NIA की चार्जशीट में दावा- ISI और जैश ने रची थी पुलवामा आतंकी हमले की साजिश

14 फरवरी को जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में बड़ा आतंकी हमला हुआ था जिसमें केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (CRPF) के 40 जवान शहीद हो गए थे.

Pulwama Attack पिछले साल 14 फरवरी को जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में बड़ा आतंकी हमला हुआ था जिसमें केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (CRPF) के 40 जवान शहीद हो गए थे. इस हमले में CRPF को काफिले को निशाना बनाया गया था.

  • Share this:
    नई दिल्ली. पुलवामा आतंकी हमले (Pulwama Attack ) को लेकर राष्ट्रीय जांच एजेंसी (NIA) चार्जशीट फाइल करने वाली है. इसमें कहा गया है कि पूरे हमले की योजना पाकिस्तान (Pakistan) ने बनाई थी. साथ ही आतंकियों को ट्रेनिंग भी पाकिस्तान में दी गई थी. ये चार्जशीट इस महीने के आखिर में फाइल की जाएगी. बता दें कि पिछले साल 14 फरवरी को जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में बड़ा आतंकी हमला हुआ था, जिसमें केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (CRPF) के 40 जवान शहीद हो गए थे. इस हमले में CRPF को काफिले को निशाना बनाया गया था.

    हमले में पाकिस्तान का हाथ
    चार्जशीट के मुताबिक इस हमले की योजना पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी आईएसआई और आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद ने बनाई थे. आतंकियों को ट्रेनिंग देने के बाद हमले के लिए भारत भेजा गया था. पाकिस्तान ने हमले के लिए एक स्थानीय युवक आदिल अहमद डार का इस्तेमाल किया. इसी शख्स ने सीआरपीएफ के काफिले पर विस्फोटक कार से हमला कर दिया. अंग्रेजी अखबार हिंदुस्तान टाइम्स के मुताबिक एक ऑफिसर ने नाम न बताने की शर्त पर बताया कि इस हमले में सीधे पाकिस्तान सरकार का हाथ था. इसको लेकर भारत के पास सारे ठोस सबूत हैं. इस हमले से पाकिस्तान का उद्देश भारत में अशांति फैलाना था.

    चार्जशीट में किसका नाम?
    आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद के फाउंडर मौलाना मसूद अजहर और उसका छोटा भाई, मुफ्ती अब्दुल रऊफ असगर एनआईए की चार्जशीट में मुख्य आरोपी है. बता दें कि पुलवामा हमले के बाद से अब तक जैश के सात आतंकियों को गिरफ्तार किया जा चुका है. इसमें, शाकिर बशीर मैगरी, मोहम्मद अब्बास, मोहम्मद इकबाल, वैज उल इस्लाम, इंशा जां, तारिक अहमद शाह और बिलाल अहमद शामिल हैं.

    कई आतंकी एनकाउंटर में ढेर
    पाकिस्तानी आतंकवादी मोहम्मद उमर फारूक के नाम, जिन्हें हमले को अंजाम देने के लिए भारत भेजा गया था, कामरान, JeM के एरिया कमांडर, मुदस्सिर खान और आदिल अहमद डार भी चार्जशीट में शामिल हैं. लेकिन आरोपियों के रूप में नहीं, क्योंकि वे मारे गए हैं. फारूक, कामरान, और मुदस्सिर खान मार्च 2019 में सुरक्षा बलों के साथ आग के अलग-अलग एनकाउंटर में मारा गया था. अखबार के मुताबिक गृह मंत्रालय ने अजहर और अन्य के खिलाफ एंटी-टेरर लॉ के तहत चार्जशीट दायर करने की अनुमति दे दी है.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.