास की कहानी बता रहे हैं.

    18:50 (IST)

    स्पाइसजेट के अजय सिंह ने कहा कि मोदी सरकार को दूसरा मौका मिलना चाहिए. उन्होंने कहा, 'सरकार बेहतरीन काम कर रही है. एक बार फिर मोदी सरकार.' अबकी बार मोदी सरकार का नारा सिंह ने ही तैयार किया था जो 2014 के लोकसभा चुनाव में काफी चर्चित हुआ था.

    18:47 (IST)
    टैक्स सस्ते करने को लेकर अमिताभ कांत ने जब अजय सिंह से सवाल किया तो इस पर सिंह ने कहा, 'हम छूट नहीं मांग रहे हैं. हम बस टैक्स घटाने की मांग कर रहे हैं. हम मांग कर रहे हैं कि फ्लाइट की टिकटों को जीएसटी के दायरे में लाया जाए.'

    18:40 (IST)

    उड्डयन एक बढ़ती अर्थव्यवस्था है. यह शर्मनाक है कि इसे आगे बढ़ने के उतने अधिक मौके नहीं दिए जा रहे हैं. सस्ती विमानन कंपनियों के पैसे नहीं डूबेंगे, हमारे पैसे भी नहीं डूबेंगे यदि हमें बराबरी का मौका मिलेगा. मांग अधिक है, हमें अपने टैक्स कम करने होंगे और मेंटेनेंस के लिए विदेशों पर निर्भर रहना बंद करना होगाः अजय सिंह

    18:38 (IST)

    एविएशन इंडस्ट्री के भविष्य पर बात करते हुए स्पाइसजेट एयरलाइंस के को-फाउंडर अजय सिंह ने कहा, 'उड्डयन के क्षेत्र में भारत रिवॉल्यूशन के दौर से गुजर रहा है. इस क्षेत्र में हमने 20 प्रतिशत की दर से विकास किया जोकि पूरी दुनिया में सबसे तेज है. यह अभी और बढ़ेगा. पहले विमान यात्रा सिर्फ अमीरों के लिए होती थी. उड़ान पर काफी ज्यादा टैक्स लगता है. भारत में सबसे ज्यादा टैक्स लगाए जाते हैं. इसे बदलना होगा.'

    18:31 (IST)

    ग्रीन अर्थ और ब्लू स्काई को लेकर जो विज़न तैयार किया गया है वह असल में पर्यावरण के लिए है. हमारी पॉलिसीज उसी दिशा में तैयार की गई हैं. वर्तमान में जो डेब्ट टू जीडीपी रेशियो है उसे देखकर यह साफ है कि हम प्राइवेट सेक्टर के लिए कम पैसे छोड़ रहे हैं. अगले 5 सालों में यह रेशियो बढ़कर 40 प्रतिशत हो जाएगा. यह चुनौतीभरा है क्योंकि रेशियो को मेंटेन करने के लिए राजकोष का ध्यान भी रखना होगा- सुभाष चंद्र गर्ग

    18:27 (IST)

    नीति आयोग के सीईओ अमिताभ कांत के साथ बातचीत करती शीरीन भान


    18:26 (IST)

    अगले 15 दिनों में मोबिलिटी और बैटरी स्टोरेज पर एक क्लियर पॉलिसी आपके सामने होगी. यह एक डायनैमिक इंडस्ट्री है जहां वैश्विक स्तर पर काफी समस्याएं हैं. आपके पास सिर्फ मोबिलिटी नहीं, स्टोरेज को लेकर भी पॉलिसी होगीः अमिताभ कांत

    18:24 (IST)

    सुभाष चंद्र गर्ग ने कहा कि भारत की महत्वाकांक्षाएं अब साफ-साफ नजर आ रही हैं. बजट में इसके लिए बहु-आयामी विज़न अपनाया गया.

    18:23 (IST)

    नीति आयोग के सीईओ अमिताभ कांत ने कहा कि यदि भारत को 9 से 10 प्रतिशत की दर पर विकास करना है तो भारत को सनराइज इंडस्ट्रीज का रुख करना होगा. उन्होंने कहा, “अगर इक्विटी में विकास नहीं होगा तो आप उस रेट पर विकास नहीं कर सकते.”

    18:21 (IST)

    राइजिंग इंडिया के दूसरे सत्र 'India’s growing economy' में CNBC TV-18 की मैनेजिंग एडिटर शीरीन भान देश के वित्तीय सचिव सुभाष चंद्र गर्ग, अपोलो अस्पताल की एमडी सुनीता रेड्डी, ईबिक्स के चेयरमैन और सीईओ रॉबिन रैना, स्पाइस जेट के को-फाउंडर अजय सिंह और नीति आयोग के अध्यक्ष अमिताभ कांत से बात कर रही हैं.


    18:20 (IST)

    राइजिंग इंडिया के दूसरे सत्र 'India’s growing economy' में CNBC TV-18 की मैनेजिंग एडिटर शीरीन भान देश के वित्तीय सचिव सुभाष चंद्र गर्ग, अपोलो अस्पताल की एमडी सुनीता रेड्डी, ईबिक्स के चेयरमैन और सीईओ रॉबिन रैना, स्पाइस जेट के को-फाउंडर अजय सिंह और नीति आयोग के अध्यक्ष अमिताभ कांत से बात कर रही हैं.

    18:17 (IST)

    पुलवामा आतंकी हमले पर सदगुरु ने कहा | पुलवामा आतंकी हमला एक पूर्व निर्धारित एजेंडा था. पाकिस्तान अपने लक्ष्यों को पूरा करने की कोशिश कर रहा है. उन्होंने इसे कोई सीक्रेट भी नहीं रखा है. यह आतंकवाद नहीं एजेंडा है. वे लोग वो सब कर रहे हैं जो उन्हें सही लग रहा है- सदगुरु

    18:13 (IST)
    रामदेव ने कहा कि बीज में सबकुछ लिखा है. इस बात को रेसिस्ट और जातिवादी बताते हुए सदगुरु ने इस पर आपत्ति दर्ज की. उन्होंने कहा, “जाने अनजाने हम सब रेसिस्ट और जातिवादी बन रहे हैं. इंसान होने का महत्व.. जो कि सबसे जरूरी है वह खत्म हो रहा है. आप जो चाहे बन सकते हैं. जब कोई सन्यास लेता है तब भले ही उसके माता-पिता जीवित हों वह अपनी यादों से मुक्त होने के लिए कई कर्म करता है. आपका जीवन ही आपका कर्म है, यही हमारी संस्कृति है.”

    18:10 (IST)

    हमें अमेरिका या यूरोप से वैज्ञानिक नजरिया सीखने की जरूरत नहीं है. हमारे पास अपना विज्ञान है. वैज्ञानिक खेती, स्वास्थ्य, शिक्षा और मानव विकास एक साथ आगे बढ़ते हैं. भारत एक वैज्ञानिक देश हैः रामदेव

    18:07 (IST)

    हम आलोचना से नहीं घबराते हैं, लेकिन अब आलोचना दुर्भावनापूर्ण हो गई है. यह दुविधा नहीं संदेह है. जल्द ही एक शिक्षा बोर्ड का गठन होगा जो लोगों के सोचने का तरीका पूरी तरह बदल देगा. भारत जुड़ी हर चीज़ को लोग संदेह से देखते हैं. दुविधा एक अच्छी चीज़ है जिसके बिना हम ग्रो नहीं कर सकते हैं. वैज्ञानिक और तार्किक रूप से सवाल पूछना अच्छी बात है. लेकिन चिल्लाना और कुछ सही बातों को पूरी तरह खारिज करने की कोशिश गलत हैः रामदेव

    18:00 (IST)
    रामदेव ने कहा एक तरफ हम समृद्धि की बात करते हैं और दूसरी तरफ जातिवाद आ जाता है. ऐसे में देश कैसे आगे बढ़ेगा. देश को आगे लेकर कौन जाएग राइजिंग इंडिया का एक प्रश्न यह भी है. भारत किस ओर जा रहा है? इसके जवाब में रामदेव ने कहा, 'कुछ लोग यहां पर अहिंसा के नाम पर कायरता के गीत गाते हैं और वीरता को गाली देते हैं. लेकिन जब पुलवामा हो जाता है तब दुबककर के बैठ जाते हैं. अब मैं कहता हूं कि योग पूर्वक युद्ध करो और पाकिस्तान जो नापाक हो चुका है उसे शुद्ध करो. मैं यह नहीं कहता कि निर्दोष प्रजा को मारो लेकिन पाकिस्तान जिसका प्रधानमंत्री नापाक है. ऐसा व्यक्ति जो कठपुतली है सेना और आतंकवादियों की उससे क्या उम्मीद करोगे. इसलिए भारत को अपनी रक्षा करनी होगी. हम शांति के उपासक हैं लेकिन कोई हमारी तरफ आंख उठाकर देखेगा तो हम पीछे नहीं हटेंगे. '

    17:51 (IST)
    हमारी संस्कृति में धर्म और आध्यात्म को एक समझा जाता है. विदेशों में धर्म और आध्यात्म को अलग माना जाता है. भारत में दोनों अलग नहीं है. कोई बाइबल या कुरान की आलोचना नहीं कर सकता है लेकिन भारत में वेदों की आलोचना करना फैशन बन गया है. इसके लिए एक पूरा गैंग जुटा हुआ हैः रामदेव

    17:48 (IST)

    धर्म का मतलब है कि आपके पास एक मूलभूत विश्वास होना चाहिए. आध्यात्म का मतलब है कि आप खुद को ढूंढ रहे हैं. यह देश खुद की तलाश में जुटे लोगों से भरा हुआ है. हम अज्ञान के महत्व को समझते हैं, तलाश करते रहने की संभावना ही हमारे जीवन की सच्चाई बन जाती है- सदगुरु


    17:44 (IST)
    मैं सांप्रदायिकता के खिलाफ हूं. मैं ब्राह्मणों के खिलाफ नहीं लेकिन ब्राह्मणवाद के खिलाफ हूं. कुछ लोग जबरदस्ती वेद-पुराणों के रक्षक बनते हैं जबकि यह हम सबका है- रामदेव

    17:36 (IST)
    सत्र के मॉडरेडर प्रसून जोशी ने सवाल किया कि क्या योग और भोग में कोई संघर्ष है? इस पर सदगुरु ने कहा कि आध्यात्म का मतलब कमजोरी नहीं है. उन्होंने कहा, 'यदि ऐसा है कि तो इसे बैन कर दिया जाए. हम अपने जीवन को उस स्तर तक ऊपर उठा सकते हैं जब लोगों को लगने लगे कि हम सुपर ह्यूमन हैं. यदि आप योग में रुचि नहीं रखते तो आप मौत का इंतजार कर रहे हैं.'

    17:32 (IST)
    जीवन में जो भी साधन है. किसी भी प्रकार की परिस्थिति है वह भोग है. योग और भोग में संघर्ष नहीं है. हमने इतिहास में निवृत्ति और प्रवृत्ति में कभी भेद नहीं किया. ये सारा ऐश्वर्य भगवान का है, ऐश्वर्य का हमारे यहां विरोध नहीं है: स्वामी रामदेव

    17:29 (IST)

    आध्यात्म का रास्ता अपनाकर हम सभी अपने जीवन को बेहतर बना सकते हैंः सदगुरु

    17:28 (IST)

    भारत के लिए नया मंत्र सेशन में सद्गुरु और बाबा रामदेव से बात कर रहे हैं गीतकार प्रसून जोशी.


    16:50 (IST)

    देश के लिए अपना विज़न पेश करेंगे पीएम मोदी | पहले दिन के कार्यक्रम का समापन पीएम नरेंद्र मोदी के संबोधन के साथ होगा. वह 'Beyond Politics: Defining National Priorities' यानी 'राजनीति से ऊपर राष्ट्रीय प्रतिबद्धता' विषय पर संबोधन देंगे. पिछले साल राइजिंग इंडिया समिट में पीएम मोदी ने कहा था कि उनके लिए राइजिंग इंडिया का मतलब है देश के हर नागरिक के आत्मसम्मान का राइज होना है. 

    16:44 (IST)

    नई दिल्ली के होटल ताज में कुछ ही देर में शुरू होने जा रहा है कि राइजिंग इंडिया समिट.


    16:35 (IST)

    राइजिंग इंडिया समिट के लिए तैयार हो चुका है मंच. कुछ ही देर में शुरू होगा कार्यक्रम


    16:32 (IST)

    राइजिंग इंडिया समिट का काउंट डाउन शुरू हो चुका है. लाइव अपडेट्स के लिए बने रहिए हमारे साथ...

    16:21 (IST)

    प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 2019 में भारत की असीम संभावनाओं के साथ-साथ इसकी उपलब्धियों पर करेंगे चर्चा.

    16:15 (IST)

    राइजिंग इंडिया के दूसरे दिन 26 फरवरी को सुबह 10:30 बजे 'The Making of New India' सत्र को बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह संबोधित करेंगे. दूसरे सत्र में पंजाब के सीएम कैप्टन अमरिंदर सिंह, छत्तीसगढ़ के सीएम भूपेश बघेल, पुडुचेरी के सीएम वी नारायणसामी, हिमाचल प्रदेश के सीएम जयराम ठाकुर एवं मेघालय के सीएम कोनराड संगमा लोगों को संबोधित करेंगे. इसके बाद 'wetoo: The New Gender Equation (women)' नामक सत्र होगा, जिसमें राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी की नेता एवं सांसद सुप्रिया सुले एवं अभिनेत्री तापसी पन्नू अपने विचार रखेंगी.

    16:12 (IST)

    तीसरे सत्र में शाम  06.20 से 07:00 बजे तक तीन केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी, पीयूष गोयल और रविशंकर प्रसाद विकास की कहानी बताएंगे. चौथे सत्र को मध्य प्रदेश के सीएम कमलनाथ संबोधित करेंगे. उनके बाद यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ लोगों से रूबरू होंगे. पांचवें सत्र 'Beyond Politics: Defining National Priorities' को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी संबोधित करेंगे.

    16:12 (IST)

    दूसरे सत्र 'गेट सेट ग्रो' में बिजनेस लीडर्स से बातचीत होगी. इसमें बिजनेसमैन अनिल अग्रवाल, सुनीता रेड्डी, रोबिन रैना और  अजय सिंह के साथ नीति आयोग के सीईओ अमिताभ कांत एवं आर्थिक मामलों के सचिव सुभाष चंद्र गर्ग भारत के विकास की कहानी बताएंगे.

    16:11 (IST)

    राइजिंग इंडिया की शुरुआत धार्मिक गुरुओं से चर्चा के साथ होगी. 'द न्यू मंत्रा ऑफ इंडिया' सत्र में स्पिरिचुअल लीडर सद्गुरु और बाबा रामदेव अपने विचार रखेंगे. इसके सूत्रधार होंगे जाने माने गीतकार प्रसून जोशी.

    न्यूज 18 नेटवर्क 25, 26 फरवरी को दिल्ली में राइज़िंग इंडिया समिट का आयोजन कर रहा है. इसमें धर्म, राजनीति, बिजनेस, फिल्म और स्पोर्ट्स से जुड़ी हस्तियां अपने विचार रखेंगी. पहले दिन पीएम नरेंद्र मोदी मुख्य अतिथि के तौर पर मौजूद रहेंगे. पहले दिन की शुरुआत 'द न्यू मंत्रा ऑफ इंडिया' से हुई जिसमें आध्यात्म और धर्म पर योग गुरु रामदेव और आध्यात्मिक गुरु सदगुरु ने गीतकार प्रसून जोशी के साथ चर्चा की.

    सत्र के मॉडरेडर प्रसून जोशी ने सवाल किया कि क्या योग और भोग में कोई संघर्ष है? इस पर सदगुरु ने कहा कि आध्यात्म का मतलब कमजोरी नहीं है. उन्होंने कहा, 'यदि ऐसा है कि तो इसे बैन कर दिया जाए. हम अपने जीवन को उस स्तर तक ऊपर उठा सकते हैं जब लोगों को लगने लगे कि हम सुपर ह्यूमन हैं. यदि आप योग में रुचि नहीं रखते तो आप मौत का इंतजार कर रहे हैं.'

    दूसरे सत्र 'गेट सेट ग्रो' में बिजनेस लीडर्स अनिल अग्रवाल, सुनीता रेड्डी, रोबिन रैना और अजय सिंह के साथ नीति आयोग के सीईओ अमिताभ कांत एवं आर्थिक मामलों के सचिव सुभाष चंद्र गर्ग ने भारत के आर्थिक विकास पर बात की.

    तीसरे सत्र में केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद, पीयूष गोयल और सुरेश प्रभु ने भारत के विकास पर बात की. वहीं चौथे सत्र में मध्यप्रदेश के नवनिर्वाचित मुख्यमंत्री कमल नाथ ने 'मैटर्स ऑफ स्टेट' विषय पर बात की.
    " isDesktop="true" id="1704702" >

    न्यूज 18 राइजिंग इंडिया के लाइव अपडेट्स के लिए बने रहें...