सजा से बचने के लिए नीरव मोदी ने कोर्ट के सामने रखी ये बात

मुंबई की सिटी सिविल एंड सेशंस कोर्ट में सोमवार को इस मामले की सुनवाई होनी थी. मामले की अगली सुनाई 25 जून को निर्धारित की गई है.

News18Hindi
Updated: June 17, 2019, 2:24 PM IST
सजा से बचने के लिए नीरव मोदी ने कोर्ट के सामने रखी ये बात
सजा से बचने के लिए नीरव मोदी ने कोर्ट के सामने रखी ये बात
News18Hindi
Updated: June 17, 2019, 2:24 PM IST
पंजाब नेशनल बैंक (पीएनबी) घोटाले के आरोपी और मनी लॉन्ड्रिंग केस के भगोड़ा साबित किए जा चुके हीरा कारोबारी नीरव मोदी ने सजा से बचने के लिए अब कोर्ट के सामने नया दांव खेला है. नीरव मोदी के वकील ने कोर्ट से कहा है कि वह इस मामले की सुनवाई नहीं कर सकता है. वकील ने तर्क दिया है कि नीरव मोदी पर लगे आरोप की सुनवाई धन शोधन निवारण अधिनियम और भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम के तहत नामित अदालत द्वारा ही सुना जा सकता है. गौरतलब है कि मुंबई की सिटी सिविल एंड सेशंस कोर्ट में सोमवार को इस मामले की सुनवाई होनी थी.

मामले की सुनवाई करते हुए अदालत ने नीरव मोदी के वकील द्वारा दायर किए गए आवेदन पर नोटिस जारी किया है और अब आवेदन पर जवाब और सुनवाई के लिए मामले को 25 जून तक के लिए स्थगित कर दिया है.

बता दें कि भारत के सरकारी बैंकों से करोड़ों रुपये की धोखाधड़ी करके लंदन भागे हीरा कारोबारी नीरव मोदी पर वहां भी शिकंजा कसता दिख रहा है. लंदन की वेस्टमिंस्टर कोर्ट ने नीरव मोदी की जमानत याचिका चौथी बार खारिज कर दी है. ऐसे में उसे अभी लंदन की जेल में और दिन गुजरना होगा.

इसे भी पढ़ें :- लंदन की जेल में ही रहेगा नीरव मोदी, अदालत ने चौथी बार ठुकराई जमानत याचिका

नीरव मोदी कई बैंकों को 13 हजार करोड़ रुपये का चूना लगाकर पिछले करीब 15 महीने से फरार है. नीरव मोदी की साजिश की वजह से पीएनबी बैंक की आर्थिक रफ्तार रुक गई थी. शेयर लुढ़क कर जमीन पर पहुंच गया था. मामले का खुलासे होते ही हड़कंप मच गया था. इस बीच नीरव मोदी देश छोड़कर फरार हो गया. लेकिन तभी से भारत सरकार नीरव मोदी स्वदेश लाने की कोशिश में जुट गई थी. नीरव मोदी की लंदन में गिरफ्तारी हुई थी.

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएंगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: June 17, 2019, 2:09 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...