अंसारुल्लाह आतंकी संगठन के खुलेंगे राज़, NIA तमिलनाडु में कर रही छापेमारी

एसपीपी ने कहा कि पकड़े गए 16 आरोपियों में से सात यूएई की जेल में बंद थे. उन्हें 12 जुलाई को भारत भेज दिया गया था.

News18Hindi
Updated: July 20, 2019, 12:39 PM IST
अंसारुल्लाह आतंकी संगठन के खुलेंगे राज़, NIA तमिलनाडु में कर रही छापेमारी
अंसारुल्लाह आतंकी समूह के 16 आरोपी NIA हिरासत में
News18Hindi
Updated: July 20, 2019, 12:39 PM IST
राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) ने शनिवार को तमिलनाडु के विभिन्न स्थानों पर 'अंसारुल्लाह' आतंकी मॉड्यूल का पता लगाने के लिए छापे मारे हैं. ये छापे चेन्नई, मदुरै, तिरुनेलवेली और रामनाथपुरम जिले में मारे जा रहे हैं. इससे पहले एनआईए की विशेष अदालत ने अंसारुल्लाह नाम से आतंकी संगठन चलाने वाले 16 आरोपियों को आठ दिन के लिए राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) की हिरासत में भेज दिया है. इस सभी लोगों पर आरोप है कि इन्होंने देश के अलग-अलग हिस्सों में हमले करने के लिए धन इकट्ठा किया था.

सभी आरोपियों की दस दिन की हिरासत की मांग करते हुए राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) ने विशेष जघन्य अभियोजक (एसपीपी) से कहा कि आरोपियों से धन के स्रोत, उसके प्रसारण और उपयोग के लिए हो रही साजिश का पता लगाना जरूरी हो गया है. एसपीपी ने कहा कि पकड़े गए 16 आरोपियों में से सात यूएई की जेल में बंद थे. उन्हें 12 जुलाई को भारत भेज दिया गया था लेकिन अगले ही दिन गिरफ्तार कर लिया गया.

इसे भी पढ़ें :- NIA ने तमिलनाडु में मारे छापे, भारत में हमले की फिराक में थे आतंकी

उन्होंने कहा कि यह गंभीर मामला है और हमारे देश की सुरक्षा से जुड़ा हुआ है. यह एक ऐसा मामला है, जिसकी किसी भी पुलिस एजेंसी द्वारा पहले जांच नहीं की गई है. इसलिए इन्हें हिरासत में लेना एक उचित जांच के लिए जरूरी है. उन्होंने कहा कि पकड़े गए आरोपियों ने एक समूह बनाया था, जिसे वहादत-ए-इस्लामी, जिहादी इस्लामिक यूनिट, जन्नत वहात-उल-इस्लाम-अल-जिहादिया और अंसारुल्लाह जैसे विभिन्न नामों से जाना जाता था. इस संगठन का मकसद हिंसा का सहारा लेकर भारत में इस्लामी शासन स्थापित करना था. यह संगठन आईएस और अल-कायदा का समर्थन भी करता है.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: July 20, 2019, 11:58 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...