आतंकी संगठन ISIS से जुड़े 17 आतंकियों के खिलाफ NIA ने चार्जशीट दायर की

आतंकी संगठन ISIS से जुड़े 17 आतंकियों के खिलाफ NIA ने चार्जशीट दायर की
ISIS से जुड़े एक मामले में NIA ने चार्जशीट दर्ज की है (सांकेतिक फोटो)

एनआईए (NIA) की टीम भारत के तमिलनाडु और कर्नाटक में अपना पांव पसार रहे आतंकी संगठन (Terrorist Organisation) अल हिंद आईएसआईएस (Al Hind ISIS) के मॉ़ड्यूल पर लगातार शिकंजा कस रही है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: July 13, 2020, 10:34 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. केन्द्रीय जांच एजेंसी एनआईए (NIA) ने आतंकी संगठन ISIS के कर्नाटक-तमिलनाडू मॉड्यूल मामले (Karnataka-Tamil Nadu Module Issue) पर कार्रवाई करते हुए एनआईए की विशेष कोर्ट (Special Court) में आरोपपत्र दायर किया है. इस आरोपपत्र की अगर बात करें तो इसमें महबुब पाशा और मोइदुद्दीन सहित कई आतंकियों (Terrorists) के बारे में आरोपों के बारे में जिक्र किया गया है. एनआईए ने इस मामले को दिल्ली (Delhi) स्थित मुख्यालय में दर्ज किया था. उसके बाद इस मामले में कर्नाटक (Karnataka), तमिलनाडु सहित कई लोकेशन पर इस मामले की तफ्तीश कर रही थी.

एनआईए (NIA) की टीम भारत के तमिलनाडु (Tamil Nadu) और कर्नाटक में अपना पांव पसार रहे आतंकी संगठन (Terrorist Organisation) अल हिंद आईएसआईएस (Al Hind ISIS) के मॉ़ड्यूल पर लगातार शिकंजा कस रही है. इसी के तहत 16 से ज्यादा आतंकियों (Terrorists) को एनआईए की टीम गिरफ्तार भी पहले कर चुकी है.

आतंकी संगठन और उसके तफ्तीश शुरू होने की कहानी?
एनआईए ने इस मामले में साल 2018 में एफआईआर दर्ज किया था. उसके बाद साल 2019 और 2020 में कई लोकेशन पर एनआईए की टीम ने छापेमारी भी की थी. इस मामले को दर्ज करने के पीछे एक महत्वपूर्ण कहानी है. दरअसल इस मामले में सबसे पहले एक्शन तमिलनाडु के कोयंबटूर पुलिस की एक स्पेशल जांच की टीम ने साल 2018 में एक कार्रवाई की थी, उस वक्त तमिलनाडु में एक आतंकी संगठन आईएस से प्रेरित एक इस्लामिक समूह ने सात संदिग्ध आतंकियों की एक बड़ी साजिश को नाकाम किया था. जिसमें एक हिन्दू मुन्नानी नेता-मूकंबिकाई मणि और शक्ति सेना के नेता अंबु मारी की हत्या की साजिश रची गई थी. उसके बाद से ही इस मामले में एनआईए की टीम एक्टिव हुई और मामला दर्ज करके तफ्तीश शुरू कर दी थी.
आतंकी संगठन आईएसएस से वास्ता रखने वाले तमाम आरोपियों का नाम इस प्रकार से है , जिसके बारे में आरोपपत्र में जिक्र है-



1. महबुब पाशा मोइनुद्दीन - बैंगलोर का रहने वाला
2. ख्वाजा मोइदीन - तमिलनाडु मूल का रहने वाला
3. अब्दुल समद - तमिलनाडु
4. वाई तौफीक - कन्याकुमारी, तमिलनाडु का रहने वाला
5. सैयद अली निवास - तमिलनाडु
6. जफर अली - तमिलनाडु
7. अब्दुल शमीम - तमिलडाडु
8. इमराम खान - कर्नाटक
9. मोहम्मद हनीफ खान - कर्नाटक
10. सलीम खान - बैंगलोर, कर्नाटक
11. हुसैन शरीफ - बैंगलोर, कर्नाटक
12. मोहम्मद मंसूर अली - बैंगलोर, कर्नाटक
13. एजाज पाशा - बैंगलोर, कर्नाटक
14. जैबुल्ला - बैंगलोर, कर्नाटक
15. सैयद फासीउर रहमान - बैंगलोर, कर्नाटक
16. मोहम्मद जैद - कोलार, कर्नाटक

सभी आरोपी युवा, औसत उम्र करीब 27 साल
इन आरोपियों की अगर बात करें तो ये सभी काफी युवा आरोपी है, जिसकी औसत उम्र करीब 27 साल से लेकर 35 साल के बीच में है, एनआईए द्वारा दायर आरोपपत्र में इस बात का भी जिक्र है की कैसे इन युवाओं का ब्रेनवास करके आतंकी गतिविधियों में शामिल करने के लिए ट्रेनिंग दी जा रही थी और उनलोगों को देश विरोधी गतिविधियों में शामिल करवाया जा रहा था. ये आरोपपत्र एनआईए ने बैंगलोर स्थित एनआईए के विशेष कोर्ट में दायर किया गया है.

आरोपपत्र में बैंगलोर स्थित अल हिंद के दफ्तर और महबुब पाशा के घर में होने वाली साजिशों के बारे में भी जिक्र है. जहां भारत के खिलाफ युवाओं को भड़काने का काम किया जाता था. इसके साथ ही वहां मेहबुब पाशा और खाजा मोईदीन के द्वारा युवाओं को IED सहित बम बनाने के लिए ट्रेनिग दी जाती थी. इसके साथ ही कैसे अपने आतंकी आकाओं के साथ संपर्क बनाने के लिए डार्क बेबसाइट का प्रयोग करना है, जिससे आपस में संपर्क बना रहे और आतंकी गतिविधियों से जुडे साहित्य और जानकारियां आपस में शेयर होती रहे. इसके साथ ही इन युवा आतंकियों को जंगल वार की भी आतंकी ट्रेनिंग दी गई थी.

यह भी पढ़ें: ले कर्नल सैन्य कर्मियों के सोशल मीडिया यूज पर रोक के खिलाफ अदालत पहुंचे

इसी आतंकी संगठन से जु़डे आतंकी अब्दुल मतीन अहमद ताहा के खिलाफ केन्द्रीय जांच एजेंसी एनआईए (NIA) ने पांच लाख रूपये इनाम की घोषणा की है. यानी जो भी इस आतंकी के बारे में जानकारी अगर जांच एजेसी को देगा उसका नाम गुप्त रखने के बाद पांच लाख रूपये का इनाम की राशि प्रदान की जाएगी. एनआईए के मुताबिक अब्दुल मतीन अहमद ताहा मूल रूप से कर्नाटक के शिमोगा जिला का रहने वाला है, जो पिछले काफी समय से फरार है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading