Home /News /nation /

News18India Chaupal: राकेश टिकैत ने चुनाव को कहा बीमारी, पीएम मोदी को इस मामले में कहा- पीएचडी होल्डर

News18India Chaupal: राकेश टिकैत ने चुनाव को कहा बीमारी, पीएम मोदी को इस मामले में कहा- पीएचडी होल्डर

किसान नेता राकेश टिकैत ने चौपाल में कहा- किसानों को सरकार से बातचीत के न्योते का इंतज़ार, बैठकर बातचीत होगी तभी समाधान निकलेगा.

किसान नेता राकेश टिकैत ने चौपाल में कहा- किसानों को सरकार से बातचीत के न्योते का इंतज़ार, बैठकर बातचीत होगी तभी समाधान निकलेगा.

Farmer leader Rakesh Tikait News18India Chaupal: राकेश टिकैत ने कहा- चुनाव बीमारी है. हमने चुनाव लड़ा, वोट नहीं मिला. जनता ने कहा कि आंदोलन करो. हमें चुनाव नहीं लड़ना. कोरोना एक बीमारी थी, उसी तरह तीन कानून भी बीमारी थी. क्या कोरोना ख़त्म हो गया? कृषि क़ानून ख़त्म हुए, लेकिन किसानों की बीमारी खत्म नहीं हुई.

अधिक पढ़ें ...

    नई दिल्ली. न्यूज़18इंडिया के कार्यक्रम चौपाल (News18India Chaupal) के मंच पर किसान नेता राकेश टिकैत (Rakesh Tikait) ने कहा, ‘प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ने कृषि कानून वापस (New Farm Laws) ले लिए. उन्‍होंने एमएसपी पर पीएचडी कर रखी है. उस कमेटी की रिपोर्ट में उन्होंने माना था कि एमएसपी गारंटी कानून बनना चाहिए, तो अब लागू कर दें. हमारा एजेंडा था कि सरकार के दिमाग से किसान शब्द न निकले. गांव और किसान सरकारों के दिमाग में रहना चाहिए.’

    राकेश टिकैत ने कहा- चुनाव बीमारी है. हमने चुनाव लड़ा, वोट नहीं मिला. जनता ने कहा कि आंदोलन करो. हमें चुनाव नहीं लड़ना. कोरोना एक बीमारी थी, उसी तरह तीन कानून भी बीमारी थी. क्या कोरोना ख़त्म हो गया? कृषि क़ानून ख़त्म हुए, लेकिन किसानों की बीमारी खत्म नहीं हुई. जो हमारे मामले हैं, उनका समाधान किए बिना किसान अपने घर नहीं लौटने वाले. न्यूज़18इंडिया के कार्यक्रम चौपाल (News18India Chaupal) कार्यक्रम में राकेश टिकैत ने कहा- अब अगर एमएसपी पर अभी कानून नहीं बना, तो कभी नहीं बन पाएगा. एमएसपी पर 2011 में कमिटी की रिपोर्ट आ चुकी है, उस पर अमल ही तो करना है. हम बहुत पहले से मांग कर रहे हैं कि कृषि बजट अलग से पेश किया जाए. देश में कृषि को सिर्फ एक विभाग बना दिया गया है, जबकि 18 विभाग हैं, जो किसानों से जुड़े हुए हैं. उन सबको कृषि मंत्रालय में शामिल किया जाए. कोरोना में जितने लोगों की मौत हुई, सरकार के पास तो उसके भी आंकड़े नहीं है. ये वही कृषि मंत्री कह रहे हैं, जो 10 महीने तक कहते रहे कि कानून वापस नहीं होगा. आंदोलन के दौरान मारे गए किसानों की पूरी लिस्ट हमारे पास है.

    चुनाव में किस पार्टी का समर्थन करेंगे राकेश टिकैत
    आगामी चुनावों में राकेश टिकैत कौन सी पार्टी का समर्थन करेंगे? इस सवाल का जवाब देते हुए राकेश टिकैत ने कहा, चुनाव में हम किसी राजनीतिक पार्टी को सपोर्ट नहीं करेंगे. एक साल से उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) से मुलाकात नहीं हुई, क्योंकि आंदोलन के प्रोटोकॉल में नहीं है कि हम किसी मुख्यमंत्री से मुलाकात करें.

    कोरोना खतरे के बावजूद खत्म नहीं होगा आंदोलन
    उन्‍होंने कहा कोरोना के ओमिक्रॉन वेरिएंट के खतरे के बावजूद किसानों का आंदोलन ख़त्म नहीं होगा. हम सचेत हैं. बीमारी रोकने की ज़िम्मेदारी सरकार की है, वो भी अपना काम करे. किसानों को सरकार से बातचीत के न्योते का इंतज़ार, बैठकर बातचीत होगी तभी समाधान निकलेगा.

    Tags: Farmer Protest, Rakesh Tikait, Rakesh tikait interview

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर