डीएसपी दविंदर सिंह केस: NIA ने गिरफ्तार किया एक और आरोपी जो आतंकियों को पहुंचाता था हथियार

डीएसपी दविंदर सिंह निलंबित हैं. (फाइल फोटो)
डीएसपी दविंदर सिंह निलंबित हैं. (फाइल फोटो)

बडगाम के रहने वाले तज़फुल हुसैन पिरामू (Tafazul Hussain Parimoo) पर आरोप है कि वो हिज्बुल मुजाहिदीन (Hizbul Mujahideen) के आतंकवादी नवीद बाबू को हथियारों की सप्लाई में अहम रोल अदा किया करता था.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 12, 2020, 11:09 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. राष्ट्रीय जांच एजेंसी (National Investigation Agency-NIA) ने जम्मू-कश्मीर पुलिस के निलंबित डीएसपी दविंदर सिंह (Davinder Singh) से जुड़े मामले में एक और आरोपी के गिरफ्तार किया है. बडगाम के रहने वाले तज़फुल हुसैन पिरामू पर आरोप है कि वो हिज्बुल मुजाहिदीन के आतंकवादी नवीद बाबू को हथियारों की सप्लाई में अहम रोल अदा किया करता था. दरअसल तज़फुल पहले तारिक मीर तक हथियार पहुंचवाता था और फिर उसके जरिए ये हथियार शोपियां के हिज्बुल आतंकियों तक पहुंचा करते थे.

डीएसपी दविंदर सिंह के साथ गिरफ्तार हुआ था नवीद बाबू
गौरतलब है कि हिज्बुल आतंकी नवीद बाबू को जम्मू-कश्मीर पुलिस के विवादित डीएसपी दविंदर सिंह के साथ गिरफ्तार किया गया था. दरअसल सिंह को दक्षिण कश्मीर में दो आतंकियों और उनके सहयोगी के साथ पकड़ा गया था. इनकी पहचान प्रतिबंधित संगठन हिजबुल मुजाहिदीन का स्वयंभू जिला कमांडर नवीद बाबू, उसके सहयोगी अल्ताफ अहमद और वकील इरफान अहमद मीर के तौर पर हुई थी. जांच में ये भी पता चला था कि वकील इरफान नवीद और अल्ताफ को डीएसपी के घर लेकर गया था.


डीएसपी दविंदर सिंह ने दो महीने तक नवीद को अपने अड्डे पर रखा था. दविंदर सिंह ने सुरक्षा एजेंसियों के समक्ष दावा किया है कि उनके साथ एक और अफसर शामिल था. हालांकि, सुरक्षा एजेंसियों का मानना है कि दविंदर सिंह उन्हें गुमराह कर रहे हैं. जानकारी के अनुसार, उनके अकाउंट से आखिरी ट्रांजैक्शन 30 डॉलर यानी 2,123.44 रुपये का था. जांच एजेंसियां इस आशय की जांच कर रही हैं कि दविंदर ने और कितने आतंकियों को अपने अड्डे पर पनाह दे रखी थी.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज