Assembly Banner 2021

नीरव मोदी को भारत लाने में अभी कई पेच, हाईकोर्ट में कर सकता है अपील

यूके की कोर्ट ने कहा है कि नीरव मोदी का प्रत्यर्पण भारत को किया जा सकता है. (फाइल फोटो)

यूके की कोर्ट ने कहा है कि नीरव मोदी का प्रत्यर्पण भारत को किया जा सकता है. (फाइल फोटो)

लंदन की एक अदालत ने नीरव मोदी (Nirav Modi) की याचिका खारिज करते हुए उसके भारत प्रत्यर्पण (Extradition) को मंजूरी दे दी है. लेकिन ऐसा नहीं है कि नीरव मोदी के सामने सभी विकल्प बंद हो चुके हैं. अभी उसे भारत वापस लाने के रास्ते में कई पेच बाकी हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 25, 2021, 5:53 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. पीएनबी स्कैम (PNB Scam) के मुख्य आरोपी और भगोड़े व्यावसायी नीरव मोदी (Nirav Modi) के प्रत्यर्पण (Extradition) को लेकर आशाएं मजबूत हुई हैं. दरअसल लंदन की एक अदालत ने नीरव मोदी की याचिका खारिज करते हुए उसके भारत प्रत्यर्पण को मंजूरी दे दी है. जज ने कहा है कि नीरव मोदी को भारत में कई सवालों के जवाब देने हैं. भारत में उसे दोषी करार दिए जाने की बड़ी संभावनाएं हैं.

इसके अलावा कोर्ट ने यह भी कहा कि भारत में नीरव मोदी के साथ न्याय न होने की बात के पीछे कोई आधार नहीं है. कोर्ट ने कहा कि भारत की न्यायपालिका निष्पक्ष है. दरअसल नीरव मोदी अपनी मानसिक सेहत का बहाना लेकर प्रत्यर्पण से बचना चाह रहा था. लेकिन ऐसा नहीं है कि नीरव मोदी के सामने सभी विकल्प बंद हो चुके हैं. अभी उसे भारत वापस लाने के रास्ते में कई पेच बाकी हैं.

गृह मंत्री प्रीति पटेल के पास भेजा जाएगा आदेश
मजिस्ट्रेट अदालत के फैसले के बाद आदेश मंजूरी के लिए ब्रिटेन की गृह मंत्री प्रीति पटेल के कार्यालय भेजा जाएगा. प्रीति पटेल के पास दो महीने का वक्त होगा, ये फैसला करने के लिए कि वह नीरव मोदी के प्रत्यर्पण को मंजूरी देती हैं या फिर अनुरोध पर रोक लगाती हैं. इसके अलावा नीरव निचली अदालत के फैसले के खिलाफ अपील करने के लिए मंजूरी हेतु हाईकोर्ट जा सकता है. अगर उसकी अपील मान ली जाती है तो वह हाईकोर्ट में केस लड़ेगा.
ब्रिटेन में शरण के लिए आवेदन दाखिल कर सकता है


हालांकि अगर हाईकोर्ट भी नीरव के प्रत्यर्पण पर मंजूरी देता है, तो भी नीरव मोदी के पास ये विकल्प है कि वह ब्रिटेन में शरण के लिए आवेदन दाखिल कर सकता है. बिल्कुल वैसे ही जैसे भगोड़े कारोबारी विजय माल्या ने किया था. ब्रिटेन उसके आवेदन पर विचार करने के लिए जितना भी समय लेगा, उससे उसके भारत प्रत्यर्पण का मामला एक बार फिर अधर में अटक सकता है.

क्या है मामला
जांच एजेंसियों के मुताबिक नीरव मोदी और उसके मामा मेहुल चोकसी ने कुछ बैंक अधिकारियों के साथ मिलकर पंजाब नेशनल बैंक में 14,000 करोड़ रुपये की धोखाधड़ी की. यह धोखाधड़ी गारंटी पत्र के जरिये की गई.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज