Home /News /nation /

News18India Chaupal: केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने बताया, क्यों लिखी 'लाल सलाम' किताब

News18India Chaupal: केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने बताया, क्यों लिखी 'लाल सलाम' किताब

केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी.

केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी.

Smriti Irani Book Lal Salaam: अपनी किताब ‘लाल सलाम’ पर स्मृति ईरानी ने कहा, 'मेरी ये किताब काल्पनिक है. इस किताब का विचार आज से 10 वर्ष पहले एक टेलीविजन डिबेट में उत्पन्न हुआ. उस डिबेट में 76 सीआरपीएफ के जवानों की नक्सलियों के हमले में शहादत पर चर्चा हो रही थी, जिसमें लेफ्ट के एक नेता ने कहा था कि सीआरपीएफ के जवानों ने वर्दी पहनी थी, तो उन्हें शहीद होने के लिए तैयार रहना चाहिए था. उसी का जवाब देने के लिए मैंने ये किताब लिखी है. फिर इसी बात को लेकर अपने विचार मैंने कलम के जरिए पन्नों पर रखे हैं.'

अधिक पढ़ें ...

    नई दिल्ली. न्यूज़18इंडिया के कार्यक्रम चौपाल (News18India Chaupal) के मंच पर केंद्रीय महिला और बाल विकास मंत्री स्मृति ईरानी (Smriti Irani) ने कई मुद्दों पर अपने विचार शेयर किए. अमेठी की राजनीति से लेकर देश की राजनीति तक और फिर अपनी किताब ‘लाल सलाम’ (Lal Salaam) पर केंद्रीय मंत्री ने सवालों के जवाब दिए. ईरानी ने कहा, ‘राजनीति रिश्ते बनाने की जगह नहीं है, लेकिन लोकनीति कहती है कि महिला सांसद बनकर आए और दीदी बनकर रह जाए, तो इससे बड़ी बात कुछ नहीं.’

    ईरानी ने कहा, ‘अमेठी में बाइपास, कृषि विज्ञान केंद्र खोलने का वादा पूरा कर दिया. अमेठी में डीएम का ऑफिस, मेडिकल कॉलेज खोलने का वादा किया था, वो पूरा किया. मैं तो दो साल से ही सांसद हूं, वो तो 50 साल तक सत्ता में रहे, वो अमेठी के लोगों को मूलभूत सुविधाएं मुहैया नहीं करा पाए.’

    क्यों लिखी लाल सलाम किताब?
    अपनी किताब ‘लाल सलाम’ पर उन्होंने कहा, ‘मेरी ये किताब काल्पनिक है. इस किताब का विचार आज से 10 वर्ष पहले एक टेलीविजन डिबेट में उत्पन्न हुआ. उस डिबेट में 76 सीआरपीएफ के जवानों की नक्सलियों के हमले में शहादत पर चर्चा हो रही थी, जिसमें लेफ्ट के एक नेता ने कहा था कि सीआरपीएफ के जवानों ने वर्दी पहनी थी, तो उन्हें शहीद होने के लिए तैयार रहना चाहिए था. उसी का जवाब देने के लिए मैंने ये किताब लिखी है. फिर इसी बात को लेकर अपने विचार मैंने कलम के जरिए पन्नों पर रखे हैं.

    ये भी पढ़ें: ओमिक्रॉन वैरिएंट की जड़ को पकड़ना है, विदेशी यात्रियों का टेस्ट जरूरी: बोम्मई

    क्या है बीजेपी का संकल्प?
    स्मृति ईरानी ने कहा, ‘मेरी पार्टी का संकल्प है कि 2024 में हर वो सीट, जहां पार्टी की ओर से विकास के काम हुए हैं, वहां कमल का फूल खिले. पांच लाख टॉयलेट मोदी-योगी की सरकार ने रायबरेली में बनाए, मतलब जहां गांधी परिवार का दबदबा 50 साल से है, वहां 15 लाख लोगों के पास शौचालय तक नहीं था. मां-बहन, बेटे का हिसाब मैं क्या करूंगी, जनता ही करेगी.’ उन्‍होंने कांग्रेस पर तंज कसते हुए कहा, ‘घर पर लड़का है, जो लड़ नहीं सकता है इसलिए प्रियंका गांधी ने नारा दिया कि लड़की हूं, लड़ सकती हूं.’

    गांधी परिवार ने जिस काम के लिए जमीन ली, वो नहीं हुआ
    स्मृति ईरानी ने कहा, ‘गांधी परिवार ने अमेठी में मेडिकल कॉलेज, लड़कियों के स्कूल और फैक्टरी के लिए ज़मीन लेकर अपने फ़ाउंडेशन के नाम कर दिया, लेकिन जिस काम के लिए ज़मीन ली वो काम नहीं हुआ.’

    Tags: News18india Chaupal, Smriti Irani

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर