अपना शहर चुनें

States

LIVE NOW

Rising India HIGHLIGHTS: गरीबी में गिरावट, अर्थव्यवस्था में तेजी बिना नौकरी के संभव है क्या- पीएम मोदी

न्यूज 18 राइजिंग इंडिया के लाइव अपडेट्स के लिए बने रहें...

Hindi.news18.com | February 25, 2019, 10:47 PM IST
facebook Twitter Linkedin
Last Updated February 25, 2019

हाइलाइट्स

9:09 pm (IST)

जब देश में पहले की तुलना में कई गुना रफ्तार से सड़क बनाने का काम चल रहा है, रेल मार्गों के विस्तार का काम हो रहा है. गरीबों के लिए लाखों मकान बनाने से लेकर नए पुल, नए बांध, नए हवाई अड्डे रिकॉर्ड कार्य हो रहा हैं. तो क्या ये संभव है कि रोजगार पैदा नहीं हुए हों? बीते 4 वर्षों में विदेशी पर्यटकों की संख्या में क़रीब 45% की वृद्धि हुई है. पर्यटन से होने वाली विदेशी मुद्रा की कमाई भी बीते 4 वर्षों में 50% बढ़ गई है. भारत के एविएशन सेक्टर में भी ऐतिहासिक बढ़ोतरी हुई है. क्या इन सबसे रोजगार के अवसर सृजित नहीं हुए हैं?- प्रधानमंत्री

9:04 pm (IST)
जरा सोचिए भारत जब सबसे तेजी से बढ़ने वाली अर्थव्यवस्था बन गया है तो क्या ये संभव है कि बिना नौकरी को सृजित किए ये हो जाए? जब देश में एफडीआई All-Time High है तो क्या ये संभव है कि नौकरियां पैदा नहीं हो रही हों? जब कई अंतरराष्ट्रीय रिपोर्ट कह रही हैं कि भारत सबसे तेजी से गरीबी हटा रहा है तो क्या ये संभव है कि बिना नौकरी के लोग गरीबी से बाहर आ रहे हों?: PM

9:02 pm (IST)

हमारे यहां किस तरह जनता के पैसे को जनता का न समझने की परंपरा अरसे तक हावी रही है, आप भी जानते हैं. अगर ऐसा न होता तो सैकड़ों योजनाएं दशकों तक अधूरी न रहतीं, अटकती-भटकती न रहतीं. इसलिए ही हमारी सरकार, योजनाओं में देरी को आपराधिक लापरवाही से कम नहीं मानती: पीएम मोदी

8:52 pm (IST)
हमारी सरकार ने प्रधानमंत्री किसान योजना की शुरुआत की है. 12 करोड़ किसान परिवारों को उसकी जरूरत पूरा करने के लिए उदाहरण के लिए चारा खरीदने, बीज खरीदने, खाद खरीदने के लिए सरकार 75 हजार करोड़ रुपए सीधे किसानों के खाते में ट्रांसफर करने जा रही है. लीकेज संभव नहीं है. अब सोचिए, किसी को चारा घोटाला करना हो तो कैसे करेगा? क्योंकि अब तो सीधे मोबाइल पर मैसेज आता है, कच्ची-पक्की पर्ची का तो सारा इंतजाम ही मोदी ने खत्म कर दिया है. इसलिए ही तो मुझे पानी पी-पी कर गाली दी जाती है: PM

8:48 pm (IST)
जनधन अकाउंट, आधार और मोबाइल को जोड़ने का नतीजा ये हुआ कि एक के बाद एक करके कागजों में दबे हुए फर्जी नाम सामने आने लगे. आप सोचिए, अगर आपके ग्रुप में 50 लोग ऐसे हो जाएं जिनकी हर महीने सैलरी जा रही हो, लेकिन वो हकीकत में हो ही नहीं, तो क्या होगा. पहले की सरकारों ने, देश में जो व्यवस्था बना रखी थी, उसमें एक-दो नहीं 8 करोड़ ऐसे फर्जी नाम थे, जिनके नाम पर सरकारी लाभ ट्रांसफर किया जा रहा था. साथियों, सरकार के इस प्रयास से एक लाख 10 हजार करोड़ रुपए से ज्यादा गलत हाथों में जाने से बच रहे हैं: प्रधानमंत्री

8:46 pm (IST)

हमारी सरकार के दौरान करीब-करीब 6 लाख करोड़ रुपए केंद्र सरकार ने सीधे लाभार्थियों के खाते में भेजे हैं. और मुझे ये कहते हुए गर्व है कि पहले की तरह 100 में से सिर्फ 15 पैसे नहीं, बल्कि पूरे पैसे लाभार्थियों को मिल रहे हैं: PM


8:41 pm (IST)

भारत की ग्लोबल स्टैंडिंग की बात करें तो हम पढ़ते आए थे कि इक्कीसवीं सदी भारत की सदी है. भारत को 2013 में दुनिया के फ्रेजाइल फाइव देशों में पहुंचा दिया गया. आज सरकार के दृढ़ निश्चय और 125 करोड़ देशवासियों के परिश्रम के बल पर भारत दुनिया की सबसे तेजी से बढ़ती अर्थव्यवस्था बन गई हैः पीएम मोदी

8:40 pm (IST)

यही स्थिति इनकम टैक्स को लेकर थी. मिडिल क्लास इनकम टैक्स में छूट के लिए निरंतर आवाज़ देता रहता था लेकिन राहत के नाम पर कुछ नहीं मिलता था. हमारी सरकार ने 5 लाख तक की टैक्सेबल इनकम को ही टैक्स के दायरे से बाहर कर दिया है: प्रधानमंत्री

8:35 pm (IST)
2014 से पहले देश में स्थिति यह थी कि जो बढ़ना चाहिए था वो घट रहा था और जो घटना चाहिए था वो बढ़ रहा था. अब महंगाई का उदाहरण लीजिए, हम सबको पता है कि महंगाई दर नियंत्रण में रहना चाहिए लेकिन पिछली सरकार में जरूरी वस्तुओं का दामा आसमान छू रहा था. न्यूज रूम के प्रोड्यूर्स को याद है न कि आपने कितनी बार अपने शो में 'महंगाई डायन मार जात है' चलाया था. आज हमारी सरकार में महंगाई दर गिरकर 2-4 प्रतिशत के आसपास रह गई है. यह फर्क तब आता है जब राजनीति से हटकर राष्ट्रनीति को प्राथमिकता दी जाती हैः मोदी

LOAD MORE
न्यूज 18 नेटवर्क 25, 26 फरवरी को दिल्ली में राइज़िंग इंडिया समिट का आयोजन कर रहा है. इसमें धर्म, राजनीति, बिजनेस, फिल्म और स्पोर्ट्स से जुड़ी हस्तियां अपने विचार रखेंगी. पहले दिन पीएम नरेंद्र मोदी मुख्य अतिथि के तौर पर मौजूद रहेंगे. पहले दिन की शुरुआत 'द न्यू मंत्रा ऑफ इंडिया' से हुई जिसमें आध्यात्म और धर्म पर योग गुरु रामदेव और आध्यात्मिक गुरु सदगुरु ने गीतकार प्रसून जोशी के साथ चर्चा की.

सत्र के मॉडरेडर प्रसून जोशी ने सवाल किया कि क्या योग और भोग में कोई संघर्ष है? इस पर सदगुरु ने कहा कि आध्यात्म का मतलब कमजोरी नहीं है. उन्होंने कहा, 'यदि ऐसा है कि तो इसे बैन कर दिया जाए. हम अपने जीवन को उस स्तर तक ऊपर उठा सकते हैं जब लोगों को लगने लगे कि हम सुपर ह्यूमन हैं. यदि आप योग में रुचि नहीं रखते तो आप मौत का इंतजार कर रहे हैं.'

दूसरे सत्र 'गेट सेट ग्रो' में बिजनेस लीडर्स अनिल अग्रवाल, सुनीता रेड्डी, रोबिन रैना और अजय सिंह के साथ नीति आयोग के सीईओ अमिताभ कांत एवं आर्थिक मामलों के सचिव सुभाष चंद्र गर्ग ने भारत के आर्थिक विकास पर बात की.

तीसरे सत्र में केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद, पीयूष गोयल और सुरेश प्रभु ने भारत के विकास पर बात की. वहीं चौथे सत्र में मध्यप्रदेश के नवनिर्वाचित मुख्यमंत्री कमल नाथ ने 'मैटर्स ऑफ स्टेट' विषय पर बात की.

न्यूज 18 राइजिंग इंडिया के लाइव अपडेट्स के लिए बने रहें...

फोटो

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

चिंता के विचार आपकी ख़ुशी को बर्बाद कर सकते हैं। ऐसा न होने दें, क्योंकि इनमें अच्छी चीज़ों को ख़त्म करने की और समझदारी में निराशा का ज़हरीला बीज बोने की क्षमता होती है। ख़ुद को हमेशा अच्छा परिणाम पाने के लिए प्रोत्साहित करें और ख़राब हालात में भी कुछ-न-कुछ अच्छा देखने का गुण विकसित करें। ख़ास लोग ऐसी किसी भी योजना में रुपये लगाने के लिए तैयार होंगे, जिसमें संभावना नज़र आए और विशेष हो। भूमि से जुड़ा विवाद लड़ाई में बदल सकता है। मामले को सुलझाने के लिए अपने माता-पिता की मदद लें। उनकी सलाह से काम करें, तो आप निश्चित तौर पर मुश्किल का हल ढूंढने में क़ामयाब रहेंगे। किसी से अचानक हुई रुमानी मुलाक़ात आपका दिन बना देगी। काम के लिए समर्पित पेशेवर लोग रुपये-पैसे और करिअर के मोर्चे पर फ़ायदे में रहेंगे। सफ़र के लिए दिन ज़्यादा अच्छा नहीं है। जीवनसाथी के ख़राब व्यवहार का नकारात्मक असर आपके ऊपर पड़ सकता है। स्वयंसेवी कार्य या किसी की मदद करना आपकी मानसिक शांति के लिए अच्छे टॉनिक का काम कर सकता है। परेशान? आप पंडित जी से प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें

टॉप स्टोरीज