Home /News /nation /

Nipah Virus: केरल में इस परिवार के लिए निपाह का मतलब 'मौत', अब भी डर के साये में गुजर रही जिंदगी

Nipah Virus: केरल में इस परिवार के लिए निपाह का मतलब 'मौत', अब भी डर के साये में गुजर रही जिंदगी

केरल के कोझीकोड में निपाह वायरस से 12 साल के बच्‍चे की मौत हो चुकी है.

केरल के कोझीकोड में निपाह वायरस से 12 साल के बच्‍चे की मौत हो चुकी है.

केरल (Kerala) एक बार फिर निपाह वायरस (Nipah Virus) के संक्रमण की चपेट में है और हाल में इस बीमारी से 12 वर्षीय एक लड़के की मौत हो गई. बच्चे के सीधे और परोक्ष रूप से संपर्क में आए 257 लोगों की सूची तैयार की गई है. इनमें से 141 स्वास्थ्यकर्मी हैं और उनमें से किसी में भी कोई गंभीर लक्षण नहीं हैं.

अधिक पढ़ें ...

    तिरुवनंतपुरम. तीन साल पहले जब सोशल मीडिया (Social Media) पर यह चर्चा होने लगी कि किसी घातक संक्रामक बीमारी (Infectious Disease) ने उनके ‘एक्का’ (बड़े भाई) की जान ले ली तो मोहम्मद मुथालिब ने अपने परिवार के बारे में ‘फर्जी खबर’ पर आक्रोश महसूस किया क्योंकि उन्होंने अपने जीवन में कभी भी निपाह बीमारी (Nipah Disease) के बारे में नहीं सुना था. जब तक 19 वर्षीय छात्र मुथालिब को इस संक्रामक बीमारी की गंभीरता का पता चलता तब तक यह वायरस उनके परिवार के चार सदस्यों की जान ले चुका था. इस आघात से मुथालिब और उनकी मां मरियम्मा को गहरा सदमा पहुंचा.

    केरल एक बार फिर निपाह वायरस के संक्रमण की चपेट में है और हाल में इस बीमारी से 12 वर्षीय एक लड़के की मौत हो गई. मुथालिब ने 2018 में अपने परिवार पर आई विपदा को याद करते हुए कहा कि यह रोग उनके परिवार के लिए मौत, डर और सामाजिक बहिष्कार का कारण बना. मुथालिब ने पीटीआई-भाषा से कहा, ऐसे कई लोग थे जो हमसे बात करने से डर रहे थे, घटना के एक साल गुजर जाने के बाद भी इस बीमारी ने हमारे परिवार को काफी प्रभावित किया. मैं किसी पर दोष नहीं मढ़ रहा. जिस डर और तनाव सब गुजरे होंगे, उन्हें मैं समझ सकता हूं.

    इसे भी पढ़ें :- Nipah Virus: निपाह पर AIIMS एक्सपर्ट ने चेताया- बिना धोए फल खाने की आदत बन सकती है जानलेवा

    उत्तरी कोझिकोड के गांव सूप्पीक्काडा के निवासी मुथालिब ने निपाह वायरस के संक्रमण के कारण अपने पिता, दो भाइयों और बुआ को खो दिया. केरल 2018 में पहली बार इस वायरस के संक्रमण से प्रभावित हुआ. संक्रमण से मरने वालों में शामिल, मुथालिब के भाइयों में से एक मोहम्मद साबिथ राज्य में निपाह से जान गंवाने वाले पहले व्यक्ति थे. हालांकि, शुरू में संक्रमण के कारण साबिथ की मौत के कारणों की पहचान नहीं हो पाई थी, लेकिन परिवार के एक अन्य युवक मोहम्मद सलीह की अचानक मौत ने डॉक्टरों के बीच संदेह पैदा कर दिया और नमूनों की जांच ने राज्य में वायरल संक्रमण की मौजूदगी की पुष्टि की. अस्पताल में भर्ती मुथालिब की बुआ मरियम ने भी बाद में निपाह के कारण दम तोड़ दिया.

    इसे भी पढ़ें :- Nipah Outbreak in Kerala: क्या है रामबूतान फल, जिसे माना जा रहा निपाह वायरस फैलाने की वजह

    डॉक्टरों ने शुरू में मुथालिब के 60 वर्षीय पिता मूसा मुसलियार की जान बच जाने को लेकर उम्मीद जताई थी, लेकिन बाद में उनकी हालत बिगड़ती गई और आखिरकार उन्होंने दम तोड़ दिया. परिवार की एक अन्य महिला सदस्य भी संक्रमित हो गई थीं, लेकिन एर्नाकुलम जिले के एक बड़े अस्पताल में ले जाने के बाद उनकी जान बच गई. मुथालिब ने कहा, उन दिनों मेरे परिवार को जो सदमा लगा था, उसे शब्दों में बयां नहीं किया जा सकता. पांच सदस्य इस वायरस से संक्रमित हुए थे और उनमें से चार की जान चली गई. पिछले हफ्ते कोझिकोड में 12 वर्षीय लड़के ने निपाह वायरस के संक्रमण से दम तोड़ दिया जिसके बाद केरल में फिर से इस घातक बीमारी की वापसी का संकेत मिला है. फिलहाल, बच्चे के सीधे और परोक्ष रूप से संपर्क में आए 257 लोगों की सूची तैयार की गई है. इनमें से 141 स्वास्थ्यकर्मी हैं और उनमें से किसी में भी कोई गंभीर लक्षण नहीं हैं.

    Tags: Kerala, Nipah virus

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर