• Home
  • »
  • News
  • »
  • nation
  • »
  • NIA ने शुरू की जम्मू ड्रोन हमले की जांच, मोबाइल-इंटरनेट गतिविधियों की स्कैनिंग

NIA ने शुरू की जम्मू ड्रोन हमले की जांच, मोबाइल-इंटरनेट गतिविधियों की स्कैनिंग

जम्मू में सुरक्षा इंतजाम कड़े कर दिए गए हैं.

जम्मू में सुरक्षा इंतजाम कड़े कर दिए गए हैं.

राष्ट्रीय जांच एजेंसी (NIA) के सुपरिंटेंडेंट स्तर के अधिकारी पहले दिन से धमाके की साइट (site of the explosion) पर जाते रहे लेकिन अब आधिकारिक तौर पर जांच की शुरुआत हुई है. आज दिल्ली से जम्मू आईजी और डीआईजी रैंक के अधिकारी पहुंचे हैं.

  • Share this:
    नई दिल्ली. जम्मू में हुए ड्रोन हमले (Jammu Drone Attack) की जांच अपने हाथ में लेने के बाद NIA के बड़े अधिकारी बृहस्पतिवार को घटना स्थल पहुंचे. हालांकि एजेंसी के सुपरिंटेंडेंट स्तर के अधिकारी पहले दिन से धमाके की साइट पर जाते रहे, लेकिन अब आधिकारिक तौर पर जांच की शुरुआत हुई है. आज दिल्ली से जम्मू आईजी और डीआईजी रैंक के अधिकारी पहुंचे हैं.

    आतंकरोधी फोर्स NSG और सीआईएसएफ के प्रमुखों ने बुधवार को एयरफोर्स स्टेशन का निरीक्षण किया था. जांच अधिकारियों के मुताबिक अब तक षड्यंत्रकारियों के संबंध में कोई विशेष लीड नहीं हासिल हुई है. उनके मुताबिक ये एक लंबी जांच प्रक्रिया साबित हो सकती है. अधिकारियों के मुताबिक शुरुआत में धमाके के लिए मोर्टार के इस्तेमाल की आशंका थी लेकिन जांच के बाद ड्रोन के इस्तेमाल की बात सामने आई. एक्सप्लोसिव को 90 डिग्री एंगल पर इस्तेमाल किया गया है.

    मोबाइल टावर डेटा और इंटरेनट गतिविधियों की स्कैनिंग भी जा रही
    एक अधिकारी ने यह भी कहा कि ड्रोन को देश के भीतर से संचालित किए जाने की थ्योरी पर भी विचार किया जा रहा है. लेकिन इसकी संभावना बेहद कम है. लेकिन जांच प्रक्रिया के तौर पर मोबाइल टावर डेटा और इंटरेनट गतिविधियों की स्कैनिंग भी जा रही है.

    आर्मी चीफ ने भी बताया बड़ी चुनौती
    इस बीच बृहस्पतिवार को ही भारतीय थल सेना चीफ एमएम नरवणे ने कहा है कि ड्रोन की आसान उपलब्धता ने सुरक्षा बलों के सामने नई चुनौतियां खड़ी कर दी हैं. भारत में पहली बार सुरक्षा प्रतिष्ठान को निशाना बनाने के लिए ड्रोन का इस्तेमाल किया गया है. इस हमले को लेकर कई तरह की चिंताएं भी जाहिर की गई हैं.

    जारी है तैयारी
    अब आर्मी चीफ ने कहा, 'भविष्य में युद्ध के दौरान स्टेट और नॉन-स्टेट एक्टर्स की तरफ से ड्रोन का इस्तेमाल बढ़ेगा. हमें भविष्य के लिए इस बात को ध्यान में रखकर योजनाएं बनानी पड़ेंगी. हम ऐसी चुनौतियों से निपटने के लिए तैयारियां कर रहे हैं. हम ड्रोन के आक्रामक इस्तेमाल और खतरे को टालने के लिए एंटी ड्रोन तकनीक का इस्तेमाल कर रहे हैं.'

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज