Home /News /nation /

क्या भारत लाया जाएगा नीरव मोदी? प्रत्यर्पण के खिलाफ 14 दिसंबर को होगी सुनवाई

क्या भारत लाया जाएगा नीरव मोदी? प्रत्यर्पण के खिलाफ 14 दिसंबर को होगी सुनवाई

नीरव मोदी की फाइल फोटो...(File pic)

नीरव मोदी की फाइल फोटो...(File pic)

PNB Scam Case: मार्च 2019 में गिरफ्तारी के बाद से दक्षिण-पश्चिम लंदन के वैंड्सवर्थ जेल में सलाखों के पीछे रहने वाले 50 वर्षीय जौहरी मोदी को मानसिक स्वास्थ्य और मानवाधिकारों के आधार पर वेस्टमिंस्टर मजिस्ट्रेट कोर्ट के प्रत्यर्पण आदेश के खिलाफ अपील करने की अनुमति दी गई थी.

अधिक पढ़ें ...

    लंदन. दो अरब डॉलर के पंजाब नेशनल बैंक (पीएनबी) घोटाला मामले में धोखाधड़ी और धनशोधन के आरोपी और भारत में वांछित भगोड़े हीरा कारोबारी ने ब्रिटेन से अपने प्रत्यर्पण के खिलाफ अपील दाखिल की है, जिस पर 14 दिसंबर को लंदन के उच्च न्यायालय में सुनवाई होगी. मार्च 2019 में गिरफ्तारी के बाद से दक्षिण-पश्चिम लंदन के वैंड्सवर्थ जेल में सलाखों के पीछे रहने वाले 50 वर्षीय जौहरी मोदी को मानसिक स्वास्थ्य और मानवाधिकारों के आधार पर वेस्टमिंस्टर मजिस्ट्रेट कोर्ट के प्रत्यर्पण आदेश के खिलाफ अपील करने की अनुमति दी गई थी.

    उच्च न्यायालय के न्यायाधीश मार्टिन चेम्बरलेन ने 9 अगस्त को फैसला सुनाया था कि मोदी की कानूनी टीम द्वारा मोदी के ‘गंभीर अवसाद’ और आत्महत्या के उच्च जोखिम के संबंध में प्रस्तुत तर्क सुनवाई के लिये पर्याप्त हैं. उच्च न्यायालय के एक अधिकारी ने कहा, ”इस मामले पर 14 दिसंबर को सुनवाई होगी.

    क्या है मामला?
    नीरव मोदी को दिसंबर 2019 में भगौड़ा आर्थिक अपराधी घोषित किया गया था जबकि उसके रिश्तेदार मेहुल चोकसी पर पीएनबी के साथ 14,000 करोड़ रुपये की कर्ज की धोखाधड़ी करने का आरोप है. प्रवर्तन निदेशालय ने इन दोनों की कई संपत्तियों को जब्त किया है. नीरव मोदी वर्तमान में ब्रिटेन की जेल में है और भारत में प्रत्यर्पण के मुकदमे का सामना कर रहा है.
    इससे पहले नीरव मोदी को अमेरिका के न्‍यूयॉर्क की कोर्ट ने नीरव मोदी और उसके सहयोगियों की ओर से धोखाधड़ी के आरोप खारिज करने को लेकर दायर की गई याचिका नामंजूर कर दी है. भगोड़े कारोबारी नीरव मोदी पर ये आरोप कोर्ट की ओर से तीन अमेरिकी कॉरपोरेशन फायरस्टार डायमंड, फैंटेसी इंक और ए जाफ के ट्रस्टी के रूप में नियुक्त किए गए रिचर्ड लेविन की ओर से लगाए गए थे. ये तीनों कॉरपोरेशन पहले नीरव मोदी के स्वामित्व में थे. लेविन ने नीरव मोदी और उसके सहयोगियों मिहिर भंसाली और अजय गांधी के कर्जदारों को हुए नुकसान के एवज में न्यूनतम 1.5 मिलियन डॉलर का मुआवजा भी मांगा था.

    Tags: Extradition of Nirav Modi, Nirav Modi

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर